Vastu Tips: गर्भवती महिलाओं के कमरे में भूलकर भी न रखें ये चीजें, जानें कैसा होना चाहिए उनका कमरा

Vastu Tips For Pregnant Women: वास्तु में बताया गया है कि गर्भवती महिला का कमरा कैसा होना चाहिए, जिससे कि मां और होने वाले बच्चे का स्वास्थ्य ठीक रहे और नकारात्मका दूर रहे। वास्तु के अनुसार गर्भवती महिला का कमरा रखने से बच्चा स्वस्थ होता है और उसमें अच्छे गुणों का विकास होता है।

Vastu For Pregnant Women Room
वास्तु टिप्स 
मुख्य बातें
  • गर्भवती महिला के कमरे में नहीं होना चाहिए अंधेरा
  • गर्भवती महिला के कमरे के लिए गुलाबी रंग होता है सबसे बेस्ट
  • वास्तु के अनुसार होना चाहिए गर्भवती महिलाओं का कमरा

Vastu Tips For Pregnant Women Room: गर्भवती होना किसी भी महिला के लिए उसकी जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी होती है। जैसे ही किसी महिला को इस बात पता चलता है क वह मां बनने वाली है तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहता है। सिर्फ महिला ही नहीं बल्कि पूरा परिवार आने वाले बच्चे की खुशी मनाने लगता है। लेकिन गर्भावस्था में महिला को विशेष खान-पान के साथ देखरेख की भी जरूरत होती है। क्योंकि कई बार थोड़ी से लापरवाही भी कई सारी दिक्कतें पैदा कर सकती है। वास्तु में गर्भवती महिला के कमरे के बारे में विस्तार से बताया गया है। जानते हैं वास्तु के अनुसार गर्भवती महिला का कमरा कैसा होना चाहिए और कमरे में कौन सी चीजें नहीं रखनी चाहिए।

प्रेग्नेंसी के दौरान कमरे को अंधेरा ना रखें

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पॉजिटिव एनर्जी और खुशनुमा माहौल की जरूरत होती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार गर्भवती महिलाओं को अंधेरे में नहीं रहना चाहिए। प्रेग्नेंट महिलाओं के कमरे को प्रकाशित रखना चाहिए। बच्चे के समुचित विकास के लिए रोशनी की जरूरत होती है।

भगवान कृष्ण के बाल रूप की तस्वीर रखें

शास्त्रों में कहा गया है कि गर्भावस्था के दौरान हमारी आंख के जो घटनाएं घटती है वैसा प्रभाव बच्चे पर भी पड़ता है। इसीलिए गर्भवती महिलाओं के कमरे में भगवान कृष्ण के बाल रूप की तस्वीर रखने की सलाह दी जाती है इसके अलावा प्रेग्नेंट महिला के रकमरे में हंसते खेलते बच्चों की तस्वीर भी रखनी चाहिए। इससे आसपास सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता रहेगा।

Also Read: Raksha Bandhan Recipe: रक्षाबंधन पर पूरी और हलवा समेत बनाएं ये चीजें, ऐसे तैयार करें राखी स्पेशल वेज थाली

कमरे में रखें ये चीजें

गर्भवती महिला के कमरे में भगवान कृष्ण के तस्वीर के साथ ही श्रीकृष्ण से जुड़े प्रतीक जैसे शंख, बांसुरी और मोरपंख रखना चाहिए। इससे होने वाले बच्चे का स्वभाव हंसमुख होता है और वह श्रीकृष्ण की तरह नटखट भी होता है।

कमरे के रंगों का भी रखें ध्यान

गर्भवती महिला के कमरे का रंग बहुत ज्यादा गहरा नहीं होना चाहिए। कमरे का रंग जो भी वह हल्का होना चाहिए। हालांकि वास्तु के अनुसार गर्भवती महिला के कमरे के लिए गुलाबी रंग सबसे अच्छा माना जाता है क्योंकि यह रंग खुशहाली का प्रतीक माना जाता है।

Also Read: Krishna Janmashtami: क्यों किया जाता है दही-हांडी उत्सव का आयोजन, जानिए क्या है इसका महत्व

गर्भवती महिला के कमरे में रखें पीले चावल

गर्भवती महिला के कमरे में पीले अक्षत या चावल रखने चाहिए। वास्तु में इस बेहद शुभ बताया गया है। गर्भवती महिला के कमरे में पीले चावल रखने से नकारात्मकता का वास नहीं होता। क्योंकि चावल का संबंध मां लक्ष्मी और पीले रंग का संबंध भगवान विष्णु के होता है। ऐसे में गर्भवती महिला के कमरे में पीले चावल रखने से मां और होने वाले बच्चे पर माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु की कृपा बनी रहती है।

(डिस्क्लेमर : यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्स नाउ नवभारत इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर