Chandra Grahan 2022: चंद्र ग्रहण के दौरान इन काम की है मनाही, लेकिन इन चार लोगों को मिली है छूट

Chandra Grahan (Lunar Eclipse) May 2022: चंद्र ग्रहण के दौरान कई तरह के नियमों का पालन करना जरूरी होता है। दरअसल ग्रहण के दौरान नकारात्मक ऊर्जा प्रभावी हो जाती है, जिसका प्रभाव व्यक्ति पर पड़ता है।

Lunar Eclipse
चंद्र ग्रहण 
मुख्य बातें
  • ग्रहण के दौरान खाने-पीने और सोने पर होती है सख्त मनाही
  • बच्चे, बूढे और गर्भवती महिला को ग्रहण में होती है खाने पीने की छूट
  • बुद्ध पूर्णिमा के लिए लगेगा साल का पहला चंद्र ग्रहण

Chandra Grahan May 2022: इस साल का पहला चंद्र ग्रहण सोमवार, 16 मई 2022 को लग रहा है। यह पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा। लेकिन भारत (Lunar eclipse 2022 in India) में यह दिखाई नहीं देगा इसलिए यहां इसका सूतक काल भी मान्य नहीं होगा। धार्मिक दृष्टिकोण से चंद्र ग्रहण को अशुभ माना जाता है। इसलिए ग्रहण के दौरान पूजा-पाठ, यात्रा और खाना खाने जैसे कुछ कामों को करने पर मनाही होती है, जिसका पालन हर व्यक्ति को करना जरूरी होता है। लेकिन कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जिन्हें इन नियमों से छूट मिली होती है। ऐसे लोग ग्रहण के दौरान खान-पीना जारी रख सकते हैं। जानते हैं कौन है वो लोग..

इन चार लोगों को ग्रहण के दौरान मिलती है छूट (Chandra Grahan 2022 India)

गर्भवती महिला- वैसे तो ग्रहण (Chandra Grahan 2022) के दौरान खाने-पीने पर सख्त मनाही होती है। लेकिन यदि ग्रहण लंबा है तो गर्भवती महिलाएं खाना खा सकती हैं। गर्मी के मौसम में गर्भवती महिलाओं को ज्यादा देर तक बिना खाए-पिए नहीं रहना चाहिए। इससे पानी की कमी यानी निर्जलीकरण हो सकती है। इसलिए थोड़ी-थोड़ी देर में पानी या जूस वगैरह पीते रहें। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि ग्रहण के दौरान बहुत ज्यादा या भारी भोजन ना करें।

छोटे बच्चे- चंद्र ग्रहण के दौरान सोने और खाने की मनाही होती है। लेकिन छोटे बच्चे ज्यादा देर तक भूखे नहीं रह सकते। क्योंकि बच्चे खेलते-कूदते रहते हैं। इसलिए उन्हें बड़े लोगों की अपेक्षा थोड़ी-थोड़ी देर में खाने-पीने की चीजें देनी चाहिए। इसके अलावा दूध पीते बच्चे या नवजात शिशु को भी ग्रहण के दौरान भूखा ना रखें और उन्हें प्रर्याप्त नींद लेने दें।  

Also Read: Chandra Grahan 2022 Date, Timings in India

बुजुर्ग व्यक्ति- घर पर अगर बड़े-बुजुर्ग हैं तो उन्हें भी भूखा ना रखें। ग्रहण की अवधि लंबी हो तो उन्हें समय पर भोजन करने दें। क्योंकि उम्र ढलने के साथ शारीरिक क्षमता कमजोर हो जाती है। इसलिए शरीर में जब तक शक्ति है तब तक नियमों का पालन करना जरूरी है।

बीमार व्यक्ति- ऐसे व्यक्ति जो बीमार हैं चाहे वह किसी भी उम्र के हों। ऐसे लोगों को भी ग्रहण के दौरान सोने और खाने-पीने के नियमों में छूट होती है। इसलिए अगर आप या आपके घर पर कोई भी बीमार व्यक्ति है तो ग्रहण के दौरान पूरा आराम करने दें और समय पर खाना और दवाई जरूर लें।

ग्रहण के इन नियमों का पालन करना होता है जरूरी

कुछ नियम ऐसे होते हैं जिनका पालन करना सभी के लिए बेहद जरूरी होता है, जिसके कि चंद्र ग्रहण के दुष्प्रभाव से बचा जा सके। ग्रहण के दौरान खाने पीने वाली चीजों पर पहले से ही तुलसी का पत्ता डाल कर रख दें। इससे आप उसका सेवन ग्रहण के दौरान और ग्रहण समाप्त होने के बाद भी कर सकते हैं। ग्रहण के दौरान भूलकर भी यात्रा ना करें ना ही घर से बाहर निकलें। ग्रहण में पूजा-पाठ पर भी सख्त मनाही होती है। 

(डिस्क्लेमर: यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्‍स नाउ नवभारत इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर