Valentine's Day: रतन टाटा ने बताई अपनी प्रेम कहानी, साझा किए जिंदगी के अनछुए पहलू

टाटा ग्रुप के चेयरमैन रतन टाटा ने प्यार से जुड़ी और परवरिश आदि को लेकर कुछ खास निजी जानकारियां साझा की हैं जिसमें उन्होंने बताया है कि क्यों उनकी शादी नहीं हो पाई।

Ratan Tata revealed his love story before Valentine's Day in a conversation with Facebook page Humans of Bombay
रतन टाटा को किसी से प्यार हुआ था और उससे शादी भी होने वाली थी  

नई दिल्ली: रतन टाटा (Ratan Tata) एक ऐसा नाम जिसे सुनकर एक अलग ही फीलिंग आती है वजह है वो भारत के दिग्गज उद्योगपति होने के साथ देश की तमाम चीजों के उत्पादन से जुड़े हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि रतन टाटा को किसी से प्यार हुआ था और उससे शादी भी होने वाली थी लेकिन कुछ ऐसा हो गया जिससे उनकी शादी परवान ना चढ़ सकी।

'ह्यूमन्स ऑफ़ बॉम्बे' के साथ बातचीत में रतन टाटा अपनी ज़िंदगी के कई अनछुए पहलुओं को सामने लाए हैं। उन्होंने बताया है कि लॉस एंजिल्स में कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने एक आर्किटेक्चर कंपनी में नौकरी शुरू की थी, वो बताते हैं कि वो साल 1962 दौर बहुत अच्छा था क्योंकि उन्हें किसी से प्यार हो गया था और वो उस लड़की से शादी करने ही वाले थे कि अचानक उन्हें खबर मिली की कि  उनकी दादी की तबीयत ठीक नहीं थी इसलिए अचानक उन्‍हें वापस भारत आना पड़ा।

उसी साल 1962 में भारत और चीन का युद्ध सामने आ गया रतन टाटा को उम्मीद थी कि वो लड़की भी उनके साथ भारत वापस आ जाएगी लेकिन ऐसा हो ना सका क्योंकि भारत-चीन लड़ाई के चलते उनके माता-पिता उस लड़की के भारत आने के फेवर में नहीं थे और इस तरह उनका ये रिश्ता बनते बनते टूट गया।

रतन टाटा ने ये भी बताया कि उनकी सोच उनके पिता से नहीं मिलती थी। उन्होंने बताया कि कि जब वो 10 साल के ही थे तभी उनके माता-पिता के बीच तलाक हो गया था और फिर उनका लालन पालन उनकी दादी ने की। लेकिन जैसे-जैसे मैं और मेरे भाई बड़े हुए तो माता-पिता के तलाक़ की वजह से हम दोनों को काफ़ी परेशानियां उठानी पड़ी लेकिन फिर सब सही हो गया।

 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...