राष्ट्रपति Donald Trump ने रक्षा सचिव Mark Esper को किया बर्खास्त, चुनावी हार के बाद की नई नियुक्ति

Donald Trump fires Secretary of Defense: 3 नवंबर की चुनावी हार के बाद प्रशासनिक बदलाव करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका के मौजूदा रक्षा सचिव को बर्खास्त कर दिया है।

Donald Trump
डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों में ट्रंप को मिली है हार
  • राष्ट्रपति पद पर अंतिम दिनों में किया प्रशासनिक बदलाव
  • रक्षा सचिव मार्क एस्पर को बर्खास्त करके की नई नियुक्ति

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को जानकारी देते हुए कहा कि उन्होंने रक्षा सचिव मार्क एस्पर को बर्खास्त कर दिया है। अपनी 3 नवंबर की चुनावी हार के बाद कार्याकाल  में बचे 70 दिनों से ज्यादा समय के साथ यह कदम ट्रंप की ओर से उनके प्रशासन कर्मचारियों के खिलाफ उठाए कदम के रूप में देखा जा रहा है।

ट्विटर पर इस बारे में बताते हुए ट्रंप ने घोषणा की कि राष्ट्रीय प्रतिवाद केंद्र के निदेशक क्रिस्टोफर सी मिलर रक्षा के कार्यवाहक सचिव बनेंगे। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, 'मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि क्रिस्टोफर सी. मिलर, राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधक केंद्र के उच्च सम्मानित निदेशक (सर्वसम्मति से सीनेट) तत्काल प्रभाव से रक्षा सचिव होंगे।'

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, '... क्रिस बहुत अच्छा काम करेंगे! मार्क एस्पर को बर्खास्त कर दिया गया है। मैं उनकी सेवा के लिए धन्यवाद देना चाहूंगा।'

Trump tweet on new Defence secretary

प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सैनिकों के सुझाव पर जताई थी असहमति:
जेम्स मैटिस के राष्ट्रपति के साथ नीतिगत मतभेदों को लेकर इस्तीफा देने के बाद से मार्क एस्पर ट्रंप प्रशासन में दूसरे रक्षा सचिव थे। उन्होंने अमेरिका में गर्मियों के दौरान नस्लीय अन्याय पर विरोध को दबाने के लिए प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सक्रिय सैनिकों के उपयोग करने के सुझाव पर असहमति जताई थी।

गौरतलब है कि ट्रंप को हाल ही में हुए अमेरिकी राष्ट्रपति-चुनाव में जो बाइडन के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा है। इससे पहले बाइडन सीनेटर और फिर उपाध्यक्ष रह चुके हैं।

चुनावी हार को ट्रंप देंगे कानूनी चुनौती: बिडेन को संयुक्त राज्य अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में चुने जाने के बाद, ट्रंप ने हार को स्वीकार करने से इनकार करते हुए कहा था कि चुनाव अभी खत्म नहीं हुआ और वह परिणाम को कानूनी तौर पर चुनौती देंगे। राष्ट्रपति के पद पर उनका कार्यकाल 21 जनवरी 2021 को समाप्त होगा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर