Ajab-Gajab: जिस पत्नी की हत्या के आरोप में पति को हुई थी 10 साल की जेल, वह अब जिंदा मिली

Bahraich News Today: उत्तर प्रदेश के बहराइच में एक महिला, जिसकी हत्या के लिए उसके पति को दोषी ठहराया गया था, और उसे 10 साल कैद की सजा दी गई थी, वह जिंदा मिली है।

Husband jailed for 10 years for killing wife in 2009 she is found alive in 2022 in UPs Bahraich
यूपी में पति ने पत्नी की 'हत्या' की थी, अब जिंदा मिली 
मुख्य बातें
  • यूपी में पति ने पत्नी की 'हत्या' की थी, अब जिंदा मिली
  • उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले का है यह अनूठा मामला
  • पुलिस ने आरोपी पत्नी को हिरासत में लिया, कोर्ट में होगी पेशी

Bahraich News: उत्तर प्रदेश के बहराइच से एख हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला जिसकी हत्या के आरोप में पति को 10 साल की जेल हो गई थी, वह (महिला) अब जिंदा मिली है। इस खबर के बाद हर कोई हैरान है और पुलिस भी मामले में एक्शन लेने की तैयारी कर रही है। मामला बहराइच के जामापुर का है जहां रहने वाले कंधाई की 2006 में रामवती से शादी हुई थी। शादी के बाद सब कुछ ठीक चल रहा था कि अचानक से तीन साल बाद यानि 2009 में रामवती रहस्यमयी परिस्थितियों में लापता हो गई।

निर्दोष को हुई 10 साल की जेल

इसके बाद परिजनों ने रामवती के परिजनों ने पति कंधाई के लापता होने का जिम्मेदार ठहरा दिया और पुलिस में अपहरण का मामला दर्ज करवा दिया। मामला पुलिस से होते हुए कोर्ट की दहलीज पर पहुंचा और लंबे समय तक कोर्ट केस चला। फाइनली 2017 में कोर्ट ने भी कंधाई को रामवती की हत्या का जिम्मेदार ठहरा दिया और पत्नी की हत्या का दोषी ठहराते हुए 10 साल की कैद की सजा सुना दी। शायद निर्दोष कंधाई के अलावा ही शायद कोई जानता होगा कि एक फर्जी मामले में फंसने पर वह कैसा महसूस कर रहा था।

Greater Noida News: दहेज नहीं मिला तो पति ने भाई संग मिलकर पत्नी को जिंदा जलाया, अब गिरफ्तार हुए आरोपी

जिंदा मिली पत्नी

कंधाई ने निचली अदालत की सजा के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी और करीब 6 महीने बाद ही उसे जमानत मिल गई। इस बीच शनिवार को जैसे ही कंधाई की पत्नी रामवती की जिंदा होने की खबर मिली तो हककंप सा मच गया। कंधाई की एक रिश्तेदार ने रामवती को को उसकी बहने के घर देखा, जहां वह रह रही थी। रिश्तेदार ने इसके बारे में कंधाई को सूचना दी। 

पुलिस महिला को कोर्ट में करेगी पेश

इसके बाद कंधाई ने तुरंत ही अपने रिश्तेदारों के साथ पुलिस को भी इस बारे में सूचित किया और बाद में रामगांव के एसएचओ संजय सिंह के नेतृत्व में एक पुलिस टीम भी महिला पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंची, जहां रामवती मौजूद थी। एएसपी ने बताया कि महिला को वन स्टॉप सेंटर में रखा गया है जहां हिंसा प्रभावित महिलाओं को आश्रय दिया जाता है। रामवती को आज कोर्ट में पेश किया जा रहा है।

Bihar News: बिहार में हुआ बड़ा चमत्कार, मौत के पांच साल बाद लौट आया बेटा, मां बोली-मैंने ढूंढा मेरा लाल

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर