Delhi liquor offer: दिल्ली में शराब के लिए हाहाकार, क्या फिर से एक बोतल पर एक बोतल Free वाली स्कीम लागू होगी?

liquor in Delhi:दिल्ली सरकार द्वारा नयी आबकारी नीति वापस लिए जाने और राष्ट्रीय राजधानी में पुरानी आबकारी नीति फिर से लागू होने की स्थिति में सरकार के चार निगम अपने दुकानदारों की मदद से शहर में शराब की आपूर्ति सुनिश्चित करने में जुट गए हैं।

Delhi liquor offer
आदेश के मुताबिक एक सितंबर से आबकारी नीति 2021-22 समाप्त हो जाएगी (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: BCCL

Delhi में शराब को लेकर एक बार फिर से हो हल्ला मचा है दरअसल 31 July को लाइसेंस खत्म होने के बाद से शराब की दुकानें बंद हो गई हालांकि एलजी के आदेश के बाद दोबारा कुछ दुकानों को खोला जरूर गया है लेकिन इसी बीच दिल्ली में आम आदमी पार्टी की ओर से लाई गई नई लिकर पॉलिसी (New Liquor Policy) को लेकर बीजेपी ने खूब विरोध किया। 

अब दिल्ली में शराब को लेकर एक सवाल ये भी है कि क्या फिर से एक bottle पर एक bottle free scheme को लागू किया जाएगा या फिर नहीं? 

शराब की कमी से बचने के प्रयासों में जुटे विभाग

दिल्ली सरकार द्वारा आबकारी नीति 2021-22 लागू किए जाने से पहले शहर में स्थित शराब की 864 दुकानों में से 475 दुकानों का संचालन दिल्ली पर्यटन और परिवहन विकास निगम (DTTDC), दिल्ली राज्य औद्योगिक और बुनियादी ढांचा विकास निगम , दिल्ली उपभोक्ता सहकारी थोक दुकान (डीसीसीडब्ल्यूएस) और दिल्ली राज्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा किया जाता था।

Delhi: दिल्ली में अभी और छलकेंगे जाम, दो महीनों तक अब इन दुकानों पर मिलेगी शराब

डीटीटीडीसी शराब की 112 दुकानों का संचालन करता था जबकि 89 दुकानों का संचालन डीएसआईआईडीसी द्वारा और बाकी का संचालन अन्य दो विभागों द्वारा किया जाता था।हालांकि सरकार ने दिल्ली में 17 नवंबर, 2021 से शराब की खुदरा बिक्री को पूरी तरह निजी हाथों में सौंप दिया था, लेकिन सीबीआई जांच की पृष्ठभूमि में उसने अपनी नयी आबकारी नीति वापस ले ली है।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि सरकार पुरानी आबाकारी नीति पर लौटेगी और एक सितंबर से शराब की दुकानों का संचालन उसके चार विभागों द्वारा किया जाएगा।

दिल्ली में शराब की दुकानें दोबारा खुलीं, छह जोन में लाइसेंस लौटाए गए

दिल्ली के उप राज्यपाल वी.के.सक्सेना द्वारा निजी विक्रेताओं के साथ-साथ होटल और बार को जारी शराब लाइसेंस की मियाद एक महीने और बढ़ाने के आम आदमी पार्टी  सरकार के कदम को मंजूरी दिए जाने के बाद राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को शराब की दुकानें दोबारा खुलीं।हालांकि, दिल्ली के छह जोन में शराब की दुकानों के जल्द खुलने की उम्मीद कम है क्योंकि इन जोन का लाइसेंस धारण करने वालों ने अपना-अपना लाइसेंस लौटा दिया है।

दिल्ली के 468 निजी शराब विक्रेताओं ने अपनी दुकानें बंद कर दी थी

छह जोन के लाइसेंस धारकों ने मियाद विस्तार से दूर रहने का फैसला किया और उन्होंने लाइसेंस लौटा दिया है, जिसकी वजह से इन जोन की 126 शराब दुकानें बंद रहेंगी। इसके साथ ही दिल्ली में शराब की दुकानों की संख्या में और कमी आएगी और 31 जुलाई के 468 के मुकाबले अब 343 शराब दुकानें ही रह जाएंगी।उल्लेखनीय है कि सोमवार को 31 जुलाई तक के लाइसेंस की मियाद खत्म होने के बाद दिल्ली के 468 निजी शराब विक्रेताओं ने अपनी दुकानें बंद कर दी थी। हालांकि, सोमवार देर रात आबकारी विभाग द्वारा खुदरा और थोक बिक्री के लिए जारी लाइसेंस की मियाद बढ़ाने के लिए अधिसूचना जारी किए जाने के बाद ये दुकानें मंगलवार को दोबारा खुली।

 दिल्ली सरकार पुरानी व्यवस्था लागू करेगी

आदेश के मुताबिक एक सितंबर से आबकारी नीति 2021-22 समाप्त हो जाएगी और इसके बदले दिल्ली सरकार पुरानी व्यवस्था लागू करेगी।दिल्ली के छह जोन जहां पर शराब बिक्री के लिए जारी लाइसेंस लौटा दिया गया है, उनमें आंनद विहार, शकरपुर, झिलमिल, पहाड़गंज, रोहिणी ई, चांदनी चौक, सरिता विहार, नजफगढ़, ग्रेटर कैलाश और दरियागंज जैसे इलाके शामिल हैं। अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले 31 मार्च को 10 जोन के लाइसेंस धारकों ने अपने-अपने लाइसेंस सरकार को वापस कर दिए थे। इस प्रकार कुल 32 जोन में से आधे जोन में एक महीने के विस्तारित ट्रांजिट समय में शराब की बिक्री नहीं हो सकेगी।


 

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर