[Video] वकील साहब को काटने की सजा अपनी जान देकर चुकाएंगे 'पालतू कुत्ते', पाकिस्तान का अनूठा मामला

Pet dogs get death sentence in Karachi: पाकिस्तान में एक वकील पर हमला करने और घायल करने के आरोप में कराची में 'मौत की सजा' मिली है, 'मौत की सजा' वकील, कुत्ते के मालिक के बीच अदालत के बाहर समझौते का हिस्सा है।

Pakistan Dogs
प्रतीकात्मक फोटो 

मुख्य बातें

  • पाकिस्तान के कराची में दो कुत्तों ने एक वकील को घायल कर दिया 
  • बाद में कुत्ते के मालिक और पीड़ित के बीच हुए समझौते के तहत दोनों कुत्तों को मौत की सजा
  • इस घटना का एक वीडियो फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है

नई दिल्ली: भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में अजब-गजब मामले सामने आते रहते हैं अभी एक ताजा घटनाक्रम में एक ऐसी घटना सामने आई जिसे जानकर आप भी हैरान रह जायेंगे। वहां पर दो पालतू कुत्तों ने सड़क से गुजर रहे एक शख्स को काट लिया, जिससे वो बुरी तरह से घायल  हो गया, वो एक वकील था उसने इस घटना के बाद उन्हें सबक सिखाने के लिए अलग ही काम कर दिया जिसकी बेहद आलोचना हो रही है।

पाकिस्तान के कराची के एक पॉश इलाके में सुबह टहलने निकले एक सीनियर एडवोकेट  पर हमला करने के लिए दो पालतू कुत्तों को मार दिया जाएगा। दोषी पाए गए दो पालतू जानवरों को दी गई मौत की सजा वकील और पालतू जानवर के मालिक के बीच हुए एक आउट-ऑफ-कोर्ट समझौते  का हिस्सा बताया जा रहा है।

इसके अलावा स्थानीय शेल्टर को खान 10 लाख रुपये भी देंगे समझौते से पहले खान ने कोर्ट में जमानत की अर्जी दी थी उनके दो कर्मचारियों को पुलिस ने हिरासत में रखा था। 

क्या था ये सारा वाकया

इन दो जर्मन शेपर्ड्स कुत्तों ने पेशे से वकील मिर्जा अख्तर को घायल कर दिया था जब वह सुबह वॉक करने निकले थे। कुत्तों के मालिक हुमायूं खान ने अख्तर से माफी मांगी है और उनके ऊपर 10 लाख पाकिस्तानी रुपये का जुर्माना भी लगा है। दोनों कुत्तों ने मिर्जा पर हमला कर दिया और वह खुद को बचाने की कोशिश करते रहे बाद में खान ने आकर उन्हें बचाया लेकिन तब तक अख्तर काफी घायल हो चुके थे।

कुत्तों को फौरन डॉक्टर मौत की नींद सुला देंगे

दोनों के बीच कोर्ट के बाहर एक को समझौता हुआ और अख्तर ने कुत्तों के मालिक हुमायूं खान को माफी देना स्वीकार कर लिया है जिसके तहत बताया जा रहा है कि इस घटना में शामिल दोनों कुत्तों को फौरन डॉक्टर मौत की नींद सुला देंगे साथ ही खान के पास ऐसा कोई और कुत्ता होने पर वह उसे भी सौंप देंगे। इनके अलावा किसी कुत्ते को क्लिफ्टन कैंट बोर्ड के पास रजिस्टर कराना होगा और वह सड़क पर बिना हैंडलर के नहीं निकलेगा।

लोग इस समझौते को अमानवीय बता रहे हैं

वहीं जानवरों से जुड़ी संस्था के लोग इस समझौते को अमानवीय बता रहे हैं और इसका विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि डॉग हैंडलर की लापरवाही की सजा बेजुबान जानवरों को क्यों दी जा रही है इसे लेकर देश में काफी विरोध हो रहा है।

वीडियो साभार- Ghulam Abbas Shah@ghulamabbasshah_Twitter

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर