UFO, एलियंस : आखिर क्‍या है दूसरे ग्रह पर जीवन का सच, जिनकी खूब सुनी जाती हैं कहानियां

World UFO Day: क्या धरती से इतर किसी दूसरे ग्रह पर भी जीवन है? यूएफओ, एलियंस को लेकर कई दावे होते रहे हैं। हालांकि वैज्ञानिकों के लिए ये आज भी अबूझ पहेली बने हुए हैं, पर इनकी कहानियां खूब रोमांच पैदा करती हैं।

UFO, एलियंस : आखिर क्‍या है दूसरे ग्रह पर जीवन का सच? (साभार: iStock)
UFO, एलियंस : आखिर क्‍या है दूसरे ग्रह पर जीवन का सच? (साभार: iStock)  |  तस्वीर साभार: Representative Image

मुख्य बातें

  • एलियंस और यूएफओ को लेकर कई तरह की बातें दुनियाभर में समय-समय पर होती रही हैं
  • कहा जाता है कि एलियंस UFO से यात्रा करते हैं, जो बेहद एडवांस टेक्‍नोलॉजी से लैस होते हैं
  • एलियंस, यूएफओ को लेकर किए जाने वाले दावे वैज्ञानिकों के लिए आज भी अबूझ पहेली बने हैं

नई दिल्‍ली : दुनियाभर में यूएफओ और एलियंस को लेकर कई कहानियां मौजूद हैं। कई लोगों ने इन्‍हें देखे जाने और इनसे आमना-सामना होने की बात भी है, हालांकि वे अपने दावों को लेकर कोई तथ्य या साक्ष्‍य पेश नहीं कर पाए, जिनकी वजह से ये आज भी इंसानी सभ्‍यता के लिए अबूझ पहले बने हुए हैं। यूएफओ को लेकर हाल ही में अमेरिका ने एक रिपोर्ट भी जारी की है, जिसने इसे लेकर कौतूहल और बढ़ाया है।

दुनियाभर में लोगों ने जिस यूएफओ को देखे जाने की बात कही है, उसे उड़नतश्‍तरी भी कहा जाता है। कहा जाता है कि एलियंस इसी से यात्रा करते हैं। यूएफओ का पूरा नाम 'अनआइडेंटिफाइड फ्लाइंग ऑब्जेक्ट' है। सबसे पहले 1676 में एडवर्ड हैली ने इसे देखे जाने की बात कही थी। इस रहस्‍यमयी उड़नतश्‍तरी को लेकर लोगों का कहना है कि ये नीले रंग के होते हैं और इनका आकार छतरी की तरह गोल होता है।

यूएफओ को लेकर जो दावे सामने आए हैं, उसमें यह भी कहा गया है कि ये मौजूदा समय में आकाश में उड़ने वाली उन सभी अत्‍याधुनिक उड़ान सेवाओं से बिल्‍कुल अलग होते हैं, जिनका इस्‍तेमाल आज इंसान कर रहे हैं। माना जाता है कि इनका कनेक्‍शन किसी दूसरे ग्रह से होता है, जो बेहद एडवांस संचालन वाले और प्रभावशाली होते हैं। इसमें उपकरण से लेकर इसकी संरचना तक पृथ्‍वी पर मौजूदा उड़ानों से अलग दिखती है।

अबूझ पहले बने हुए हैं एलियंस

माना जाता है कि एलियंस इन्‍हीं उड़नतश्‍तरियों से यात्रा करते हैं। कई दावों में कहा गया है कि उन्‍होंने जब भी यूएफओ से संपर्क करने की कोशिश की, वे अचानक गायब हो गए। इन यूएफओ से जिन एलियंस के यात्रा करने की बात कही जाती है, उन्‍हें पृथ्‍वी से इतरे किसी दूसरे ग्रह का प्राणी बताया जाता है। एलियन शब्‍द का अर्थ होता है बाहर का, अपरिचित, यानी जो हमारे आस-पास का न हो और जिसके बारे में हमें जानकारी न हो।

एलियंस के लिए ET यानी एक्स्ट्रा टेरेसटेरियल लाइफ टर्म का इस्तेमाल भी होता है। ये वास्‍तव में होते हैं या नहीं, इसे लेकर अब तक कुछ भी ठोस सामने नहीं आ पाया है। वैज्ञानिकों के लिए ये अब भी अबूझ पहेली बने हुए हैं, जिनका कहना है कि उनके पास इतने पर्याप्‍त साक्ष्‍य नहीं हैं कि वे इसके अस्तित्‍व को स्‍वीकार कर सकें, पर इसे सिरे से खारिज भी नहीं किया जा  सकता।

अनुमानों के मुताबिक, एलियंस ग्रे कलर के छोटे सिर वाले प्राणी होते हैं, जिनके माथे चौड़े और आंखें बड़ी-बड़ी होती हैं। उनकी नाक चिपकी हुई होती है, जबकि टांगे छोटी व पतली होती हैं। उनका शरीर बेहद पतला नजर आता है। हॉलीवुड में एलियंस को लेकर कई फिल्‍में बन चुकी हैं तो भारत में यूएफओ और एलियंस को लेकर चर्चित फिल्‍मों में 'कोई मिल गया', 'पीके' जैसी फिल्‍में शामिल हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर