Bihar Chunav: पासवान की पार्टी में बड़ी टूट के आसार, चिराग से नाखुश चार LJP सांसद BJP के संपर्क में

देश
किशोर जोशी
Updated Sep 27, 2020 | 22:28 IST

बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही नेताओं के पार्टी बदलने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। इस बीच खबर आ रही है कि चिराग पासवान से नाखुश 4 लोजपा सांसद बीजेपी के संपर्क में हैं।

Bihar Election four LJP MPs Unhappy with Chirag Paswan in touch with BJP
Bihar: चिराग से नाखुश चार LJP सांसद बीजेपी के संपर्क में 

मुख्य बातें

  • रामविलास पासवान की लोकजनशक्ति पार्टी में टूट के आसार आ रहे हैं नजर
  • लोजपा के चार असंतुष्ट सांसद भाजपा के संपर्क में
  • चिराग पासवान की कार्यप्रणाली से नाखुश बताए जा रहे हैं ये सांसद

पटना: बिहार में एनडीए की सहयोग लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) में टूट के आसार नजर आ रहे हैं। पिछले काफी समय से जेडीयू से नाखुश नजर आ रहे चिराग पासवान अब खुद अपने ही घर में घरिते हुए नजर आ रहे हैं।  खबर है कि लोजपा के चार सांसद बिहार विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो यह निश्चित रूप से चिराग पासवान के लिए एक बड़ा झटका होगा।

पासवान की पार्टी में विद्रोह

 खबरों के मुताबिक, रामविलास पासवान की अनुपस्थिति में लोक जनशक्ति पार्टी के भीतर बड़े पैमाने पर विद्रोह छिड़ गया है। रामविलास पासवान पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे हैं और अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। जो खबर सामने आ रहा है उसके मुताबिक कम से कम चार लोजपा सांसद चिराग पासवान के की कार्यप्रणाली से नाखुश हैं जो अपने पिता की अनुपस्थिति में फिलहाल पार्टी का संचालन कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि सांसद भाजपा के संपर्क में हैं।

140 से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ना चाहते हैं चिराग

 टाइम्स नाउ के प्रशांत ने बताया कि चिराग पासवान आगामी चुनावों में कुल 243 में से 141 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहते हैं, लेकिन भाजपा और जदयू दोनों ही उन्हें कोई खास महत्व नहीं दे रहे हैं। 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी और जेडीयू ने क्रमश: 157 और 101 सीटों से चुनाव लड़ा था, जबकि एलजेपी ने सिर्फ 42 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे।

NDA एक, बिहार में फिर बनेगी सरकार: आरएस प्रसाद
इससे पहले शनिवार को केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि एनडीए बिहार विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज करेगी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में फिर से राज्य में सरकार बनाएगी। मीडिया से बात करते हुए, उन्होंने कहा, "हमारे पास भविष्य के लिए एक दृष्टिकोण है। बिहार के लोग इसे जानते हैं और आगे के विकास के लिए हमारे लिए वोट करेंगे। हमने बिहार में वर्चुअल रैलियां कीं और अत्यधिक सफल रहे। अन्य राजनीतिक दलों द्वारा भी इसकी नकल की गई लेकिन कुछ दल इस अभियान में विफल रहे।'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर