Hathras Case: माताओं- बहनों के साथ अपराध करने वालों का होगा समूल नाश, योगी आदित्यनाथ का ऐलान

Yogi Adityanath on Hathras Case: हाथरस कांड पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि बेटियों की अस्मत पर हाथ डालने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

Hathras Case: बहू- बेटियों के साथ अपराध करने वालों का होगा समूल नाश, योगी आदित्यनाथ का ऐलान
योगी आदित्यनाथ, सीएम, उत्तर प्रदेश 

मुख्य बातें

  • हाथरस गैंगरेप केस में एसआईटी कर रही हैं जांच, सात दिन में रिपोर्ट है सौंपना
  • हाथरस में मीडियाकर्मियों को भी पीड़िता के गांव में नहीं जाने दिया जा रहा है
  • टीएमसी सांसदों के साथ धक्कामुक्की, महिला सांसदों ने जिला प्रशासन पर लगाए संगीन आरोप

लखनऊ: हाथरस कांड की एसआईटी जांच जारी है जिसे सात दिन में रिपोर्ट सौंपनी है। इस मामले में जिस तरह से यूपी पुलिस और हाथरस जिला प्रशासन का रुख नजर आ रहा है उसकी वजह से हर कोई आक्रोशित है। एसआईटी जांच की नाम पर मीडियाकर्मियों को पीड़िता के गांव में प्रवेश की इजाजत नहीं है तो पीड़ित परिवार ने हाथरस के डीएम पर संगीन आरोप लगाए हैं। इन सबके बीच यूपी के सीएम योगा आदित्यनाथ ने आश्वासन दिया है कि गुनहगार बख्शे नहीं जाएंगे।

महिला शक्ति के साथ अपराध बर्दाश्त नहीं
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बेटी बहनों की आबरू के साथ खिलवाड़ करने वालों का समूल नाश किया जाएगा। बेटियों के साथ अक्षम्य अपराध करने वालों के साथ किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा। यूपी सरकार का मानना है कि बेटियों की अस्मत के साथ खिलवाड़ की इजाजत किसी को भी नहीं है। यूपी के सीएम ने किसी तरह की राजनीतिक बयानबाजी से विपक्ष को बचने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि इस दुखद घटना को राजनीति के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए।


हाथरस जिला प्रशासन पर विपक्ष का गंभीर आरोप
हाथरस कांड पर विपक्षी दलों का आरोप है कि योगी जी की पुलिस जितनी शिद्दत से विरोधी सांसदों को गांव में नहीं जाने दे रही है, अगर उतनी ही जिम्मेदारी से पुलिस ने अपना काम किया होता तो हाथरस की घटना नहीं हुई होती। पुलिस और जिला प्रशासन की लापरवाही की वजह से एक दलित बेटी की जान चली गई और अब बयानों के जरिए सरकार क्या संदेश देना चाह रही है। पीड़ित परिवार को डराया धमकाया जा रहा है। यह अच्छा होता कि यूपी सरकार पीड़ित परिवार को परेशान करने की जगह उन अधिकारियों को दंडित करती जो जानबूझकर सच को सामने नहीं आने देना चाहते हैं।

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर