Intermittent fasting ke fayde: क्‍या है इंटरमिटेंट फास्टिंग, वजन कम करने के साथ और भी हैं इसके बड़े फायदे

हेल्थ
मेधा चावला
Updated Sep 17, 2020 | 09:08 IST

Intermittent fasting plan and benefits : इंटरमिटेंट उपवास को वजन घटाने का एक कारगर तरीका माना जा रहा है। वैसे इसके और भी फायदे ग‍िनाए जा रहे हैं। जानें इस बारे में व‍िस्‍तार से।

Intermittent fasting plan and benefits
Intermittent fasting plan and benefits, इंटरमिटेंट फास्टिंग कैसे करते हैं और क्‍या हैं इसके फायदे  |  तस्वीर साभार: Shutterstock

मुख्य बातें

  • इंटरमिटेंट फास्टिंग में द‍िन में कम से कम 12 घंटे का उपवास रखा जाता है
  • फ‍िलहाल इसको वजन घटाने का अच्‍छा तरीका माना जा रहा है
  • इंटरमिटेंट फास्टिंग के सेहत से जुड़े और भी फायदे बताए जा रहे हैं

इंटरमिटेंट फास्टिंग का अर्थ होता है रुक-रुक कर उपवास करना। इसको लेकर हुई कुछ र‍िसर्च में पता चला है कि intermittent fasting हमारी सेहत के लिए बहुत लाभदायक है। वजन कम करने के अलावा इंटरमिटेंट फास्टिंग के कुछ ऐसे भी फायदे हैं ज‍िनके चलते आप भी इस तेजी से पॉपुलर हो रहे डाइट प्‍लान को फॉलो करने की सोच सकते हैं। 

यहां जानें इंटरमिटेंट फास्टिंग के बड़े फायदे 

  1. मधुमेह से बचाता है : मधुमेह धीरे-धीरे पूरी दुनिया में अपने पांव पसारता जा रहा है। मधुमेह पूरी दुनिया में लगभग 463 मिलियन वयस्कों 1.1 मिलियन बच्चों व किशोरों और लगभग 20 मिलि‍यन जन्म लेने वाले बच्चों को प्रभावित करता है। मधुमेह आपको तब होता है जब आपका शरीर इंसुलिन बनाने में नाकाम हो जाता है। Intermittent fasting आपके शरीर में इंसुलिन बनाने की क्षमता को बढ़ाता है। टाइप 2 मधुमेह से पीड़ित व्यक्तियों को सप्ताह में तकरीबन तीन बार उपवास करना चाहिए। अगर आप मधुमेह से पीड़ित हैं तो आपको अपने डॉक्टर से बात करके intermittent fasting का सहारा लेना चाहिए।
    Dos and don'ts for Diabetics - Times of India
  2. द‍िल की सेहत का रखे ध्‍यान : हृदय रोग के मरीजों की संख्‍या तेजी से बढ़ रही है। खराब आहार और असंतुलित जीवन शैली हृदय स्वास्थ्य के खराब होने का मुख्य कारण है। इंटरमिटेंट उपवास आपके लिए हृदय रोगों के जोखिम को कम करता है। इंटरमिटेंट फास्टिंग आपके शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। पेट की चर्बी को कम करता है, लेप्टिन हार्मोंस को स्थिर करता है और ब्लड लिपिड प्रोफाइल को सुधारता है। अमेरिकन जर्नल ऑफ कार्डियोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चलता है कि, जो लोग इंटरमिटेंट फास्टिंग करते हैं उनके अंदर हृदय संबंधी सुधार बहुत तेजी से होता है।
  3. ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है : ऑक्सीडेटिव तनाव आपके शरीर में तब उत्पन्न होता है जब आपके शरीर के अंदर हानिकारक मुक्त ऑक्सीजन रेडिकल्स का निर्माण होने लगता है। यह आपके शरीर में मृत कोशिकाओं, पॉल्‍यूटेंट्स और रेडिएशन के कारण होता है। एंटी ऑक्सीडेंट एंजाइम, जैसे सुपरऑक्साइड डिसम्यूटेज, कैटैलेज और ग्लूटाथियोन ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद करते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार इंटरमिटेंट फास्टिंग मोटापे से ग्रसित लोगों में एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम के स्तर को बढ़ाता है।
  4. कैंसर का खतरा कम हो सकता है : दुनिया में हो रही मौतों का दूसरा प्रमुख कारण कैंसर है। ज्यादातर मामलों में कीमोथेरेपी, सर्जरी और नोबेल स्ट्रैटेजिस कैंसर को रोकने में मदद करते हैं। लेकिन एक नए निष्कर्ष से पता चला है कि आपके शरीर में कैलोरी की मात्रा कम किए बिना इंटरमिटेंट उपवास कैंसर के इलाज और रोकथाम की संभावित रणनीति बना सकते हैं। Intermittent fasting आपके शरीर में कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने और पनपने से रोकता है। एक अध्ययन से पता चलता है कि रात में उपवास करने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर होने का खतरा कम होता है। वहीं एक शोध में इंटरमिटेंट फास्टिंग को कीमोथेरेपी से बेहतर बताया गया है। Intermittent fasting आपके शरीर के अंदर से मृत कोशिकाओं को साफ करने में मदद करता है। यह ट्यूमर कोशिकाओं को कम करने, रेडियो और कीमोथेरेपी के प्रभावशालीता को बढ़ाने में मदद करता है।
  5. ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है : इंटरमिटेंट फास्टिंग आपके शरीर में हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में काफी मदद करता है। 46 से 62 वर्ष की महिलाओं में सिस्टोलिक डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर की संभावनाएं बनी रहती हैं। हालांकि अगर आप नियमित रूप से intermittent fasting करती हैं तो वह आपके अंदर ब्लड प्रेशर होने की संभावना को कम कर देता है। आंतरायिक उपवास प्री-डायबिटीज से ग्रसित पुरुषों में लो-ब्लड प्रेशर की संभावना को कम करने में भी मदद करता है।
    Top 10 causes of low blood pressure - Times of India
  6. अल्जाइमर जैसी गंभीर बीमारी से बचाने में सक्षम : इंटरमिटेंट फास्टिंग से अल्जाइमर जैसी गंभीर बीमारी का खतरा कम होता है। अल्जाइमर एक न्यूरोडीजेनरेटिव बीमारी है जिसमें आपके दिमाग की शक्ति कमजोर हो जाती है। Intermittent fasting आपके दिमाग की शक्ति को पुनः व्यवस्थित करने और बुद्धि क्षमता को बढ़ाने में काफी मदद करती है। दवा और एक्सरसाइज के साथ-साथ इंटरमिटेंट फास्टिंग आपको अल्जाइमर से छुटकारा दिलाने में एक कारगर तरीका साबित हो सकता है।
  7. शरीर की सूजन को कम करता है : सूजन है हीलिंग का पहला कदम है। लेकिन अगर आपके शरीर में सूजन काफी समय से है तो वह मोटापा, मधुमेह, कैंसर, गठिया, हृदय रोग, स्ट्रोक जैसी समस्याओं को बढ़ा सकता है। इंटरमिटेंट फास्टिंग आपके शरीर में एडिपोनेक्टिन को बढ़ाता है, यह एक हार्मोन है जो आपके शरीर में सूजन को कम करता है।
  8. इंटरमिटेंट फास्टिंग ऑटोफैगी को बढ़ावा देता है : ऑटोफैगी एक प्रक्रिया होती है जिससे आपके शरीर के अंदर के क्षतिग्रस्त कोशिकाओं, एक्स्ट्रा प्रोटीन और ऑर्गेनेल को हटाने का काम होता है। यह टॉक्सिन बिल्ड-अप और डीएनए क्षति को भी ठीक करता है। ऑटोफैगी के कमजोर होने से डीएनए अस्थिरता, सूजन और बीमारियां होती हैं।
  9. पेट की चर्बी को कम करने में मदद करता है : इंटरमिटेंट फास्टिंग वजन कम करने के लिए काफी लोकप्रिय वैज्ञानिक तरीका है। यह एलडीएल कोलेस्ट्रॉल और बीएमआई को कम करता है, साथ ही साथ पेट की चर्बी को भी कम करने में भी मदद करता है। मोटापे से ग्रसित लोगों पर एक अध्ययन या पुष्टि करता है कि intermittent fasting मोटापे के साथ-साथ आपके पेट की अधिक चर्बी को भी कम करता है।
    Weight loss: Where do people lose weight first? | The Times of India
  10. अच्छी नींद दिलाने में कारगर : हमारे शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए एक अच्छी नींद का होना बेहद जरूरी भी है। एक शोध में पाया गया है कि इंटरमिटेंट फास्टिंग कई बीमारियों के खतरे को बढ़ने से तो रोकता ही है साथ ही साथ यह आपको एक अच्छी नींद दिलाने में भी मदद करता है।
  11. मांसपेशियों को बनाए रखने में मदद करता है : 30 साल की उम्र के बाद मांसपेशियों को नुकसान पहुंचने लगता है। हर साल मांसपेशियों का 1 % हिस्सा आपके शरीर से कम होता जाता है। मांस पेशियों में माइट्रोकांड्रिया आपके मेटाबॉलिक के हेल्थ को बनाए रखने में मदद करता है। जब आपके मांस पेशियों को हानि पहुंचता है तब वह आपके मेटाबॉलिक सिस्टम को कमजोर कर देते हैं जिससे आप उम्र के साथ-साथ मोटापे की ओर बढ़ते जाते हैं। लेकिन इंटरमिटेंट फास्टिंग आपकी कमजोर मांस पेशियों को संरक्षित करने में मदद करता है। हालांकि आपको आंतरायिक उपवास के साथ-साथ एक्सरसाइज करने की भी सलाह दी जाती है।
  12. आपकी उम्र सीमा बढ़ा सकता है : इंटरमिटेंट उपवास आपको दीर्घायु बना सकता है। Intermittent fasting एक वैज्ञानिक प्रक्रिया ऑटोफैगी को प्रेरित करता है। जो उम्र सीमा को बढ़ाने में प्रयोग किया जाता है। इस प्रक्रिया से आपके शरीर के अंदर मौजूद कई रोगों से आपको छुटकारा मिल जाता है। जिसमें सूजन, ब्लड प्रेशर, कैंसर, अल्जाइमर, डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारियां शामिल हैं।

वैसे तो Intermittent fasting के कई फायदे हैं। लेक‍िन इसकी शुरुआत करने आपको चिकित्सक से बात करके लेनी चाहिए और उनसे पूछना चाहिए कि एक हफ्ते में क‍ितने द‍िन आप इस डाइट को फॉलो कर सकते हैं। 

अगली खबर