विश्व पर्यावरण दिवस: इन स्लोगन के जरिये आप भी लें संकल्प

इस साल भी 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जा रहा है। इस मौके पर आप भी यहां दिए गए कुछ स्लोगन के जरिये अपने पर्यावरण को बचाने का संकल्प लें।

world environment day slogan paryavaran divas par slogan
विश्व पर्यावरण दिवस 2021 

मुख्य बातें

  • हर साल 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है।
  • संयुक्त राष्ट्र ने पर्यावरण के प्रति जागृति लाने के लिए इस दिवस की शुरुआत 1972 में की थी।
  • इस दिवस पर हम प्रति वर्ष अपने पर्यावरण को बचाने का संकल्प लेते हैं।

हर साल की तरह इस साल भी 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जा रहा है। पर्यावरण के असंतुलन की वजह से बाढ़, भूकंप, भूस्खलन, समुद्र का जल स्तर बढ़ना, कहीं अधिक बारिश, कहीं सूखा जैसी कई प्राकृतिक आापदाएं मानव को झेलना पड़ता है। इसलिए पर्यावरण संतुलित रखने के लिए इस दिवस के माध्यम से दुनिया भर में लोगों के बीच जागरूकता फैलाई जाती है। इस दिवस की शुरुआत 1972 में हुई थी और इस बार इसकी मेजबानी पाकिस्तान कर रहा है। विश्व पर्यावरण दिवस की हर साल एक अलग थीम होती है। इस बार की थीम 'Ecosystem Restoration' यानि 'पारिस्थितिक तंत्र की पुनर्बहाली' है। इस बार विश्व पर्यावरण दिवस पर नीचे कुछ स्लोगन हैं उस पर गौर करें और पर्यावरण को बचाने के संकल्प लें।

1. जागरूक देश की एक ही पहचान

पर्यावरण को ना हो कोई नुकसान

2. आओ मिलकर कुछ काम करें

पर्यावरण को सुरक्षा प्रदान करें

3. प्रकृति का मत करो शोषण

इससे होता है हमारा पोषण

4. धरती और अंबर करें पुकार

पर्यावरण सुरक्षा करो अपार

5. अच्छे जीवन का एक आधार

प्रकृति के सम्मान से बेड़ा पार

6. बोलेगी चिड़िया डाली-डाली

पहले सभी फैलाओ हरियाली 

7. नाचे मोर, कोयल गाएं

आओ पर्यावरण बचाएं

8. चलो करें हम वृक्षारोपण

पर्यावरण को हो संरक्षण

9. सुरक्षित और स्वच्छ पर्यावरण

यही हमारे जीवन का आवरण

10. जब सुरक्षित रहेगा पर्यावरण हमारा

तबी सुरक्षित रहेगा जीवन हमारा

11. लगाओ पेड़-पौधे और डालो पानी

पर्यावरण को दो प्यारी सी निशानी

12. ना ये धरा होगी, ना ये आसमान होगा

पर्यावरण के बिना कोई इंसान ना होगा

13. दूषित नही करना जल

बर्बाद हो जाएगा कल 

14. पर्यावरण का रखें ध्यान

तभी बनेगा देश महान

15. पर्यावरण से नाता जोड़ो

बीमारियों से मुंह मोड़ो

आज पर्यावरण अंसुतलन बढ़ता ही जा रहा है। लगातार बढ़ती आबादी और अद्यौगिकीकरण, प्राकृति संसाधनों का अंधाधुंध दोहन की वजह से आज वैश्विक तापमान लगातार बढ़ रहा है। पृथ्वी के तापमान में बढोतरी हो रही है पिछले कुछ दशकों में तापमान में 3-4 डिग्री सेंटीग्रेड तक बढ़ चुका है। ग्लेशियर लगातार पिघल रहे हैं जिससे समुद्र का तटीय इलाके के डूबने का खतरा पैदा हो गया है। इसलिए अपने पर्यावरण को बचाइए। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर