UP से बिहार तक चला CM योगी का जादू, जानिए जहां-जहां किया प्रचार वहां कैसा रहा रिजल्‍ट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्टारडम एक बार फिर बिहार विधानसभा और उत्तर प्रदेश के उपचुनाव में साफ साफ दिखा। जहां जहां सीएम योगी प्रचार के लिए गए वहां एनडीए बढ़त बना रही है।

Yogi adityanath CM Uttar Pradesh
Yogi adityanath CM Uttar Pradesh 

CM Yogi Adityanath's Report Card in Bihar Election: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्टारडम एक बार फिर बिहार विधानसभा और उत्तर प्रदेश के उपचुनाव में साफ साफ दिखा। उत्तर प्रदेश में उपचुनाव की जिम्मेदारी पूरी तरीके से योगी आदित्यनाथ के कंधे पर थी। विपक्षी दल उपचुनाव को योगी सरकार के कामकाज के आकलन के तौर पर प्रचारित कर रहे थे। परिणाम बता रहे हैं कि योगी सरकार जनता के आकलन पर खरी उतरी है। 

अभी तक के नतीजों के अनुसार उप्र की 7 में से 6 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी और एक पर निर्दलीय प्रत्याशी आगे है। उपचुनाव के परिणाम योगी सरकार के कामकाज पर जनता की मुहर है साथ ही एक बार फिर उसने विपक्ष के सारे आरोपों को खारिज करते हुए उसे नकार दिया। इन नतीजों में भविष्य का भी संकेत है।

बिहार विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद सवार्धिक डिमांड मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की थी। यूपी में उपचुनाव होने के कारण सीएम योगी वहां ज्यादा समय नहीं दे पाए फिर भी उन्होंने एनडीए के पक्ष में ताबड़तोड़ 19 रैलियां की। पहले चरण के चुनाव प्रचार में योगी 6 अहम सीटों पर पहुंचे थे- पालीगंज, तरारी, जमुई, काराकाट, अरवल और रामगढ़। सीटें पिछले चुनाव में बीजेपी के हाथ से निकल गई थीं।

पूर्णिया, सहरसा, सिवान, गरियाकोठी, भागलपुर, गोविंदगंज, झंझारपुर, दरभंगा में भी योगी आदित्‍यनाथ ने प्रचार किया था। सीएम योगी के प्रचार वाली 19 में से 13 सीटों पर एनडीए के प्रत्याशी आगे चल रहे हैं। उत्तर प्रदेश उपचुनाव में योगी आदित्यनाथ का स्ट्राइक रेट 90% है तो बिहार उपचुनाव में 70 फ़ीसदी।

इस वजह से चला जादू

कोरोना काल में लाखों प्रवासी मजदूरों को सकुशल उनके घर पहुंचाने वाले मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ बिहार के मजदूरों और गरीबों में खास लोकप्रिय हैं। सीएम योगी ने जिन प्रवासियों को घर पहुंचाया उनमें यूपी की सीमा से सटे बिहार के जिलों के मजदूर भी काफी संख्‍या में थे। बिहार के सिवान, छपरा, गोपालगंज, पश्चिमी चंपारण जैसे जिले गोरखपुर की सीमा से सटे हैं।

इन जिलों के छात्र गोरखपुर में शिक्षा ग्रहण करते हैं और उन पर योगी का काफी प्रभाव है। अपनी प्रखर हिंदुत्ववादी छवि की वजह से पसंद किया जाता है और बीजेपी बिहार में इसी वजह से उनकी लोकप्रियता को भुनाना चाहती थी। वहीं गोरक्षपीठ का बिहार के कई इलाकों में अच्छा खासा असर है।

Bihar Vidhan Sabha Chunav के सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर