Kanpur Enconter: मुखबिरी के लिए रडार पर हैं चौबेपुर के पुलिसकर्मी, थाने पर भेजे गए 10 नए कॉन्स्टेबल 

Kanpur Enconter : कानपुर एनकाउंटर मामले में चौबेपुर की पुलिस शक के दायरे में है। यहां के सभी पुलिसकर्मी रडार पर हैं। इस बीच, चौबेपुर पुलिस थाने पर 10 कॉन्स्टेबल भेजे गए हैं।

Kanpur Enconter : 10 Constables transferred to Chaubepur police station
पुलिस के रडार पर हैं चौबेपुर पुलिस थाने के पुलिसकर्मी।  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • गुरुवार की रात बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हुई हत्या
  • हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने के लिए गई थी पुलिस की टीम
  • विकास और उसके गुर्गों ने घात लगाकर पुलिस टीम पर की गोलीबारी

कानपुर : कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद पुलिस महकमा सकते में है। गिरफ्तार आरोपियों की पूछताछ में मुखबिरी होने की बात सामने आई है। इस घटना के मास्टमाइंड और हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के करीबी सहयोगी ने पूछताछ में बताया कि पुलिस की दबिश देने से पहले चौबेपुर थाने से किसी का फोन आया था। इस खुलासे के बाद चौबेपुर के सभी पुलिसकर्मी संदेह के घेरे में हैं। यूपी पुलिस ने अपनी जांच का दायरा बढ़ाते हुए थाने के पुलिसकर्मियों को अपनी रडार पर ले लिया है। घटना के समय थाने पर तैनात पुलिसकर्मियों की सीडीआर खंगाली जा रही है। इस बीच, चौबेपुर पुलिस स्टेशन पर 10 नए कॉन्स्टेबल को ट्रांसफर किया गया है।

पुलिस महानिरीक्षक कानपुर मोहित अग्रवाल के निर्देश पर 10 कॉन्स्टेबल को चौबेपुर पुलिस स्ट्रेशन ट्रांसफर किया गया है। कानपुर मुठभेड़ में इस थाने के सभी पुलिसकर्मी जांच के दायरे में हैं। विकास यादव को इस दबिश के बारे में जानकारी देने के संदेह में सोमवार को तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।

तीन पुलिसकर्मी निलंबित
कानपुर के आईजी अग्रवाल ने कहा, 'सूचना लीक करने के संदेह में आज तीन पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया। विकास यादव को दबोचने के लिए 40 पुलिस स्टेशनों की कुल 25 टीमें लगाई गई हैं। आरोपी की तलाश में पुलिस छापेमार रही है।' पुलिस अधिकारी ने कहा कि चौबेपुर पुलिस स्टेशन के एसएचओ विनय तिवारी को मुठभेड़ स्थल छोड़कर भागने पर निलंबित कर दिया गया। उन्होंने बताया कि सब-इंस्पेक्टर कुंवरपाल, कुमार शर्मा एवं कॉन्स्टेबल राजीव को गिरफ्तार किया गया है। 

विकास का करीबी दयाशंकर गिरफ्तार
पुलिस ने रविवार को विकास के करीबी सहयोगी दयाशंकर अग्निहोत्री को गिरफ्तार किया। दयाशंकर ने पूछताछ में बताया कि विकास को जब रेड के बारे में पता चला तो उसने अपने गुर्गों को बुलाया और हमले की साजिश रची। दयाशंकर का कहना है कि चौबेपुर पुलिस स्टेशन से किसी ने विकास को पुलिस के रेड के बारे में जानकारी दी। विकास को बताया गया कि आज रात उसके घर पर पुलिस दबिश देगी। 

नेपाल सीमा पर विकास के पोस्टर लगे
इस घटना के बाद विकास फरार है। पुलिस उसे पकड़ने के लिए लगातार छापेमार रही है लेकिन वह अभी पकड़ से दूर है। विकास के बारे में जानकारी पाने के लिए पुलिस ने उसके सिर पर ढाई लाख रुपए का इनाम घोषित किया है। यही नहीं, उन्नाव टोल प्लाजा और भारत-नेपाल सीमा पर स्थित लखीमपुर जिले में उसके पोस्टर चिपकाए गए हैं। विकास के घर से बड़ी मात्रा में हथियारों की भी बरामदगी हुई है।   

Kanpur News in Hindi (कानपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर