[VIDEO] सेना ने बाढ़ में फंसे लोगों को एयरलिफ्ट किया,सीएम चौहान ने बाढग्रस्त इलाकों का लिया जायजा

Flood Situation in MP: राज्य में कई स्थानों पर निचले इलाकों में भारी बारिश हुई, विशेषकर पश्चिमी भागों के कुछ जिले जहाँ सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ।

IAF airlifts villagers stranded in flood in Chhindwara MP CM Shivraj singh do areial suvey of flood affected areas
अनुमान है कि पश्चिमी मध्य प्रदेश के इंदौर, उज्जैन, शाजापुर, रतलाम, देवास, झाबुआ, अलीराजपुर, मंदसौर एवं नीमच में अगले 24 घंटे में भारी बारिश होगी  |  तस्वीर साभार: ANI

मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ ग्रस्त इलाकों की स्थिति का जायजा लिया चौहान ने कहा, 'मैंने आज प्रात:काल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से चर्चा की और प्रदेश में आई बाढ़ के बारे में पूरी स्थिति की जानकारी दी है। मैंने कल रात को केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी बात कर मदद मांगी है।'उन्होंने कहा कि भारतीय वायुसेना के तीन हेलिकॉप्टरों को बाढ़ में फंसे लोंगों को बचा कर सुरक्षित स्थानों में लाने के लिए लगाया गया है। हमने दो और हेलिकॉप्टरों की मांग की है।

चौहान ने बताया कि सेना के 70 जवानों का दल पहले से ही बचाव कार्य में लगी है और बाढ़ के पानी में फंसे लोगों को होशंगाबाद, सीहोर एवं रायसेन जिलों से निकाल रही है। हमने सेना के और जवानों की मांग की है।उन्होंने कहा कि बाढ़ में फंसे लोगों में से किसी भी व्यक्ति को जान नहीं गवानी पड़ी है। यह मेरे लिए संतोष की बात है।

जिन 12 जिलों में पिछले दो दिनों से हो रही भारी बारिश ने तबाही मचाई है, उन जिलों में आज बारिश में कमी आई है, क्योंकि अब बादलों का रुख पश्चिमी मध्य प्रदेश की ओर हो गया है।अनुमान है कि पश्चिमी मध्य प्रदेश के इंदौर, उज्जैन, शाजापुर, रतलाम, देवास, झाबुआ, अलीराजपुर, मंदसौर एवं नीमच में अगले 24 घंटे में भारी बारिश होगी। 

पश्चिमी मध्य प्रदेश के इन जिलों के अधिकारियों को भी पूरी तरह से सतर्क कर दिया गया है।भारतीय वायु सेना ने भी छिंदवाड़ा के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में फंसे ग्रामीणों को बचाया और राहत कार्यों में सहयोग कर रही है।

भोपाल में बिजली की आपूर्ति लाइनें बाधित हो गईं क्योंकि मुख्य बिजली आपूर्ति लाइनों पर पेड़ की शाखाएं गिर गईं।पिछले दो दिनों से हो रही भारी बारिश से प्रदेश में आठ लोगों की मौत हुई है और विनाशकारी बाढ़ की चपेट में आये 12 जिलों के 454 गांव के 7,000 से अधिक लोगों को बचाया गया है। बाढ़ में फंसे 40 गांवों के लगभग 1200 और लोगों को निकालने के प्रयास जारी हैं। चौहान ने बताया, ‘दीवार गिरने एवं उफनते नदी-नालों में बह जाने से आठ लोगों की मौत हुई है।’

उन्होंने कहा, ‘पिछले दो दिन से लगातार हो रही भारी बारिश ने प्रदेश के 12 जिलों के 454 गांव बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), मध्य प्रदेश आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) एवं वायुसेना सहित अन्य बचाव दल कर्मियों ने इस बाढ़ में फंसे इन गांवों के 7,000 से अधिक लोगों को बाढ़ग्रस्त इलाके से सुरक्षित निकाला है।' चौहान ने बताया, ‘बाढ़ में फंसे 40 गांवों के लगभग 1200 लोगों को और निकाला जाना है और उसके प्रयास जारी हैं।'

Bhopal News in Hindi (भोपाल समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर