जानिए कौन है अलखराम जिसकी शादी में हैं दिग्गज नेताओं को न्यौता, सोशल मीडिया पर हुआ ट्रेंड

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर रविवार को पूरे दिन #घोड़ी_चढ़ेगा_अलखराम ट्रेंड करता रहा। तो आपको बताते हैं कि आखिर अलखराम है कौन और पूरा मामला कैसे ट्रेंड में आया।

Know who is Alakhram, who trended on social media regarding his marriage
जानिए कौन है अलखराम जिसकी शादी में हैं कई नेताओं को न्यौता 

मुख्य बातें

  • दो दिन से ट्विटर ट्रेंड में बना हुआ है #घोड़ी_चढ़ेगा_अलखराम
  • अलखराम यूपी के महोबा स्थित गांव का रहने वाला दलित युवक है, 16 जून को है शादी
  • अलखराम की शादी को लेकर तमाम नेताओं को दिया जा चुका है न्यौता

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर कब क्या ट्रेंड हो जाए, इसका अंदाजा किसी को नहीं होता है। इसका एक उदाहरण रविवार को उस समय देखने को मिला जब ट्विटर पर दिनभर #घोड़ी_चढ़ेगा_अलखराम ट्रेंड करता रहा। ऐसे में लोग ये जानने को बेताब हो गए कि आखिर अलखराम है कौन और क्यों ट्रेंड में है। तो आइए हम आपको बताते हैं कि अलखराम कौन है और क्यों ट्रेंड में आया है।

क्यों ट्रेंड में आया अलखराम
देश ने भले ही तरक्की कर ली हो, साइंस की बदौलत आदमी मंगल ग्रह तक पहुंच गया हो लेकिन दूसरी तरफ देश के कई गांव ऐसे हैं जहां जाति आधारित भेदभाव खत्म नहीं हुआ है। अशिक्षा और रूढ़वादी सोच की वजह से कई गांव आज भी पुरानी सोच में जकड़े हुए हैं और अलखराम इसी सोच को चुनौती देने वाला एक युवक है। यूपी के रहने वाले अलखराम ने एससी वर्ग के दूल्हा की बारात घोड़ी पर न निकलने की पुरानी परंपरा को तोड़कर घोड़ी पर बारात निकालने का फैसला किया है।
 

कौन है अलखराम
अलखराम उत्तर प्रदेश के महोबा जिले के माधवगंज गांव का रहने वाला युवक है। इस गांव सामंतवादी सोच के चलते लंबे  समय से अनुसूचित जाति (SC)वर्ग के लोगों की बारात में दूल्हा घोड़ी पर नहीं चढ़ सकता। अलखराम ने इसी व्यवस्था को चुनौती देते हुए अपनी शादी में घोड़ी पर बारात निकालने का फैसला किया है। 16 जून को होने वाली शादी के लिए अलखराम ने बकायदा पुलिस को पत्र देकर सुरक्षा की मांग की है, क्योंकि परिवार को आशंका है कि अलखराम के घोड़ी पर चढ़ने से यहां कुछ अनहोनी हो सकती है।

Image

पुलिस ने कही ये बात

अलखराम के समर्थन में रविवार को दिन भर लोगों ने ट्वीट किए और उसके घोड़ी चढ़ने का समर्थन किया। वहीं पुलिस ने कहा है कि इस संबंध में गाव वालों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्हें अलखराम के घोड़ी चढ़ने से कोई दिक्कत नहीं है। महोबगंज पुलिस स्टेशन के सब इंसपेक्टर प्रभाकर उपाध्याय ने कहा, 'हमें एक भी शख्स ऐसा नहीं मिला जिसे दूल्हे अलखराम के घोड़े पर चढ़ने को लेकर या शादी को लेकर कोई इश्यू हो, लेकिन फिर भी हम मामले पर करीब से नजर रखे हुए हैं।'

अलखराम को मिला राजनीतिक समर्थन
अलखराम के इस फैसले को राजनीतिक दलों ने भी समर्थन दिया है। अलखराम ने इससे उत्साहित होकर तमाम राजनेताओं को अपने ब्याह में शामिल होने का न्यौता दिया है। विभिन्न राजनीतिक दलों जैसे- सपा, कांग्रेस, भीम आर्मी के नेता उनसे मुलाकात कर चुके हैं और शादी मे हरसंभव मदद देने का ऐलान कर चुके हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल, यूपी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी अलखराम का समर्थन किया था। अलखराम के परिवार ने प्रियंका गांधी को भी निमंत्रण दिया है। परिवार का कहना है कि यदि प्रियंका शादी में आएगी तो उन्हें बड़ी खुशी मिलेगी।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर