World Mental Health Day:कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम के दौरान 5 तरीकों से रखें अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान

Top 5 way to stay mentally fit: कोरोना की इस महामारी के दौर में शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य का अच्छा होना भी बहुत आवश्यक है।  

World Mental Health Day:कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम के दौरान 5 तरीकों से रखें अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान
World Mental Health Day:कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम के दौरान 5 तरीकों से रखें अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • संगीत सुनें, फिल्में देखें, गेम खेलें, इसका मन पर सुखद असर होता है 
  • परिवार और दोस्तों से दूरी नहीं, नजदीकी बनाएं 
  • निश्चित समय सीमा के दायरे में रहकर ही काम करें

नई दिल्‍ली : पिछले कुछ महीनों से हम सभी का कड़ा इम्तिहान चल रहा है। कोरोना महामारी ने सबके जीवन को और भी चुनौतीपूर्ण बना दिया है। सफाई से लेकर स्वास्थ्य तक का बहुत ध्यान रखना पड़ रहा है। शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए हम सभी प्रयास कर रहे हैं, लेकिन मानसिक स्वास्थ्य का क्या? वो आपके जीवन में अहम किरदार निभाता है। अगर आप मानसिक रूप से अस्वस्थ हैं, तो आपकी जीवनरूपी गाड़ी पर बड़ा ब्रेक लग सकता है। कोरोना कल में घर से ऑफिस का काम करते हुए इन पांच तरीकों से अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रख सकते हैं। 

सही शेड्यूल बनाएं  

घर से काम करना शुरूआती दौर में सबको बड़ा आसान लगा था, लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया तो ये मुश्किल होता गया। घर से काम का मतलब हो गया किसी भी समय काम। उसकी कोई सीमा निर्धारित नहीं हुई। आप ऐसा न करें। मानसिक तनाव से दूर रहने के लिए आप सबसे पहले एक शेड्यूल बनाएं। उसी के अनुरूप कार्य करें।  

ब्रेक लेना भी है जरूरी  

घर से काम करने का नतीजा ये हुआ कि काम का समय खिंच गया लेकिन आपका समय खत्म हो गया। लोग वर्क फ्रॉम होम में ब्रेक लेना भूल गए। ऑफिस में चाय और खाने का समय अब लोगों के पास नहीं रहा। कहने को तो घर से काम कर रहे हैं, लेकिन इतना भी समय नहीं मिल रहा है कि एक कप चाय आराम से पी सकें।  

काम की जगह सेट करें  

जिस तरह से आपका ऑफिस आपके घर से दूर था, उसी तरह से आप घर में एक अलग जगह तय करें। वहां सिर्फ काम करें। काम खत्म होते ही आप वहां न जाएं। एक निश्चित समय के लिए ही आप उस कमरे या उस जगह पर रहें। बाकी का समय आपका है। आप उसमें अपनी पहले वाले जिन्दगी का आनंद लें। नहीं तो धीरे-धीरे आप तनाव के शिकार हो जाएंगे। 

रिश्ते और दोस्त अब भी हैं  

कोरोना में सामाजिक दूरी रखना जरूरी है, लेकिन इसका ये मतलब बिलकुल नहीं है कि आप लोगों से बात करना ही बंद कर दें। ऑफिस के काम में इतने भी मशगूल न हो जाएं कि घर पर रहते हुए भी आप अपने घर वालों से ही बात न कर पाएं। अपनी भावनाओं को परिवार और दोस्तों के साथ साझा करें।

मी टाइम भी है जरूरी  

हर शख्स के जीवन में मी टाइम का बहुत महत्व है। उसके बिना कुछ भी संभव नहीं है। खुद के लिए जबतक आप जीना नहीं सीखेंगे, दूसरों के लिए क्या खाक जीएंगे। ये सिर्फ एक बहाना है। इसलिए काम करते हुए भी मी टाइम निकालें। आपको जो पसंद हो वो करें। संगीत सुनें, फ़िल्में देखें, गेम खेलें आदि। इससे आपके मन पर सुखद असर पड़ता है।  

इन पांच बातों का ध्यान रखकर आप अपने तनाव भरे वर्क फ्रॉम होम को आसान और खुशनुमा बना सकते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर