Covid-19: इस देश में मास्क ना पहनने की भूल पड़ेगी भारी.., कब्रिस्तान में मिल रही ऐसी सजा

इंडोनेशिया के शहर में अगर आपने फेस मास्क नहीं पहना है तो आपको इसकी कड़ी सजा भुगतनी पड़ सकती है। इसके लिए वहां पर ऐसे लोगों से कब्र खोदने को कहा जा रहा है।

people not wearing mask ordered dig graves
मास्क नहीं पहनने पर लोगों को मिली ऐसी सजा  |  तस्वीर साभार: Representative Image

मुख्य बातें

  • कोरोना वायरस नियमों का उल्लंघन करने वालों को इंडोनेशिया में मिल रही ऐसी सजा
  • मास्क ना पहनने वालों को कब्रिस्तान में कब्र खोदने का दिया जा रहा आदेश
  • इंडोनेशिया में रोजाना तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के मामले

नई दिल्ली : कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनियाभर के लोगों की जीवनशैली पूरी तरह से बदल गई है। सरकारें, डॉक्टर्स, मीडियाकर्मी और अन्य कई ऐसे ही कोरोना वारियर्स दिन रात लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में काम कर रहे हैं ताकि वायरस का संक्रमण ज्यादा फैलने से रोका जा सके। इसके लिए कई तरह के गाइडलाइन्स भी जारी किए गए हैं जिसमें मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना ये सभी महत्वपूर्ण हैं।

हालांकि कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें इन गाइडलाइन्स से कोई फर्क नहीं पड़ता है और वे अपनी मन मर्जी के मुताबिक जीते हैं। ऐसे लोगों के लिए अलग-अलग जगह की सरकारों ने सजा का भी ऐलान किया है। कुछ ऐसा ही एक मामला सामने आया है इंडोनेशिया से। यहां पर कोविड संक्रमण के बीच मास्क ना पहनने वालों को कब्रिस्तान में कब्र खोदने की सजा दी जा रही है।

दुनियाभार में हर रोज लाखों लोगों की जानें जा रही है। जो लोग घरों में हैं उन्हें घरों में ही रहने को कहा गया है ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे से बचा जा सके। इनमें ऐसे भी कई लोग हैं जो कोरोना वायरस प्रोटोकॉल का लगातार उल्लंघन कर रहे हैं और घरों से बाहर निकल कर बिना मास्क के इधर उधर घूम रहे हैं।

अलग-अलग देशों ने अपने यहां इन प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ अलग-अलग सजा का प्रावधान किया है लेकिन इंडोनेशिया में ऐसे लोगों को सबक सिखाने के लिए यूनिक मेथड निकाला गया है। जो लोग बिना फेस मास्क के निकलते हुए पाए जा रहे हैं उन्हें कोरोना वायरस से मरने वालों के लिए कब्र खोदने की सजा दी जा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक नियमों का उल्लंघन करने वालों के लिए ऐसी सख्त सजा रखी गई है।

हालांकि उन्हें अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में शामिल होने का दबाव नहीं बनाया जाता है। बता दें कि इंडोनेशिया में हर रोज कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। अब तक यहां पर 2 लाख 20 हजार से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि 8,841 लोगों की जानें जा चुकी है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर