गाजियाबाद में कारोबारी के परिवार के 7 लोगों की हत्या, ड्राइवर को 'फांसी की सजा'...'खून से सने हाथ के पंजे' का निशान बना अहम सबूत 

Ghaziabad Sentence to death: गाजियाबाद की अनाज मंडी में कारोबारी सतीश गोयल और उनके परिवार के छह लोगों की हत्या में पूर्व ड्राइवर राहुल को अदालत ने दोषी करार दिया है।

Ghaziabad Sentence to death
गाजियाबाद में 7 लोगों की हत्या, ड्राइवर को 'फांसी की सजा' (प्रतीकात्मक फोटो) 

Ghaziabad Businessmen Familly 7 Murder:सोमवार को गाजियाबाद की कोर्ट ने आरोपी को फांसी की सजा सुनाई है हत्यारे राहुल वर्मा पर कारोबारी के घर से घटना के बाद लाखों रुपये के गहने एवं जेवरात लूटकर भागने का मामला सिद्ध हुआ था, राहुल ड्राइवर है जिसने इस नृशंस घटना को अंजाम दिया था।

नौ साल चली सुनवाई में उसके खिलाफ 30 लोगों ने गवाही दी, गाजियाबाद के घंटाघर कोतवाली क्षेत्र में 21 मई 2013 की रात सनसनीखेज घटना हुई थी यहां रहने वाले एक बुजुर्ग कारोबारी सतीश गोयल एवं उनके पूरे परिवार की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी। 

दीवार पर मिले 'खून से सने हाथ के पंजे' के निशान

लूट के इरादे से किए गए इस चर्चित हत्याकांड में राहुल के जुर्म को साबित करने में सबसे अहम सुबूत मौका ए वारदात से दीवार पर मिले खून से सने हाथ के पंजे का निशान रहा फोरेंसिक जांच में साफ हो गया था कि यह निशान उसके ही पंजे का था।

Ajab-Gajab: जिस पत्नी की हत्या के आरोप में पति को हुई थी 10 साल की जेल, वह अब जिंदा मिली

हत्यारोपी राहुल करीब नौ साल से डासना जेल में बंद 

मृतकों में कारोबारी सतीश गोयल, उनकी पत्नी मंजू गोयल, पुत्र सचिन गोयल, पुत्रवधू रेखा गोयल एवं तीन पौत्र-पौत्री शामिल थे। मृतक कारोबारी के दामाद ने कोतवाली थाने में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्याकांड का मुकदमा दर्ज कराया था।अदालत ने पुख्ता साक्ष्य, गवाही एवं फॉरेंसिक रिपोर्ट के आधार पर सात हत्याकांड के मामले में कारोबारी के पूर्व कार चालक राहुल वर्मा को दोषी ठहराया है। सनसनीखेज हत्याकांड में शामिल इकलौता हत्यारोपी राहुल करीब नौ साल से डासना जेल में बंद है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर