Super Moon 2020: आज रात होली पर होगा सुपर मून का दीदार, जानें कहां कब और कैसे दिखेगा दुर्लभ नजारा?

होली के त्योहार के मौके पर आज रात आसमान में एक शानदार और दुर्लभ नजारा दिखने वाला है। आज किसी आम पूर्णिमा से ज्यादा रौनक और चमक के साथ दिखेगा।

सुपरमून 2020
Super Moon 2020 

मुख्य बातें

  • फाल्गुन महीने की पूर्णिमा (फुल मून) पर होगा सुपर मून का दीदार
  • होली के अवसर पर आसमान में नजर आएगा दुर्लभ नजारा
  • क्या होता है सुपर मून? कब- कहां नजर आएगा, यहां जानें

नई दिल्ली: फाल्गुन महीने की पूर्णिमा के मौके पर आज सोमवार रात को चांद अपनी आम चमक से ज्यादा चमकीला दिखाई देगा। होली के मौके पर आसमान में दुर्लभ नजारा दिखने जा रहा है। यह इस साल का दूसरा सबसे ज्यादा चमकदार चंद्रमा होगा। आम तौर पर पूर्णिमा पर चांद जितना बड़ा और चमकदार दिखाई देता है उससे 14 फीसदी बड़ा और 28 फीसदी तक ज्यादा चमकीला दिखेगा। साथ ही चांद गोल नहीं बल्कि दीर्घ वृत्ताकार होगा। इसे ही सुपर मून कहा जा रहा है और वैज्ञानिकों के अनुसार यह नजारा पूरे 3 दिन तक नजर आएगा।

क्या है सुपरमून- अमावस्या या पूर्णिमा की रात चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर अपनी कक्षा में अपने सबसे नजदीकी बिंदु पर आता है। इसी दौरान कुछ ऐसे मौके भी आते हैं जब चांद सामान्य की तुलना में ज्यादा बड़ा और चमकीला दिखाई देता है।

'सुपरमून' शब्द साल 2016 में खास तौर पर लोगों के बीच चर्चा में आया जब उस साल लगातार तीन सुपरमून आए। एक वेबसाइट स्पेस.कॉम के अनुसार, नवंबर 2016 में हुआ सुपरमून 69 सालों में सबसे नजदीकी सुपरमून रहा है। रिपोर्ट के अनुसार साल 2030 में भी एक सुपरमून होगा जो काफी करीबी होगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2020 में, फरवरी और मई के बीच के चार पूर्ण चंद्रमा (फुल मून) 90% सीमा को पूरा करेंगे। मार्च की पूर्णिमा की तुलना में, अप्रैल 2020 में पूर्णिमा पृथ्वी के थोड़ा ज्यादा करीब (लगभग 0.1%) होगी।

कब, कैसे और कहां दिखेगा नजारा-
सुपर मून 09 मार्च 2020 की रात को 11 बजकर 18 मिनट पर दिखना शुरु होगा। आप खुले आसमान के नीचे जाकर इसे देख सकते हैं और दूरबीन की मदद से यह नजारा और भी रोचक हो सकता है। इसके अलावा यूट्यूब पर लाइव स्ट्रीम की मदद से सुपर मून को स्क्रीन पर ऑनलाइन भी देखा जा सकता है।

वैज्ञानिक उत्साहित: सुपर मून को लेकर खगोल और अंतरिक्ष विज्ञान में रुचि रखने वाले वैज्ञानिक और छात्र भी उत्साहित नजर आ रहे हैं। वैज्ञानिक इस घटना का गहराई से विश्लेषण करेंगे। ऐसे मौकों पर दुनिया की तमाम अंतरिक्ष एजेंसियों की नजर भी चांद पर होती है और वह अपने भविष्य के मिशन और चांद का अध्ययन करने के लिए ऐसे मौकों का इस्तेमाल करते हैं।

ज्योतिष में भी महत्व: ज्योतिष में भी इस सुपर मून का खास महत्व है। ऐसा कहा जा रहा है कि कम ही मौकों पर चांद धरती के इतने करीब होता है। 09 और 10 मार्च की पूर्णिमा के समय सूरज, चंद्रमा और पृथ्वी लगभग एक सीध में आ जाएंगे और चांद धरती से नजदीकी बिंदु पर होगा। ज्योतिष के अनुसार यह सुपर मून लोगों के जीवन पर सकारात्मक असर डालता है। अगर इस दिन चांदी की प्लेट में मखाने और छुहारे रखकर शुद्ध घी के दीपक की मौजूदगी में धूप, अगरबत्ती अर्पित की जाए तो जीवन में धन यानी लक्ष्मी का योग बन सकता है।

हिंदू परंपरा में फाल्गुन महीने की पूर्णिमा पर रंगों का त्योहार होली मनाया जाता है। होली 2020 में मंगलवार, 10 मार्च, 2020 को मनाई जाएगी। इससे पहले 09 मार्च को एक दिन पहले 'होलिका दहन' किया जाएगा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर