इमरान खान को निशाना बनाने वाले ट्वीट को रिट्वीट कर फंसा अमेरिकी दूतावास, मांगनी पड़ी माफी

Pakistan news: इस्‍लामाबाद स्थित अमेरिकी दूतावास के ट्विटर हैंडल से इमरान खान को निशाना बनाने वाले एक ट्वीट को रिट्वीट किया गया, जिसके बाद पाकिस्‍तान में खूब हंगामा हुआ।

इमरान खान को निशाना बनाने वाले ट्वीट को रिट्वीट कर फंसा अमेरिकी दूतावास, मांगनी पड़ी माफी
इमरान खान को निशाना बनाने वाले ट्वीट को रिट्वीट कर फंसा अमेरिकी दूतावास, मांगनी पड़ी माफी  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

मुख्य बातें

  • अमेरिकी दूतावास को एक ट्वीट को रिट्वीट करने के लिए माफी मांगनी पड़ी
  • यह ट्वीट विपक्षी पार्टी पीएमएल-एन के नेता अहसान इकबाल ने किया था
  • इसमें अमेरिकी चुनाव का हवाला देते हुए इमरान खान को निशाना बनाया गया था

पाकिस्तान : इस्लामाबाद स्थित अमेरिकी दूतावास ने पाकिस्‍तान के एक विपक्षी नेता के उस ट्वीट को रि-ट्वीट क‍िए जाने पर माफी मांगी है, जिसमें इमरान खान को निशाना बनाया गया था। दूतावास ने कहा कि अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को निशाना बनाने वाले ट्वीट को बिना अनुमति के रिट्वीट किया गया। जिस ट्वीट को लेकर बवाल मचा है, उसे पाकिस्‍तान के विपक्षी नेता शेयर किया था।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के नेता अहसान इकबाल ने अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में डोनाल्‍ड ट्रंप की हार के बाद 'वाशिंगटन पोस्‍ट' की हेडलाइन 'ट्रंप की हार दुनिया के तानाशाहों व दुर्जनों के नेताओं के लिए झटका है' को शेयर करते हुए मंगलवार को लिखा था, 'पाकिस्तान में भी हमारे पास एक हैं। जल्द ही उन्हें भी बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।' उनका इशारा इमरान खान की तरफ था, जिनके खिलाफ पाकिस्‍तान में विपक्षी पार्टियां पिछले कुछ समय से लामबंद हैं।

अमेरिकी दूतावास का यह पोस्‍ट देखते ही देखते वायरल हो गया और इमरान खान की पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने इस पर कड़ा ऐतराज जताया। इस्‍लामाबाद स्थित अमेरिकी दूतावास के ट्विटर हैंडल से मंगलवार देर रात इसे रिट्वीट किया गया था, जिस पर अब उसे माफी मांगनी पड़ी।

अमेरिकी दूतावास ने ट्वीट कर कहा, 'अमेरिकी दूतावास इस्लामाबाद के ट्विटर अकाउंट को बीती रात बिना अनुमति के एक्‍सेस किया गया। अमेरिकी दूतावास राजनीतिक संदेशों को पोस्ट करने या उन्हें रिट्वीट करने का समर्थन नहीं करता है। अनधिकृत पोस्ट से जो भ्रम फैला, उसके लिए हम माफी मांगते हैं।' बाद में दूतावास ने पीएमएल-एन नेता के रिट्वीट को हटा दिया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर