Hathras Case: DM ने मेरे ताऊजी की छाती पर लात मारी, हम सबका फोन छीन लिया गया: पीड़िता का भाई

देश
किशोर जोशी
Updated Oct 02, 2020 | 13:22 IST

हाथरस मामले को लेकर यूपी सरकार लगातार घिरती जा रही है। पुलिस प्रशासन की भूमिक को लेकर सवाल उठ रहे हैं और अब पीड़ित परिवार ने प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

Hathras gang-rape murder victim’s brother says DM kicked on my tauji's chest and our phone has been confiscated
Hathras: पीड़िता का भाई बोला:DM ने ताऊजी की छाती पर लात मारी 

मुख्य बातें

  • हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद लगातार तूल पकड़ रहा है मामला
  • पीड़ित परिवार ने लगाया प्रशासन पर बंधक बनाने का गंभीर आरोप
  • पीड़िता के भाई ने कहा- हमारे फोन छीन लिए गए, हमें कमरे में किया गया बंद

हाथरस: हाथरस मामले को लेकर यूपी पुलिस, सरकार और प्रशासन की भूमिका को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया है कि प्रशासन ने उन्हें एक तरह से बंधक बना लिया है और परिवार के सदस्यों के मोबाइल छीन लिए हैं। इतना ही पूरे हाथरस में धारा 144 लागू की गई है और पीड़ित परिवार के गांव में जाने वाले हर रास्ते को सील किया हुआ है और एंट्री बैन है। हाथरस मामले को लेकर आज भी देश के अलग- अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। लखनऊ में हुए समाजवादी पार्टी के प्रदर्शन के दौरान पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

पीड़िता के भाई ने लगाए गंभार आरोप
पीड़िता के भाई किसी तरह पुलिस की नजरों से बचकर खेतों के रास्ते भागते हुए मीडिया के सामने पहुंचा। पीड़िता के भाई ने कहा, 'हमको डराया था। हमारा फोन छीन लिया तांकि किसी को ना बुला सकें। सबका फोन छीन लिया। किसी को बाहर नहीं निकलने दे रहे हैं। हमारी मां और भाभी ने कहा था कि मीडिया को बुलाकर लाओ, हम उनसे बात करेंगे। मैं खेतों से छुप-छुपकर यहां तक पहुंचा हूं। डीएम साहब ने कल मेरे ताऊजी को मारा। डीएम साहब ने उनकी छाती पर लात मारी। सबको कमरे में बंद कर दिया। पुलिस चारों और लगी हुई है, चाहे वो छत पर हो या अन्य जगह पर।'

किले में तब्दील हुआ पीड़िता का गांव
हाथरस में पीड़िता के गांव को पुलिस ने इस कदर सील किया हुआ जैसे कोई किलेबंदी हुई हो। मीडियाकर्मियों और पुलिसकर्मियों के कई वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें पुलिस वाले मीडियाकर्मियों को गांव में घुसने से रोक रहे हैं। नोंकझोंक का यह सिलसिला जारी है। इस संबंध में जब ड्यूटी पर तैनात पुलिसवालों से सवाल किया गया कि वो आखिर क्यों जाने से रोक रहे हैं? तो सभी का एक सा जवाब था, 'हम अपनी ड्यूटी कर रहे हैं और ऊपर से आदेश है इसलिए गांव में नहीं जाने दे सकते हैं।'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर