Joe Biden:जो बिडेन की जीत पर चीनी सोशल मीडिया में रिएक्शन की बाढ़, जानें किस किस तरह के आए कमेंट

दुनिया
ललित राय
Updated Nov 09, 2020 | 08:22 IST

Chinese Social Media Reaction: अमेरिका में जो बिडेन के राष्ट्रपति चुने जाने पर चीन की सोशल मीडिया में रिएक्शन की बाढ़ है। ज्यादातर लोगों का कहना है कि चीन के लिए बिडेन अच्छे नहीं साबित होंगे।

Joe Biden:जो बिडेन की जीत पर चीनी सोशल मीडिया में रिएक्शन की बाढ़, जानें किस किस तरह के आए कमेंट
जो बिडेन की जीत पर चीन की सोशल मीडिया में रिएक्शन 
मुख्य बातें
  • अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव नतीजों की चीन की सोशल मीडिया में चर्चा
  • शंघाई के मेयर का नाम पता नहीं लेकिन हम लोग जो बिडेन की कर रहे हैं बात, एक यूजर की प्रतिक्रिया
  • जो बिडेन का जीतना हो सकता है दूरगामी तौर पर अमेरिका के लिए भी सही ना हो।

नई दिल्ली। जो बिडेन, अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति होंगे, यह बात अलग है कि डोनाल्ड ट्रंप अपनी हार मानने के लिए तैयार नहीं हैं और वो कानूनी लड़ाई की बात कर रहे हैं, ट्रंप का कहना है कि बिडेन ने जनादेश को चुराया है। इन सबके बीच बिडेन की जीत पर चीन की सोशल मीडिया में भी खूब हलचल है। वैसे तो चीन में सोशल मीडिया पर तमाम तरह की पाबंदी है,लेकिन बिडेन की जीत सुर्खियों में है। ट्विटर की ही तरह चीन की माइक्रो ब्लॉगिंग साइट पर वीबो पर लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

शंघाई के मेयर का नाम पता नहीं, बात कर रहे बिडेन की
एक यूजर का कहना है कि यह हो तो कुछ वैसे हो गया कि हमें शंघाई के मेयर का नाम नहीं पता है और हम जो बिडेन की चिंता कुछ ज्यादा ही कर रहे हैं। इसके साथ ही कुछ टिप्पणियां इस तरह की भी हैं कि हो सकता है कि डोनाल्ड ट्रंप अपनी गद्दी ना छोड़ें।एक यूजर का कहना है कि जब बिडेन जनवरी के महीने में व्हाइट हाउस में दाखिल होंगे तो इस बात की संभावना है कि डोनाल्ड ट्रंप व्हाइट हाउस छोड़ने से ही इंकार कर दें और यह बिडेन के लिए बड़ी चुनौती होगी। 

हो सकता है कि अमेरिका के लिए अच्छा ना हो बिडेन का जीतना
वीबो की तरह वीचैट पर कमेंट्स की बाढ़ है, ट्रंप की हार पर एक यूजर का कहना है कि जब आप को लगता है कि कोई ट्रेन गलत ट्रैक पर हैं तो आप ट्रेन के ड्राइवर को बदल देते हैं। अमेरिकी में यही हुआ। इस चुनाव से साफ है कि अमेरिकी मतदाताओं में जबरदस्त बंटवारा था। इसके साथ ही मी शिन्य नाम के एक शोधकर्ता का कहना है कि कि यह जीत बिडेन के लिए है ना कि चीन के लिए। अगर आगे की सोचा जाए तो हो सकता है कि यह अमेरिका के लिए ठीक ना हो। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर