दिल्‍ली में फिर बढ़ा प्रदूषण का स्‍तर, AAP मंत्री ने बीजेपी पर फोड़ा ठीकरा, कहा- धर्म के नाम पर लोगों को उकसाया गया

दिल्‍ली में प्रदूषण का स्‍तर एक बार फिर अपने चरम पर है। यहां हवा की गुणवत्‍ता 'खराब' श्रेणी में पहुंच गई है। प्रदूषण को लेकर उठते सवालों के बीच दिल्‍ली सरकार में पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने इसका ठीकरा बीजेपी पर फोड़ा है।

दिल्‍ली में फिर बढ़ा प्रदूषण का स्‍तर, AAP मंत्री ने बीजेपी पर फोड़ा ठीकरा, कहा- धर्म के नाम पर लोगों को उकसाया
दिल्‍ली में फिर बढ़ा प्रदूषण का स्‍तर, AAP मंत्री ने बीजेपी पर फोड़ा ठीकरा, कहा- धर्म के नाम पर लोगों को उकसाया 
मुख्य बातें
  • दिवाली के अगले दिन दिल्‍ली में हवा की गुणवत्‍ता बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई
  • इसके पीछे एक बड़ी वजह दिवाली पर यहां हुई आतिशबाजी को समझा जा रहा है
  • दिल्‍ली में प्रदूषण के बढ़ते स्‍तर को लेकर AAP ने बीजेपी पर ठीकरा फोड़ा है

नई दिल्‍ली : राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में एक बार फिर प्रदूषण का स्‍तर सामान्‍य से कई गुना अधिक हो गया है। दिवाली के अगले ही दिन यहां AQI कई इलाकों में 600 तक पहुंच गया है, जो खराब वायु गुणवत्‍ता को दर्शाता है। इसमें पराली जलाने की घटनाओं के साथ-साथ आतिशबाजी का भी अहम योगदान है, जिसके लिए दिल्‍ली में सत्‍तारूढ़ आम आदमी पार्टी से जब सवाल किए जा रहे हैं तो वह इसका सारा ठीकरा बीजेपी पर फोड़ रही है।

दिल्‍ली के प्रर्यावरण मंत्री गोपाल राय का कहना है कि इसके लिए बीजेपी काफी हद तक जिम्‍मेदार है, क्‍योंकि उसने लोगों को धर्म के नाम पर उकसाया। बीजेपी के नेताओं ने हर समय बयान दिए कि पटाखे जलाने से कुछ नहीं होता है, यह धर्म और त्योहार का मामला है। इसका नतीजा अब सबके सामने है। अब सभी वैज्ञानिक कह रहे हैं कि पटाखों से प्रदूषण होता है। दो दिन पहले हवा की जो गुणवत्ता थी, वह आज नहीं है।

उन्‍होंने कहा, दिल्ली में पिछले तीन दिनों से प्रदूषण का स्तर बढ़ा है। इसके पीछे दो कारण हैं। एक तेजी से पराली जलने की घटनाएं बढ़ी हैं। 3,500 जगहों पर पराली जलने की घटनाएं हो रही हैं। कुछ लोगों ने दीपावली पर जानबूझकर पटाखे जलाए जिसके कारण भी AQI स्तर बढ़ा है।

उच्‍चतम स्‍तर पर प्रदूषण

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय का यह बयान इसलिए भी अहम है, क्‍योंकि दिवाली से एक दिन पहले यानी बुधवार को यहां प्रदूषण का जो स्‍तर था, वह अन्‍य वर्षों के मुकाबले काफी कम था। ऐसे में अनुमान जताया जा रहा था यहां इस बार प्रदूषण का स्‍तर अन्‍य वर्षों के मुकाबले कम हो सकता है। लेकिन दिवाली के एक दिन बाद ही यहां प्रदूषण का स्‍तर एक बार फिर उच्‍चतम स्‍तर तक जा पहुंचा।

सिस्‍टम ऑफ एयर क्‍वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के मुताबिक, दोपहर 3 बजकर 7 मिनट पर भी दिल्‍ली में AQI 531 था, जो गंभीर श्रेणी में आता है। दिल्‍ली में हवा की गुणवत्‍ता के गिरते स्‍तर को देखते हुए स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों ने लोगों को आगाह किया है। इससे आंखों में जलन और कई अन्‍य तरह की परेशानियां लोगों को हो सकती हैं। खास तौर पर जो लोग पहले से ही सांस संबंधी समस्‍याओं से जूझ रहे हैं, उनके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लिए और मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर