शुगर से पीड़ित महिलाओं को करवा चौथ व्रत के दौरान इन बातों का रखना चाहिए विशेष ध्यान

किसी भी शुगर पेशेंट के लिए उपवास रखना खतरनाक साबित हो सकता है, क्योंकि उपवास के कारण अपके शरीर का शुगर लेवल गिर सकता है। इसलिए करवा चौथ व्रत के दौरान शुगर से पीड़ीत मरीज इन बातों को विशेष ध्यान रखें।

SUGER
जो महिलाएं मधुमेह यानी शुगर से पीड़ित हैं उनको इस व्रत के दौरान कुछ खास उपायों को जरूर अपनाना चाहिए 

भारतीय संस्कृति में करवा चौथ त्योहार से महिलाएं भावनात्मक रूप से जुड़ी होती हैं। इसलिए हर शादी शुदा महिला करवा चौथ का व्रत करना चाहती है क्योंकि उसको लगता है कि इस व्रत से उसके पति की आयु बढ़ेगी। करवा चौथ का उपवास कुछ सबसे कठिन उपवासों में से एक होता है। इस दौरान महिलाएं पूरे दिन बिना खाए पिए निर्जला व्रत रखती हैं और रात को चांद देख कर ही अपने पति के हाथों से यह व्रत तोड़ती हैं। यह व्रत शुरू होता है सूरज उगने से पहले सरगी खा कर उसके बाद महिलाएं पूरे दिन ना कुछ खाती हैं ना कुछ पीती हैं। इसलिए जो महिलाएं मधुमेह यानी शुगर से पीड़ित हैं उनको इस व्रत के दौरान कुछ खास उपायों को जरूर अपनाना चाहिए।

शुगर से पीड़ित महिलाओं को व्रत करना चाहिए?

अगर आप शुगर से पीड़ित हैं तो आपको किसी डॉक्टर की सलाह पर ही व्रत रखना चाहिए। हालांकि, अगर आप कुछ सावधानियों को ले कर चलें तो यह व्रत आसानी से पूरा कर सकती हैं। नीचे दिए गए इन सावधानियों को ध्यान से पढ़ें और व्रत के दौरान इनका पालन करें।

1.व्रत करने से पहले हेल्दी भोजन जरूर करें जो प्रोटीन और पोषक तत्वों से भरपूर हो। आपको दिन भर भूखे रहना होगा इसलिए इस दिन सरगी में ऐसा भोजन करें जिसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक हो।

2.अपने डॉक्टर से बात करें और अपने हेल्थ कंडीशन के अनुसार अपने आहार की योजना बनाएं। आपको अपने डॉक्टर की सलाह से ही व्रत करना या नहीं करना चाहिए। एमरजेंसी के दौरान तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें।

3.व्रत के दौरान अपने शुगर लेवल की जांच समय-समय पर करते रहें। अगर आप भोजन छोड़ रहे हैं तो आपके शुगर लेवल पर ध्यान रखना आवश्यक है। 

4. हमारी सलाह होगी की आप लोगों को व्रत के समय पानी पीते रहना चाहिए। खास तौर से उन महिलाओं को जो शुगर से ग्रसित हैं। निर्जला व्रत आपके शुगर लेवल को खराब कर सकता है।

5.व्रत तोड़ते समय भारी भोजन न करें बल्कि कुछ हल्का-फुल्का खाएं। व्रत तोड़ते वक्त इलेक्ट्रोलाइट युक्त तरल पदार्थों का सेवन जरूर करें। यह आपके शरीर में ताकत वापस लाने में काफी सहायक साबित होगा।

6. इस दुनिया में कुछ भी आपके स्वास्थ से ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं हो सकता। यदि आपका हेल्थ ठीक नहीं है तो यह व्रत बिल्कुल न रखें, लेकिन अगर आप फिर भी रखना चाहती हैं तो वहीं तक रखें जहां तक संभव हो, अपने शरीर के साथ जबरदस्ती बिल्कुल भी न करें।

अगर आपका शरीर जवाब देने लगे तो आप बीच में भी अपना उपवास तोड़ सकती हैं। क्योंकि सबसे ऊपर स्वास्थ है, जब आप सुरक्षित और स्वस्थ रहेंगी तभी अपने परिवार का ख्याल रख पाएंगी।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर