नौकरी नहीं मिली तो स्टेशन पर टांग दिया CV, तीन घंटे के अंदर हुआ इंटरव्यू और...

वायरल
किशोर जोशी
Updated Nov 27, 2021 | 15:14 IST

Haider Malik London: एक शख्स लंबे समय से नौकरी की तलाश कर रहा था, नौकरी नहीं मिली तो उसने जॉब खोजने का ऐसा तरीका खोजा जो वायरल हो गया। इतना ही नहीं तीन घंटे के अंदर शख्स का नौकरी के लिए इंटरव्यू भी हो गया।

Haider Malik stood outside a tube station with his CVs
शख्स को नौकरी नहीं मिली तो स्टेशन पर टांग दिया CV और.... 
मुख्य बातें
  • सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है एक शख्स की स्टोरी
  • कोरोनाकाल में नौकरी खो चुके शख्स को लंबे समय से नहीं मिल रही थी नौकरी
  • शख्स ने रेलवे स्टेशन के बाहर बोर्ड पर टांग दिया अपना सीवी और तुरंत आ गई इंटरव्यू कॉल

नई दिल्ली: दुनिया में लोग नौकरी खोजने के लिए तरह-तरह के तिकड़म अजमाते हैं, कई लोग इसमें सफल होते हैं तो कई लोग असफल। एक शख्स जिसकी कोरोना के दौर में नौकरी चले गई, वह कई प्रयास करता रहा लेकिन नौकरी नहीं मिली। अंत में जब उसे कुछ नहीं सूझा तो उसने अनूठा तरीका खोजा। शख्स ने ट्रेन स्टेशन पर पॉप स्टैंड लगा दिया जिसमें उसका सीवी थी और इसके तीन घंटे के अंदर शख्स का इंटरव्यू हो गया और फिर नौकरी भी मिल गई। कहानी लंदन के रहने वाले 24 साल के हैदर मलिक की है।

कई बार कोशिश की पर नहीं मिली जॉब

मिडिलसेक्स यूनिवर्सिटी से बैंकिंग और फाइनेंस में प्रथम श्रेणी की डिग्री हासिल करने वाले हैदर ने कई बार जूम कॉल के जरिए इंटरव्यू दिया लेकिन सफलता नहीं मिली। इसके बाद उसने नौकरी खोजने का अलग तरीका अपनाया और अपना सीवी बनाया तथा बोर्ड पर सारी जानकारी लिखने के बाद सीवी और लिंक्डइन का क्यूआर कोड शेयर कर दिया। मलिक का कहना है कि वह अपने पिता महमूद मलिक से प्रेरित था जो एक सेवानिवृत्त कैब ड्राइवर थे और बचपन में ही पाकिस्तान से ब्रिटेन चले गए थे। हैदर ने नौकरी पाने के लिए एक बदलाव किया और एक स्टेशनरी की दुकान से एक बोर्ड खरीदा, जिस पर उसने क्यूआर कोड चिपका दिया ताकि लोग उसके सीवी और लिंक्डइन प्रोफाइल को आसानी से एक्सेस कर सकें।

ऐसे निकाला जुगाड़

हैदर ने बताया, 'पहले पांच मिनट या 10 मिनट में मैं नर्वस महसूस कर रहा था क्योंकि मैं वहां खाली हाथ खड़ा था। मेरे बैग में मेरे सभी सीवी थे। मैं वहां खाली हाथ खड़ा था और लोगों को देखने की कोशिश कर रहा था और लोगों से मिलने और उनसे बात करने के बजाय उनसे मिलने की उम्मीद कर रहा था। फिर मैंने लोगों से बात करना शुरू कर दिया और जल्द ही एक बदलाव देखा क्योंकि राहगीरों ने उसके साथ जुड़ना शुरू कर दिया।'

मिल गई नौकरी

मलिक ने कहा, 'बहुत से लोगों ने मुझे अपने कार्ड दिए, उन्होंने मुझे अपने फोन नंबर दिए और मुझसे बात करने लगे लेकिन सफलता तब मिली जब इमैनुएल नाम के एक व्यक्ति ने लिंक्डइन पर अपनी तस्वीर पोस्ट की, जो जल्द ही वायरल हो गई।' हैदर मलिक सुबह सात बजे से पहले स्टेशन पहुंच गए थे। 9.30 बजे, उन्हें एक संदेश प्राप्त हुआ जिसमें उन्हें कैनरी व्हार्फ ग्रुप में ट्रेजरी एनालिस्ट के रूप में एक भूमिका के लिए एक साक्षात्कार में आने के लिए कहा गया था। उन्होंने कहा, 'मुझे विभाग के निदेशक का सुबह 9.30 बजे एक टेक्स्ट संदेश मिला, जिसमें कहा गया था कि '10.30 बजे साक्षात्कार के लिए आओ।' इसके बाद हैदर को नौकरी मिल गई। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर