कोरोना के बीच विवाह बंधन में बंधेंगे तीरंदाज दीपिका कुमारी और अतनु दास, समारोह में होगा सामाजिक दूरी का पालन

Archers Deepika Kumari and Atanu das to get married on tuesday: भारत के दो स्टार तीरंदाज दीपिका कुमारी और अतनु दास मंगलवार को विवाह बंधन में बंधने जा रहे हैं।

deepika atanu das
deepika atanu das 

मुख्य बातें

  • साल 2018 में हो चुकी है दीपिका कुमारी और अतनु दास की सगाई
  • मंगलवार को रांची में दोनों बंधेंगे विवाह बंधन में
  • दोनों ही विश्व चैंपियनशिप में जीत चुके हैं रजत पदक, दीपिका पांच बार जीत चुकी हैं वर्ल्ड कप खिताब

कोलकाता: भारत की स्टार तीरंदाज दीपिका कुमारी और अतनु दास मंगलवार को कोरोना संकट के बीच विवाह बंधन में बंधने जा रहे हैं। रांची में दोनों सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए रांची के मोराबादी में जीवन साथी बन जाएंगे। कोरोना संकट को देखते हुए विवाह समारोह के दौरान मास्क, सेनेटाइजर की वयवस्था के साथ-साथ सामाजिक दूरी बनाए रखने के अन्य उपाय भी किए जाएंगे। 

शादी के कार्ड में भी कोविड-19 महामारी से जुड़े सरकार के निर्देशों को पालन करने की गुजारिश की गयी है। दीपिका ने कहा, 'मेहमानों के आने पर मास्क, सैनिटाइजर दिए जाएंगे। हमने विस्तृत व्यवस्था की है, एक बड़ा बैंक्वेट हॉल बुक किया है ताकि सामाजिक दूरी का पालन ठीक से हो सके। हम किसी भी चीज को छुएंगे नहीं। हम खुद को और दूसरों को सुरक्षित रखना चाहते हैं।'

दीपिका ने कहा कि सिर्फ 60 निमंत्रण कार्ड छपे हैं और मेहमानों को रिसेप्शन में शामिल होने के लिए शाम को दो अलग-अलग समय दिये गये हैं। इस दौरान परिवार के सदस्य घर पर ही रहेंगे। उन्होंने कहा, 'हमने मेहमानों के लिए दो अलग-अलग समय तय किये हैं। पहले बैच के 50 लोग शाम 5.30 बजे से सात बजे तक आयेंगे और बाकी के 50 मेहमान इसके बाद आयेंगे। मेहमानों के वहां रहने तक परिवार के लोग घर में रहेंगे।'

भारतीय तीरंदाजी संघ के नवनिर्वाचित अध्यक्ष और झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के इस समारोह में शामिल होने की संभावना है। दीपिका को विश्व नंबर एक बनाने में मुंडा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

दोनों का ऐसा रहा है करियर  
दीपिका और अतानु की सगाई साल 2018 में हुई थी। दोनों ने ही तीरंदाजी में देश के लिए शानदार प्रदर्शन किया है। दुनिया की नंबर एक तीरंदाज रह चुकीं दीपिका ने तीरंदाजी विश्व कप में कुल पांच स्वर्ण पदक और विश्व चैंपियनशिप में दो रजत पदक जीते हैं। वो राष्ट्रमंडल खेलों में भारत के लिए दो स्वर्ण पदक और एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीत चुकी हैं। ओलंपिक खेलों में ही वो अबतक कोई कमाल नहीं दिखा सकी हैं। वहीं अतनु दास भी भारत के लिए विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक सहित कई अंतरराष्ट्रीय पदक जीत चुके हैं। 
(एजेंसी इनपुट के साथ)

अगली खबर