धंसा हुआ था सुशांत के गले का पार्ट, मुर्दाघर में रिया ने बॉडी पर हाथ रखकर कहा था- सॉरी बाबू: चश्मदीद

देश
किशोर जोशी
Updated Aug 22, 2020 | 11:41 IST

सुशांत सिंह राजपूत केस में रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं। इसी बीच सामने आया कि 15 जून को रिया चक्रवर्ती को मुर्दाघर गई थीं और उन्होंने सुशांत के शव को देखकर माफी मांगी थी।

Surjeet Rathore says I went inside the morgue with Rhea she kept her hand on Sushant's chest & said sorry babu
'धंसा हुआ था सुशांत के गले का हिस्सा,रिया बोली थी सॉरी बाबू' 

मुख्य बातें

  • सुशांत सिंह राजपूत केस में हर रोज हो रहे हैं नए-नए खुलासे
  • कर्णी सेना के सुरजीत सिंह बोले- मैंने ही मुर्दाघर में दिखाई थी रिया को सुशांत की बॉडी
  • सुशांत सिंह के सीने पर हाथ रखकर रिया चक्रवर्ती ने माफी थी मांगी- सुरजीत सिंह

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई ने अपनी तफ्तीश शुरू कर दी है। इस मामले को लेकर हर रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। अब खबर सामने आ रही है कि सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती शव को देखने मुर्दाघर में गई थी और वहां सुशांत का शव देखकर रिया ने माफी मांगी थी। खुद को कर्णी सेना का बताने वाले सुरजीत सिंह ने दावा किया है कि वहीं 15 जून को रिया को लेकर कूपर अस्पताल में गया था औऱ रिया को सुशांत की बॉडी दिखाई थी।

सुशांत के सीने को टच कर रिया ने कहा था- सॉरी बाबू
टाइम्स नाउ से बात करते हुए सुरजीत सिंह ने कहा, 'सूरज ने मुझे कहा कि रिया चक्रवर्ती यहां आना चाहती है, तो मैंने कहा कि भेज दीजिए। ये मैं भी जानता हूं कि ब्लड रिलेशन के अलावा किसी को अंदर जाने की अनुमति नहीं होती है। मैं औऱ रिया मोर्चरी के अंदर गए थे। मुझे तो देखना था तो मैंने सुशांत की बॉडी से पर्दा हटाया, मैंने उसके गले पर हाथ लगाय, गले का पार्ट धंसा हुआ है। उसी समय मुझे लगा कि सुशांत के साथ कुछ गलत हुआ है, इसने आत्महत्या नहीं की है इसकी हत्या हुई है। उसी समय रिया चक्रवर्ती ने बॉडी (चेस्ट) पर हाथ लगाया औऱ बोली- 'सॉरी बाबू।'

मोर्चरी में किसी को नहीं होती है जाने की अनुमति

इससे पहले शुक्रवार को कूपर अस्पताल की मोर्चरी में पहुंचे टाइम्स नाउ को अस्पताल के एक स्टाफ ने बताया, 'हम बॉडी को किसी को भी नहीं दिखाते हैं यहां तक कि परिवार वालों को भी। अगर साथ में पुलिस साथ में है तो फिर बॉडी दिखाने की अनुमति दे सकते हैं। मॉर्चेरी के स्टाफ ने साफ कहा कि अगर कोई आरोप हैं तो पुलिस साथ में होगी तो  तभी इसकी अनुमति होती है।'

तमाम सवालों के जवाब हैं अनुत्तरित

 ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर रिया को किस आधार पर मोर्चरी में जाने की अनुमति मिली वो भी पूरे 45 मिनट तक? 15 जून को सूरज ठाकुर और एक अन्य शख्स के साथ रिया चक्रवती मोर्चरी में जाती हैं और वहां  शव को देखने तथा 45 मिनट तक रहने के बाद वो वापस आथी है। टाइम्स नाउ के पास इसके फुटेज हैं। इससे साफ है कि कोई एक ऐसा शख्स था जिसने कूपर अस्पताल पर दवाब बनाया कि रिया को मोर्चरी में जाने की अनुमति मिले। तो ऐसे में यह सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर वो कौन था जिसने रिया के लिए कूपर अस्पताल में जाने के इंतजाम किया वो भी तब जब नियम इतने सख्त हैं, खासकर कोविड के चलते।

कूपर अस्पताल में रिया के साथ सूरज ठाकुर के अलावा एक सुरजीत नाम का शख्स था। जब टाइम्स नाउ ने सूरज से बात की तो उसने यह कहते हुए फोन काट दिया कि उसके सुशांत के साथ अलग रिश्ते थे। अब यह सवाल उठ रहे हैं कि जब रिया के साथ ना ही पुलिस थी और ना ही परिवार का कोई सदस्य, तो वो मोर्चरी में दाखिल कैसे हो गईं? कैसे मुंबई का अस्पताल रिया को इसकी अनुमति देता है?

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर