फॉरेंसिक एक्सपर्ट का दावा- छह घंटे बाद नहीं मिलता शरीर में जहर, 10 घंटे बाद हुआ था सुशांत का पोस्टमॉर्टम

Sushant Singh Rajput Investigation Exclusive: सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या पर एक बड़ा खुलासा हुआ है। फॉरेंसिक एक्सपर्ट के मुताबिक शरीर में छह घंटे बाद जहर नहीं मिलता। सुशांत केपोस्टमॉर्टम में हुई देरी।

Sushant Singh Rajput
Sushant Singh Rajput 

मुख्य बातें

  • सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में बड़ा खुलासा हुआ है।
  • फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने बताया कि मौत के छह घंटे बाद शरीर में विषैला पदार्थ नहीं मिलता।
  • सुशांत सिंह राजपूत का पोस्टमॉर्टम 10 घंटे के बाद हुआ था।

मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की सीबीआई जांच कर रही है। वहीं, सुशांत की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट की जांच के लिए सीबीआई के कहने पर एम्स ने फॉरेंसिक विशेषज्ञों के पांच सदस्यीय मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है। अब सुशांत की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को लेकर खुलासा किया है। 

Times Now के महाराष्ट्र के टॉप फोरेंसिक डॉक्टर ने बताया कि शरीर में विषैला पदार्थ केवल छह घंटे तक ही रहता है। वहीं, सुशांत सिंह राजपूत की ऑटोप्सी 10 घंटे बाद हुई थी। ऐसे में शरीर में ड्रग्स वगैरह मिलने का सवाल नहीं उठता। 

फॉरेंसिक एक्सपर्ट से पूछा कि सुशांत को शराब का एडिक्शन था। क्या उनके शरीर में कुछ मिला। इस पर उन्होंने कहा- यदि शराब पीने के दो घंटे के अंदर सैंपल लिया है तो रिजल्ट आएगा। अगर छह घंटे बाद किया तो कुछ नहीं मिलेगा।

एम्स के फॉरेंसिक डॉक्टर ने उठाए सवाल
एम्स के फॉरेंसिक एक्सपर्ट सुधीर गुप्ता ने कहा था कि- 'ऑटोप्सी रिपोर्ट में मौत का वक्त नहीं लिखा है। ये एक बड़ी गलती है ऐसे में किसी घालमेल की आशंका है। पुलिस को डॉक्टर से पूछना चाहिए था कि वक्त क्यों नहीं लिखा है।' सुशांत सिंह राजपूत की ऑटोप्सी रिपोर्ट पर उनके फैमिली वकील ने कई सवाल उठाए थे। 

सुशांत के फैमिली वकील विकास सिंह ने कहा था कि- ' पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सुशांत की मौत का वक्त नहीं लिखा था। मौत के वक्त से पता चल सकता है कि क्या उसे मारे जाने के बाद फांसी दी गई या उसकी मौत फांसी से हुई थी। किसी ने नहीं देखा कि सुशांत का शव लटका हुआ है। 

सुधीर गुप्ता करेंगे लीड
एम्स के फॉरेंसिक विशेषज्ञों के पांच सदस्यीय मेडिकल बोर्ड को फॉरेंसिक डिपार्टमेंट के चीफ सुधीर गुप्ता लीड करेंगे। सीबीआई ने एक खत के जरिए कहा कि वह फोरेंसिक विशेषज्ञों की टीम को जल्द से जल्द जरूरी मेडिकल पेपर, पोस्टमार्टम रिपोर्ट, वीडियोग्राफ और विसरा रिपोर्ट उपलब्ध कराएगी।

सुधीर गुप्ता ने कहा-'हम हत्या की संभावना पर गौर करेंगे। टीम सुशांत के शरीर पर चोट के पैटर्न का मूल्यांकन करेगी और इसे सबूतों के साथ को-रिलेट करेगी। संरक्षित विसरा की भी जांच की जाएगी और उन्हें दी जाने वाली एंटी डिप्रेशन दवाइयों का भी एम्स की लैब में विश्लेषण किया जाएगा।'
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर