VIDEO: वनरक्षक ने अवैध कटाई पर अपने सीनियर अधिकारी सहित 11 के खिलाफ दर्ज किया केस, लोग कर रहे हैं सलाम

सोशल मीडिया पर छत्तीसगढ़ के एक वनरक्षक का वीडियो वायरल हो रहा है। जो अवैध कटान को लेकर इस कदर गुस्सा हुआ कि उसने अपने वरिष्ठ अधिकारी सहित 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया।

forest guard files case against 11 people including Ranger and his senior officer in chhattisgarh
VIDEO: अपने सीनियर का काटा चालान, वनरक्षक को लोगों का सलाम 

मुख्य बातें

  • जंगल की अवैध कटाई, वनरक्षक ने अपने सीनियर के खिलाफ किया केस
  • सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो, लोग जमकर कर रहे हैं तारीफ
  • मामला छत्तीसगढ़ का है, वनरक्षक ने अवैध बांस कटाई को लेकर रेंजर और डिप्टी रेंजर का काटा चालान

रायपुर: सोशल मीडिया पर आए दिन कई वीडियो वायरल होते रहते हैं लेकिन यहां एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसकी तारीफ हर कोई कर रहा है। मामला छत्तीसगढ़ में कोरबा के बांकीमोंगरा हल्दीबाड़ी का है। यहां अवैध कटाई करते हुए एक वनरक्षक ने अपने से बड़े अधिकारी सहित एक रेंजर और 11 मजदूरों को रंगे हाथों पकड़ लिया। इसके बाद वनरक्षक इस कदर गुस्सा हो गया कि उसकी अधिकारियों से तू-तू, मैं-मैं होने लगी। बाद में उसने सभी के खिलाफ वन अधिनियम के तहत मामला बना दिया। वायरल हो रहे इस वीडियो की हर कोई तारीफ कर रहा है।

आईपीएस अधिकारी ने रिट्वीट कर शेयर किया वीडियो

वनरक्षक (बीट गार्ड) का नाम शेखर सिंह रात्रे बताया जा रहा है। शेखर ने शुक्रवार को अपने वरिष्ठ अधिकारी रेंजर मृत्युंजय सिंह औऱ डिप्टी रेंजर सहित 11 लोगों के खिलाफ भारतीय वन अधिनियम की धारा के तहत केस दर्ज कर लिया। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद बिलासपुर के आईजी दीपांशु काबरा ने इसकी तारीफ की है। उन्होंने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'यदि यह शख्स जो कह रहा है वो सही है तो उसे सलाम है। अधिकारियों को तथ्यों की जांच करने को कहा है।'

अधिकारियों पर भड़का वनरक्षक

 शेखर सिंह अपने सीनियर को डपटते हुए कहते हैं, 'साहब होगे अपने जगह पर, ये मेरा क्षेत्र है और यहां पर अवैध हुआ है और अपराधी हो यहां पर। आपने आदेश दिया नहीं.. ' इस पर अधिकारी सफाई देते हुए कह रहे हैं कि ये विभागीय आदेश पर हुआ है। जिस पर शेखर कहते हैं, 'ठीक है सर जब मौके पर इसका पीओरआर दर्ज कराऊंगा, चालान काट के भिजवाऊंगा। आप अपराधी हो अभी मौके पर, कोई साहब-वाहब नहीं हो। चालान पर दस्तखत करोगे कि नहीं? हस्ताक्षर करना है करिए... आपका बयान पढ़ के सुना रहा हूं। अपराधी हो.. तो फिर अपराध सिद्ध करना डिप्टी का काम है, जांच करना उनका काम है।'

काटा चालान

गुस्से में लाल  शेखर सिंह आगे कहते हैं, 'मैं जब कार्रवाई कर रहा हूं जब मेरा फील्ड है रिजर्व फॉरेस्ट है। यहां एक पत्ता नहीं हिल सकता है। धारा 26 के तहत कार्रवाई कर रहा हूं मैं। इसका सीजन फरवरी मार्च में होता है। अवैध हो रहा है ना..तो आप होश में रहिए. गलत काम रहे हैं.. आप रेंजर होगे अपनी जगह पर , इस फील्ड का मालिक मैं हूं। समझ गए ना। अपराधी हो अपराधी की तरह रहो। चालान कर रहा हूं आपका कोर्ट। वर्दी उतरवा दूंगा खड़े-खड़े, समझ में आ जाएगा।  रिजर्व फॉरेस्ट के नियम कानून पता हैं? थ्री स्टार लगाकर बैठे हो? ट्रेनिंग किये हो ढ़ंग से? कुछ भी आदेश कर दोगे? बुलाओ मैडम डीफएओ को.. आदेश है डीफओ का? ऐसा थोड़ा ना होता है कि कुछ भी आदेश जारी कर दोगे और ऐसा कार्रवाई कर दोगे ? ऐसा थोड़ा ना होता है।'

क्या है मामला
हरिभूमि की खबर के मुताबिक, हल्दीबाड़ी में बांस का जंगल है जहां कटाई पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, 'कटघोरा रेंज में तैनात रेंजर ने शेखर को विभागीय कार्य से कहीं भेज दिया और योजनाबद्ध तरीके से कटघोरा परिसर में मजदूरों को ले जाकर बांस की कटाई शुरू कर दी।  जब शेखर को इसकी खबर लगी तो वो मौके पर वहां पहुंचे और उन्होंने वहां तैनात वनरक्षक रामकुमार यादव से कटाई के आदेश को लेकर पूछा जो कागज नहीं दिखा पाया। इसके बाद शेखर भड़क गए औन्होंने फौरन पंचनामा तैयार किया और सभी मजदूरों सहित रेंजर मृत्युंजय शऱ्मा को वन अधियिनयम के तहत आरोपी बना दिया। और बांस को जब्त कर लिया।'

अगली खबर