शिव सेना नेता ने चिकेन और अंडे को वेजीटेरियन फूड घोषित करने की मांग की, इंटरनेट पर यूजर्स ने दिए ऐसे रिएक्शंस

ट्रेंडिंग/वायरल
Updated Jul 20, 2019 | 15:05 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

शिव सेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने सदन में मांग रखी कि चिकेन और अंडे को वेजीटेरियन की कैटेगरी में डाल दिया जाए। उनकी इस मांग पर सोशल मीडिया पर जमकर बहस छिड़ गई है।

sanjay raut
शिव सेना ने राज्यसभा में रखी ये मांग 

नई दिल्ली : शिव सेना नेता और राज्य सभा सांसद संजय राउत ने सोमवार को एक अजीबोगरीब मांग रखी। उन्होंने राज्य सभा में ये मांग करते हुए कहा कि चिकेन (मुर्गा) और एग (अंडा) को वेटीटेरियन फूड की कैटेगरी में रखा जाए। आपको ये सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन ये सच है। दरअसल संजय राउत ने राज्य सभा में कहा कि वे चाहते हैं कि चिकेन और एग को वेजीटेरियन की कैटेगरी में रख दिया जाए। 

राउत की ये बात सुनकर संसद में बैठे सभी लोग आश्चर्यचकित रह गए। जब राउत ने आयुष मंत्रालय (आयुर्वेद, योगा, नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्धा और होमियोपैथी) से अपील करते हुए कहा कि उनकी इस मांग पर विचार किया जाए और फैसला लिया जाए।
इस मांग के पीछे कारण बताते हुए राउत ने कहा कि एक बार मैं नंदूरबार इलाके के छोटे से गांव में गया था।

वहां के आदिवासी लोग हमारे पास आए और हमें खाना परोसा। जब मैंने उनसे पूछा कि ये क्या है इस पर उन्होंने कहा कि ये आयुर्वेदिक चिकेन है। उन्होंने ये भी कहा कि हम इसे ऐसे पकाते हैं कि अगर आप इसे खा लेंगे तो आपकी सारी बीमारी दूर हो जाएगी। 

बात यहीं खत्म नहीं हुई, उन्होंने आगे कहा कि चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता आयुर्वेदिक एग्स पर काम कर रहे हैं। आश्चर्य की बात ये है कि सांसद ने आगे कहा कि चिकेन को आयुर्वेदिक फूड की कैटेगरी में डाला जा सकता है और इसे वेजीटेरियन लोगों के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है।

चूंकि ये चिकेन आयुर्वेदिक अंडे पैदा करते हैं ऐसे में ये आयुर्वेदिक फूड कहलाए जाने चाहिए। ऐसे में इसे वेजीटेरियन कहा जाना चाहिए। इसी रिसर्च के लिए राउत ने 10,000 करोड़ के बजट आवंटन की भी मांग की। राउत की इस मांग पर सोशल मीडिया पर लोगों ने कुछ बड़े ही मजेदार रिएक्शंस दिए हैं जिन्हें देखकर आपको भी काफी हंसी आएगी। 

देखें सोशल मीडिया रिएक्शंस-

 

 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर