Career In Interior Design: इंटीरियर डिजाइनिंग की जॉब है हाई सैलरी वाली, इन कोर्स के बाद बनाएं शानदार करियर

Career In Interior Design: अगर आप क्रिएटिविटी हैं और आपको डिजाइनिंग से जुड़े रहना पसंद है, तो इंटीरियर डिजाइनिंग में करियर बना सकते हैं। इस फील्‍ड में हाई सैलरी के साथ जॉब करने का मौका मिलता है। साथ ही कोर्स के बाद खुद की कंपनी भी शुरू कर सकते हैं...

Career In Interior Design
इंटीरियर डिजाइनिंग में कोर्स और करियर ऑप्‍शन   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • क्रिएटिविटी और डिजाइनिंग पसंद लोगों के लिए है बेस्‍ट
  • 12वीं के बाद मौजूद हैं कई डिप्‍लोमा और डिग्री ऑप्‍शन
  • यहां मिलता है हाई सैलरी के साथ जॉब करने का मौका

Career In Interior Design: अगर आपके अंदर क्रिएटिविटी है और इस क्षेत्र में कुछ बेहतर करना चाहते हैं तो इंटीरियर डिजाइनिंग का क्षेत्र आपके करियर के लिए बेस्‍ट बन सकता है। यह अब सिर्फ घर और ऑफिस को सजाने तक सीमित नहीं रह गया है। इसका दायरा अब काफी व्‍यापक हो गया है। इस फील्‍ड से संबंधि कोर्स कर आप इंटीरियर, टेक्सटाइल और फर्नीचर डिजाइन के अलावा आर्किटेक्चरल टेक्नोलॉजी, प्रॉपर्टी मैनेजमेंट आदि में भी करियर बना सकते हैं। आज के समय में इंटीरियर डिजाइनर की मांग तेजी से बढ़ रही है। क्‍योंकि इंटीरियर डिजाइनर घरों को सजाने के साथ-साथ हॉस्पिटल, होटल, ऑडिटोरियम, रेस्‍टोरेंट जैसे लगभग सभी प्‍लेसेज को आकर्षक बनाने का कार्य करते हैं।

इंटीरियर डिजाइनर में कोर्स

इंटीरियर डिजाइनर से संब‍धित कोर्स में 12वीं के बाद दाखिला लिया जा सकता है। कई संस्थान, कॉलेज व यूनिवर्सिटी इंटीरियर डिजाइनिंग में डिग्री और डिप्लोमा का कोर्स कराते हैं। अगर आप 12वीं के बाद इस फील्‍ड में डिग्री कोर्स करना चाहते हैं तो इंटीरियर डिजाइनिंग में 4 साल का बैचलर कोर्स कर सकते हैं। इस दौरान एलिमेंट्स, वातावरण निर्माण, विज्युअल कम्युनिकेशन, मेटेरियल्स एंड एप्‍लिकेशन और कलर थ्योरी के बारे में विस्‍तार से पढ़ाया जाता है। इसके अलावा यहां पर डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन, डिप्लोमा इन इंटीरियर स्पेस एंड एथनिक डिजाइन, बीबीए इन इंटीरियर डिजाइन, एमबीए इन इंटीरियर डिजाइन, पीजी डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन जैसे कोर्स भी उपलब्‍ध हैं।

NEET Preparation Tips: अगले साल नीट क्रैक तो अभी से शुरू कर दें तैयारी, ये 5 टिप्‍स करेंगे आपकी मदद

जरूरी स्किल

इंटीरियर डिजाइनर बनने के लिए आपमें अच्छी समझ, रुचि, रचनात्मकता होना बेहद आवश्‍यक है। साथ ही आपको कस्टमर की डिमांड के अनुसार डिजाइन बदलने की क्षमता भी होनी चाहिए। कस्टमर के बजट के अनुसार इंटीरियर डिजाइनिंग करना और बेहतर कम्‍युनिकेशन स्‍किल्‍स होना भी बेहद जरूरी है।

Career In Archaeologist: रोमांच व रहस्‍यों से भरा है आर्कियोलॉजिस्ट सेक्‍टर, कोर्स कर युवा ऐसे बनाएं करियर

इंटीरियर डिजाइनर में करियर ऑप्‍शन

कोर्स पूरा करने के बाद किसी कंपनी के साथ जुड़कर या फ्रिलांसर के तौर पर कार्य किया जा सकता है। बैचलर कोर्स के बाद युवा इंटीरियर डिजाइनर, लैंडस्केप आर्किटेक, इंडस्ट्रियल डिजाइनर, कंस्ट्रक्शन मैनेजर जैसे पदों पर कार्य कर सकते हैं। वहीं अगर आपने इंटीरियर डिजाइन में डॉक्टरेट की डिग्री हासिल कर ली तो रिसर्च, पोस्ट सेकंडरी टीचिंग या एडवांस बिजनेस रोल में काम कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप इंटीरियर डिजाइन प्रोफेसर, इंटीरियर डिजाइन रिसर्चर, चीफ एक्जीक्यूटिव ऑॅफिसर जैसे पदों पर काम कर सकते हैं। इनके लिए प्राइवेट और सरकारी दोनों जगहों पर जॉब करने का ऑप्‍शन मौजूद है।  

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर