भादो मास के न‍ियम : क्‍यों है इस महीने माखन खाने की परंपरा, ये काम हैं न‍िषेध

Prohibitive Work In Bhado : भाद्रपद महीने को शास्त्रों में कल्याणकारी माना गया है, लेकिन इस मास में मनुष्य को खानपान के साथ कुछ क्रियों की मनाही भी है। तो आइए जानें क्या हैं ये चीजें।

Prohibitive Work In Bhado,भादो में निषेध कार्य
bhado ke niyam, भादो के न‍ियम  

मुख्य बातें

  • भादो को चातुर्मास का दूसरा महीना माना गया है
  • भादों में दही, गुड़ और हरी साग-सब्जी खाना मना है
  • गाय का दूध, घी और माखन खाना अच्छा माना गया है

भाद्रपद भाद्रपद को भद्र परिणाम देने वाला मास बताया गया है और यही कारण है कि इस मास में जहां कुछ कार्य से शुभ परिणाम मिलते हैं, वहीं कुछ कार्य बिलकुल निषेध हैं, क्योंकि इससे अशुभ फल की प्राप्ति होती है। भाद्रपद यानी भादों का महीना विशेष रूप से उपवास, नियम और निष्ठा के पालन के लिए जाना जाता है। भाद्रपद माह चातुर्मास के चार पवित्र महीनों में दूसरा माह होता है। इसलिए इस मास में मनुष्य को क्या करना चाहिए और क्या नहीं, इसका वर्णन शास्त्रों में दिया गया है। भाद्रपद में जन्माष्टमी व गणेशोत्सव सबसे अहम त्याहार माने गए हैं।

भादो महीने क्योंकि चातुर्मास में आता है इसलिए इस मास में स्नान, दान और व्रत करने से कई तरह के पापों से मुक्ति मिलती है। यह शून्य मास भी कहलाता है, क्योंकि इस महीने में लोक व्यवहार के कार्य निषेध माने गए हैं। शास्त्रों में वर्णित है कि इस महीने गलतियों की प्राश्चित करने के लिए श्रेष्ठ है। इस मास में कोई मांगलिक कार्य नहीं किया जाता है। केवल भक्ति, स्नान और दान का ही विशेष महत्व होता है। शास्त्रों में भाद्रपद महीने में कई कार्य नहीं करने तो कुछ चीजों को खाने की भी मनाही है।

Happy Krishna Janmashtami 2020: Wishes, Messages, Images, Quotes, Facebook  & Whatsapp status - Times of India

जानें, भाद्रपद माह में क्या नहीं करना या खाना चाहिए

भादो में चातुर्मास के कारण कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। केवल भक्ति से जुड़े कार्य ही किए जा सकते हैं। रही बात खाने-पीने की तो इस मास में गुड़, दही और हरी साग-सब्जी नहीं खानी चाहिए। मान्यता है कि इनका सेवन करने उम्र घटती है। दही खाने से स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। वहीं किसी अन्य द्वारा मिले चावल को इस मास में कभी न खाएं। इससे लक्ष्मी रूठ जाती हैं। वहीं नारियल का तेल इस्तेमाल करने से संतान सुख में कमी आती है।

भाद्रपद माह में क्या करना शुभ है

भादो महीने में कृष्ण जन्माष्टमी का बड़ा पर्व होता है और कृष्णजी को माखन बहुत पसंद है तो इस महीने में माखन खाना चाहिए। इससे उम्र बढ़ती है। गाय का घी खाना चाहिए क्योंकि इससे शाक्ति और दिमाग तेज होता है। गाय का दूध का सेवन भी करना चाहिए, इससे वंश वृद्धि होती है। वहीं गौमूत्र का छिड़काव शरीर व घर पर करना चाहिए। ऐसा करने से पापों का नाश होता है।

Makhan Majra: Latest News, Videos and Photos of Makhan Majra | Times of  India

इनकी पूजा जरूर करें

भाद्रपद में जन्माष्टमी और श्रीगणेश स्थापना की जाती है। श्रीकृष्ण के मंत्रों का जाप भाद्रपद में सर्वसिद्धिदायक माना जाता है। जिन दंपतियों को संतान सुख नही मिल रहा उन्हें इस पूरे माह यदि श्रीकृष्ण के संतानगोपाल मंत्र का जाप करना चाहिए।

Here's how South Indians celebrate Ganesh Chaturthi - Times of India

साथ ही गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ प्रतिदिन करने से समस्त सुखों की प्राप्ति होती है। भाद्रपद का महीना धार्मिक कार्यों के लिए बहुत शुभदायक है। खानपान का ख्याल रखकर स्वास्थ्य भी बेहतर रखा जा सकता है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर