President Kovind in Ayodhya:अयोध्या में आज राष्ट्रपति, करेंगे 'रामलला' के दर्शन,रामायण कॉन्क्लेव का शुभारंभ भी

देश
रवि वैश्य
Updated Aug 29, 2021 | 09:25 IST

President Kovind Ayodhya Visit :राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 29 अगस्त को उत्तर प्रदेश के अयोध्या (Ayodhya) जाएंगे राष्ट्रपति विशेष प्रेसिडेंशियल ट्रेन से लखनऊ से अयोध्या तक की यात्रा करेंगे। 

President Ramnath Kovind in Ayodhya
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (फाइल फोटो) 

मुख्य बातें

  • राष्ट्रपति कोविंद राम कथा पार्क रामायण कॉन्क्लेव का उद्घाटन करेंगे
  • राष्ट्रपति राम जन्मभूमि और हनुमानगढ़ी के दर्शन करेंगे
  • रामायण कॉन्क्लेव 1 नवम्बर, 2021 तक आयोजित किया जाएगा

नई दिल्ली:  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) आज अयोध्या (Ayodhya) के एक दिवसीय दौरे पर आ रहे हैं, वो आज यहां रामायण कॉन्क्लेव का और पर्यटन विकास की विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास करेंगे, इस आयोजन में राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री सम्मिलित होंगे,  उनके दौरे को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं

राष्ट्रपति प्रेसीडेंशियल स्पेशल (Presidential Train) से सुबह करीब 9 बजे लखनऊ से रवाना होंगे और करीब 11:30 बजे अयोध्या पहुंचेंगे, बताते हैं कि "रामलला" (RamLala) के दर्शन करने के अलावा राष्ट्रपति कोविंद के हनुमान गढ़ी मंदिर (Hanumangarhi) और कनक भवन जाकर पूजा अर्चना करने का भी कार्यक्रम है।

सबसे पहले राष्ट्रपति राम कथा पार्क (Ram Katha Park) में रामायण कॉन्क्लेव (Ramayana Conclave) का उद्घाटन करेंगे और सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेंगे फिर राष्ट्रपति राम जन्मभूमि और हनुमानगढ़ी  के दर्शन करेंगे और निर्माणाधीन मंदिर का जायजा लेंगे फिर 3:50 पर प्रेसिडेंशियल स्पेशल ट्रेन से लखनऊ के लिए रवाना होंगे।

रामायण कॉन्क्लेव 1 नवम्बर, 2021 तक आयोजित किया जाएगा

29 अगस्त से आरम्भ होकर रामायण कॉन्क्लेव 1 नवम्बर, 2021 तक आयोजित किया जाएगा। रामायण कॉन्क्लेव विभिन्न तिथियों पर अलग-अलग चरणों में प्रदेश के विभिन्न स्थानों में सम्पन्न किया जाएगा। इनमें अयोध्या, गोरखपुर, बलिया, वाराणसी, विन्ध्याचल, चित्रकूट, ललितपुर, श्रृंग्वेरपुर, बिठूर, बिजनौर, बरेली, गाजियाबाद, मथुरा, गढ़मुक्तेश्वर, सहारनपुर तथा लखनऊ सम्मिलित हैं। 

रामायण कॉन्क्लेव में प्रातःकालीन सत्र में विशिष्ट कथावाचकों तथा रामायण के विद्वानों द्वारा रामायण के विभिन्न प्रसंगों पर सारगर्भित व्याख्यान एवं विचार-विमर्श होंगे। सायंकालीन सत्र में रामायण एवं रामकथा से सम्बन्धित उच्चस्तरीय सांस्कृतिक प्रस्तुतियां सम्पन्न होंगी। रामलीला एवं लोक बोलियों के कवि सम्मेलनों के माध्यम से रामकथा के विभिन्न सन्दर्भों को प्रस्तुत किया जाएगा।

राष्ट्रपति के दौरे से पहले किले में बदल गया अयोध्या

वह लखनऊ से विशेष राष्ट्रपति ट्रेन से अयोध्या जाएंगे।सुरक्षा बलों को तैनात कर दिया गया है और रेलवे ट्रैक के पास रहने वालों की पहचान की जा रही है।मार्ग से अतिक्रमण भी हटाया जा रहा है।पूरे रेल मार्ग को सैनिटाइज किया जा रहा है और लोगों को राष्ट्रपति के दौरे के दिन घर के अंदर रहने को कहा गया है।इस बीच रेलवे स्टेशन को भी जल्द मेकओवर और प्लेटफॉर्म नं. 1, जहां राष्ट्रपति ट्रेन पहुंचेगी, नए सिरे से चित्रित किया गया है।

यह पहली बार है जब कोई राष्ट्रपति अयोध्या का दौरा कर रहे हैं

वहीं राष्ट्रपति के स्वागत के लिए फूलों की सजावट भी की जा रही है। मुख्यमंत्री और राज्यपाल सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों को समायोजित करने के लिए नए फर्नीचर और अन्य सुविधाओं के साथ मंच पर एक वीआईपी अतिथि कक्ष स्थापित किया गया है। सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अयोध्या मार्ग पर कम से कम एक दर्जन ट्रेनों को डायवर्ट किया जाएगा। लखनऊ-अयोध्या रेल मार्ग पर सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया जाएगा।

राष्ट्रपति राम जन्मभूमि मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद रामायण सम्मेलन और अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन करने वाले हैं। यात्रा के दौरान आठ अलग-अलग स्थलों पर 250 से अधिक कलाकार सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रस्तुति देंगे संयोग से, यह पहली बार है जब कोई राष्ट्रपति अयोध्या का दौरा कर रहे हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर