Delhi Liquor Policy: नई शराब नीति में नहीं हुआ कोई भ्रष्टाचार, हमें ED व CBI के नाम से डराया जा रहा है- सिसोदिया

Manish Sisodia on Excise Policy : दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली में नई शराब नीति वापस होने के आदेश के बाद आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बीजेपी और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला।

We brought a new liquor policy to stop corruption BJP are threatening shopkeepers officers with ED and CBI
हमने शराब के धंधे में Corruption को रोका- सिसोदिया 
मुख्य बातें
  • Delhi में Excise Policy को लेकर Manish Sisodia का बीजेपी पर हमला
  • हमने शराब के धंधे में Corruption को रोका- सिसोदिया
  • सिसोदिया बोले- हमें ईडी और सीबीआई के नाम से डराया जा रहा है

Manish Sisodia on Excise Policy :Delhi के Deputy CM मनीष सिसोदिया ने Press Conference करके कहा कि हम नई Excise Policy लाए हैं और शराब के धंधे में Corruption को रोका भी है। सिसोदिया ने कहा कि बीजेपी हमारी नई शराब नीति को फेल करने में लगी है। भाजपा पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी गुजरात में जहरीली शराब बेच रही है। न्होंने कहा कि नकली शराब के कारोबार से बीजेपी को फायदा हुआ है।

सिसोदिया का आरोप

प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए सिसोदिया ने कहा, 'भाजपा दुकानदारों, अधिकारियों को ED और CBI से धमका रहे हैं। वे चाहते हैं कि दिल्ली में कानूनी शराब की दुकानें बंद हों और अवैध दुकानों से पैसा कमाया जाए। हमने नई शराब नीति को रोकने का फैसला किया है और सरकारी शराब की दुकानें खोलने का आदेश दिया है। हमने शराब दुकानों की पारदर्शी तरीके से नीलामी की। पहले दिल्ली में 850 दुकानें थी। नई पॉलिसी में हमने तय किया कि एक भी ज्यादा दुकान नहीं खोलेंगे। पहले इन दुकानों से सरकार को 6000 करोड़ की आय होती थी। पारदर्शी तरीके से नीलामी के बाद अब 9500 करोड़ की आय सरकार को हुई।'

Delhi: नई एक्साइज पॉलिसी पर बवाल के बाद बैकफुट पर केजरीवाल सरकार, लागू होगी शराब की बिक्री की पुरानी व्यवस्था!

बीजेपी पर नकली शराब बेचने का आरोप

बीजेपी को निशाने पर लेते हुए सिसोदिया ने कहा, 'दिल्ली में 2021-22 की एक्साइज पॉलिसी लागू होने से पहले ज्यादा सरकारी दुकानें थी। सरकारी दुकानों के जरिए शराब बिकती थी और बहुत घोटाला होता था। दिल्ली में कुछ निजी दुकानें थी लेकिन इसका लाइसेंस भी इन लोगों ने अपनों को ही दिया था। उनसे चार्ज भी कम लेते थे। गुजरात में नकली शराब से मौत का ये पहला मामला नहीं है। ये लोग कहते हैं कि हमने गुजरात में शराब बंद कर रखी है, लेकिन हर 2-3 साल में ऐसे मामले आते हैं। जब पड़ताल होती है तो पता चलता है कि इन्हीं के लोग वहां शराब बेचने और बनाने में शामिल थे।'

आबकारी नीति पर दिल्ली में महाभारत का सच क्या, जांच हुई तो फंस जाएंगे डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया? 

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर