Gemology: जीवन में पैसा और शौहरत लाता है हीरा, लेकिन इस राशि के लोग सोच समझकर ही पहनें

Gemology of Diamond: हीरे की चमक हर किसी को लुभाती है। लेकिन इसकी चमक हर किसी के लिए शुभ नहीं होती है। इसलिए हीरा जैसे अनमोल रत्न को धारण करने से पहले जान लें कि किन्हें हीरा पहनान चाहिए और किसके लिए यह अशुभ हो सकता है।

Diamond
किन राशियों के लिए फायदेमंद है हीरा 
मुख्य बातें
  • शुक्र ग्रह का रत्न होता है हीरा
  • हीरा को कहा जाता है रत्नों का राजा
  • सभी के लिए शुभ नहीं होता अनमोल रत्न हीरा

Gemology of Wear Diamond: हीरा सभी रत्नों में कीमती, चमकदार और पारदर्शी होता है। हीरा में कोई खरोंच नहीं आता, जिस कारण इसे वज्र भी कहा जाता है। वैसे तो कई बेशकीमती रत्न होते हैं लेकिन हीरा तो आखिर हीरा है। रत्न विज्ञान में भी हीरा को सर्वश्रेष्ठ माना गया है। हीरा को रत्नों का राजा कहा जाता है। इसलिए हीरा पहनने या खरीदने की लालसा हर किसी में होती है। क्योंकि हीरे की चमक हर किसी को लुभाती है। लेकिन ये अनमोल रत्न हर व्यक्ति के लिए भाग्यशाली नहीं होता। हीरा कुछ लोगों के लिए शुभ हो सकता है तो वहीं कुछ लोगों के लिए यह अशुभ भी होता है। इसलिए हीरा धारण करने से पहले जान लें राशि के अनुसार इसके शुभ और अशुभ प्रभाव।

Alspo Read: Do Not Ignore These signs: घर से निकलते वक्त मत करें इन संकेतों को नजरअंदाज, पड़ सकते हैं किसी बड़ी समस्या में

शुक्र ग्रह का रत्न है हीरा

हीरा शुक्र ग्रह का रत्न है। कुंडली में शुक्र की स्थिति मजबूत रहने से जीवन में सृजन, कला और आनंद का अनुभव होता है। अगर आपकी कुंडली में शुक्र की स्थिति कमजोर है तो आपको हीरा जरूर पहनना चाहिए। लेकिन सभी राशि वाले जातकों के लिए हीरा पहनना शुभ या फायदेमंद नहीं होता।  

Also Read: Nautapa 2022: नौतपा के दौरान करें इन चीजों का दान, सूर्यदेव की मिलेगी कृपा, दूर होंगी परेशानियां

किन राशि वालों को शुभ फल देता है हीरा

  • अगर आपकी राशि वृष है तो आपके लिए हीरा पहनना बहुत फायदेमंद होगा। क्योंकि हीरे के लिए सबसे शुभ राशि वृष होती है। इसलिए इस राशि वालों के लिए हीरा पहनना शुभ होता है।
  • मिथुन राशि वाले जातकों के लिए भी हीरा पहनना शुभ है। मिथुन राशि के जातक अगर हीरा धारण करते हैं तो उन्हें शुभ फल की प्राप्ति होती है।
  • कन्या राशि के जातकों को हीरा पहनने में कोई समस्या नहीं है। इस राशि के लोग अगर हीरा पहनते हैं तो इनकी राशि में बैठे शुक्र की स्थिति मजबूत होती है और इसका शुभ फल मिलता है।
  • मकर राशि के लोगों के लिए भी हीरा पहनना अच्छा माना जाता है। क्योंकि इस राशि में शुक्र पांचवे और दसवें भाग के स्वामी कहलाते हैं। इस राशि के लोग अगर हीरा धारण करते हैं उनके जीवन से जुड़ी समस्याओं का अंत होता है।
  • कुंभ राशि वाले जातकों के लिए हीरा पहनना बहुत शुभ होता है। शुक्र की महादशा होने पर इस राशि के लोग हीरा जरूर पहनें। इससे भाग्य मजबूत होता है और धन प्राप्ति के योग बनते हैं।

इन राशि वालों को भूलकर भी नहीं पहनना चाहिए हीरा

  • अगर आपकी राशि मेष है तो हीरा पहनना आपके लिए नुकसान से भरा हो सकता है। क्योंकि इस में शुक्र दूसरे और सातवें भाग के स्वामी होते हैं ऐसे में हीरा पहनना आपके लिए शुभ नहीं है।
  • कर्क राशि वाले हीरा तभी धारण करें जब आपकी कुंडली में शुक्र की महादशा चल रही हो अन्यथा हीरा नहीं पहनें।
  • सिंह राशि वाले जातकों के लिए हीरा धारण बिल्कुल भी शुभ नहीं होता है। इससे आपको जॉब, व्यवसाय और नौकरी पेशा से जुड़े कार्यक्षेत्र में नुकसान हो सकता है।
  • वृश्चिक राशि के लोगों को भूलकर भी हीरा नहीं पहनना चाहिए। क्योंकि इस राशि के स्वामी मंगल हैं और हीरा शुक्र ग्रह का रत्न है। शुक्र और मंगल एक-दूसरे के शत्रु माने जाते हैं। इसलिए वृश्चिक राशि के लोगों के हीरा पहनने से अशुभ फल की प्राप्ति होती है।
  • धनु राशि वाले लोगों को भी हीरा से दूर रहना चाहिए। हीरा इस राशि वाले लोगों को शुभ फल नहीं देता, जिससे आपको कई मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है।
  • मीन राशि वालों को भी हीरा नहीं पहनना चाहिए। क्योंकि इस राशि के स्वामी गुरु बृहस्पति हैं। बृहस्पति और शुक्र के बीच परम शत्रुता होती है। इसलिए हीरा धारण करने से मीन राशि के जातकों को इसका शुभ फल नहीं मिलता।

कब और कैसे धारण करना चाहिए हीरा- हीरा शुक्र ग्रह का रत्न होता है। इसलिए इसे किसी भी माह के शुक्ल पक्ष के शुक्रवार के दिन अनामिक ऊंगली में पहनना चाहिए। हीरा रत्न पहनने से पहले इसे शुक्र के सोलह हजार जप (ओम शुं शुक्राय नम:) से अभिमंत्रित करवाकर ही पहनना चाहिए। साथ ही इस बात की खास ध्यान रखें कि हीरे के साथ कभी भी माणिक्य, मोती, मूंगा और पीला पुखराज रत्न धारण नहीं करना चाहिए।

(डिस्क्लेमर: यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्‍स नाउ नवभारत इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर