Space Tourism..तो क्या धरती के पार 'स्पेस टूरिज्म' को लेकर बढ़ रहा स्कोप, 'रिचर्ड ब्रैनसन' ने कर दी शुरूआत

Space Tourism Scope:ज्यादातर लोगों के लिए अंतरिक्ष की सैर एक ऐसे सपने के जैसा है, जो पूरा होना बेहद मुश्किल है गौर हो कि साल 2001 को डेनिस टीटो को पहला 'अंतरिक्ष पर्यटक' होने का गौरव हासिल हुआ था।

Space
प्रतीकात्मक फोटो 

मुख्य बातें

  • रिचर्ड ब्रैनसन 11 जुलाई को ही स्पेसशिप-2 नामक यान से अंतरिक्ष की सैर पर जा रहे हैं
  • अंतरिक्ष की सैर करने के लिए दिग्गज अरबपतियों के बीच अजब सी होड़
  • माना जा सकता है कि जल्दी ही दुनिया के फेसस स्थानों पर टूरिज्म पुरानी बात हो जाए

नई दिल्ली: प्राइवेट स्पेस एजेंसी वर्जिन गैलेक्टिक (Virgin Galactic space) के संस्थापक रिचर्ड ब्रैनसन (Richard Branson) ने बेजोस से पहले 11 जुलाई को स्पेसशिप-2 नामक यान से अंतरिक्ष की सैर पर जाने की घोषणा कर इस क्षेत्र में हलचल मचा दी है, ऐसा परिदृश्य है मानों अंतरिक्ष की सैर करने के लिए दिग्गज अरबपतियों के बीच अजब सी होड़ है।

गौर हो कि पहले अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस ने 20 जुलाई को ब्लू ऑरिजिन के न्यू शेपर्ड की पहली स्पेस फ्लाइट में शामिल होने का एलान किया था, इस क्षेत्र के जानकार बता रहे हैं कि रिचर्ड ब्रैनसन और बेजोस अपने इस काम में सफल हो जाते हैं तो इस फील्ड में एक अलग ही संभावना शेप लेने लगेगी जी हां स्पेस टूरिज्म (Space Tourism) के डेवलेप होने की उम्मीद की जा रही है।

अंतरिक्ष की सैर करने में ये रहे हैं आगे 

पहले भी कई शख्शियतों को पैसे के एवज में अंतरिक्ष की सैर कराई गई है, हालांकि ये संख्या काफी कम ही है बताते हैं कि पिछले 20 सालों में सिर्फ सात लोगों ने ही पैसे देकर स्पेस टूरिज्म का मजा लिया है, लेकिन यह संभावना जताई जा रही है कि यह संख्या आने वाले टाइम में और बढ़ेगी, क्योंकि प्राइवेट स्पेस कंपनियों के आगे आने से दौलतमंद लोगों को स्पेस का एक्सीपिरियंस आसान हो सकता है।

...तो अरबपति मुंहमांगा पैसा खर्च करने में कोई गुरेज नहीं करेंगे

कहा जा रहा है कि अगले साल तक वर्जिन की अमेरिका में कॉमर्शियल स्‍पेस ट्रैवल की शुरुआत करने की योजना है, जिसके तहत लोगों से पैसे लेकर अंतरिक्ष की सैर कराई जाएगी और यदि ऐसा होता है तो इस उपलब्धि को पाने के लिए अरबपति मुंहमांगा पैसा खर्च करने में कोई गुरेज नहीं करेंगे क्योंकि रोमांच के साथ ये उन लोगों के लिए एक 'Global Status Symbol' हासिल करने के जैसा होगा।

NASA भी स्पेस टूरिज्म को लेकर है गंभीर!

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक बताते हैं  NASA भी टूरिज्म के उद्देश्य से इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन को जल्द ही खोलने के लिए उत्सुक है,इसके पीछे की वजह यह माना जा रहा है कि स्पेस स्टेशन का रख-रखाव नासा के लिए बहुत खर्चीला साबित हो रहा है, लिहाजा वह वहां पर ऐसी कुछ कॉमर्शियल गतिविधियां प्रोत्साहित करना चाहती है।

लोग धरती के पार टूरिज्म का मजा ले पायेंगे!

वहीं एलेन मस्क का दावा है कि अगर सबकुछ ठीक ठाक रहा तो जल्दी ही स्पेसएक्स इस स्थिति में आ जाएगा कि वह एक ही साल में  तमाम दौलतमंद टूरिस्टों को अंतरिक्ष की सैर करा सके और इसके बदले भारी-भरकम कमाई कर सके, माना जा सकता है कि जल्दी ही दुनिया के फेमस स्थानों पर टूरिज्म पुरानी बात हो जाए और लोग धरती के पार पयर्टन का मजा लें।


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर