Mayawati: यूपी सरकार को 'माया' मंत्र, इस तरह से प्रदेश होगा अपराध और भय मुक्त

Mayawati suggestion to yogi aditynath: यूपी में अपराध को नियंत्रित करने के लिए बीएसपी मुखिया मायावती की तरफ से सीएम योगी आदित्यनाथ को सुझाव दिया गया है।

Mayawati: यूपी सरकार को 'माया' मंत्र, इस तरह से प्रदेश होगा अपराध और भय मुक्त
यूपी की सीएम रह चुकी हैं मायावती 

मुख्य बातें

  • कानपुर, गोंडा, गोरखपुर कांड के बाद विपक्ष के निशाने पर है यूपी सरकार
  • कांग्रेस ने कहा कि यह राम राज नहीं अपराध राज है।
  • समाजवादी पार्टी का निशाना, दावे और हकीकत में जमीन आसमान का अंतर

लखनऊ। जुलाई का महीना अब खत्म होने के कगार पर है। लेकिन इस महीने देश के सबसे बड़े सूबे में चार बड़ी घटना हुई जिसके बाद योगी आदित्यनाथ सरका विपक्ष के निशाने पर है। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार को खत लिखा और पूछा कि क्या यही राम राज है, यह तो अपराध राज है। इसके साथ एसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने निशाना साधते हुए कहा कि दावे करना और हकीकत में दिखाई दे दोनों में फर्क है। इसके साथ ही बीएसपी की मुखिया मायावती ने निशाना भी साधा तो सुझाव भी दिया।

मायावती की सलाह
आज, राज्य में कानून और व्यवस्था की स्थिति बिगड़ रही है, अपराधी उत्तर प्रदेश पर शासन कर रहे हैं। अगर सरकार स्थिति में सुधार करना चाहती है, तो यूपी के सीएम को बिना किसी हिचकिचाहट के बसपा से सीख लेनी चाहिए। मैंने 4 शर्तों के लिए यूपी को नियंत्रित किया, जिसके दौरान कानून और व्यवस्था की स्थिति स्थिर थी। उन्होंने कहा कि सरकार की नजर में अपराधी सिर्फ अपराधी है उसकी जाति और मजहब से किसी तरह का लेनादेना नहीं होना चाहिए

प्रियंका गांधी ने साधा निशाना
इससे पहले कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को खत लिखकर पूछा कि क्या यही रामराज है। आप एनकाउंटर के दम पर कानून का राज स्थापित करने की बात करते रहे । लेकिन कानपुर, गोंडा और गोरखपुर में क्या हुआ। वो सरकार से सवाल करती हैं कि एक कानपुर में संजीत केस में परिवार ने पैसे भी दे दिए और उस परिवार का बेटा कहां है पुलिस ढूंढ पाने में नाकाम है। गोरखपुर में एक मासूल लड़के का अपहरण के बाद हत्या कर दी जाती है और पुलिस हाथ पर हाथ धरे रह जाती है। 

अगली खबर