LIVE BLOG
More UpdatesMore Updates

PM Modi Kedarnath Visit : केदारनाथ में महादेव की भक्ति में PM मोदी, बोले-'अब पहाड़ का पानी और जवानी दोनों काम आएंगे'

Prime Minister Narendra Modi visits Kedarnath Updates : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को केदारनाथ के दौरे पर पहुंचे। केदारनाथ में पीएम मोदी का करीब चार घंटे का कार्यक्रम था। केदारनाथ मंदिर में प्रधानमंत्री ने भगवान शिव का रुद्राभिषेक किया और यहां के निर्माण कार्यों का जायजा लिया। इसके बाद उन्होंने आदि गुरु शंकराचार्य की प्रतिमा का अनावरण किया। पीएम ने यहां विकास कार्यों का उद्घाटन भी किया।
PM Modi Kedarnath Visit Live Updates
तस्वीर साभार:  ANI
केदारनाथ दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लाइव अपडेट्स

PM Modi unveils statue of Guru Shankaracharya : केदारनाथ में शंकराचार्य की 12 फीट लंबी और 35 टन वजन वाली प्रतिमा लगाई गई है। प्रधानमंत्री 2013 की प्राकृतिक आपदा में क्षतिग्रस्त हुए शंकराचार्य की समाधि स्थल का लोकार्पण किया। केदारनाथ में पीएम मोदी ने कहा कि जब भारत की जाति पंथ की सीमाओं से बाहर देखने की शंकाओं-आशंकाओं से ऊपर उठने की मानव जाति को जरूरत थी तब समाज में आदि शंकराचार्य ने चेतना फूंकी। उन्होंने तब कहा कि नाश-विनाश की शंकाएं,जाति-पाति के भेद से हमारी परंपरा का कोई लेना-देना नहीं है। आदि शंकर ने कहा कि आनंद स्वरूप शिव हमीं हैं। जीवत्व से ही शिवत्व है। समय के दायरे में बंधकर भारत को अब भयभीत होने की जरूरत नहीं है। 

Nov 05, 2021  |  11:08 AM (IST)
'अब पहाड़ का पानी और जवानी दोनों काम आएंगे'
मुझे विश्वास है कि जितनी ऊंचाइयों पर उत्तराखंड बसा है उससे भी अधिक ऊंचाई को उत्तराखंड हासिल करके रहेगा। कहा जाता है कि पहाड़ का पानी और जवानी उसके काम नहीं आता है लेकिन अब पहाड़ का पानी और जवानी दोनों यहां के काम आएंगे। बाबा केदार के आशीर्वाद के साथ हम आगे बढ़ें, देश को नई ऊंचाई पर ले जाने का हम संकल्प करें। मैं आप सभी को दिवाली, छठ पूजा एवं पर्वों के लिए शुभकामनाएं देता हूं। मेरे साथ बोलिए-जय केदार, जय केदार, जय केदार।
Nov 05, 2021  |  11:01 AM (IST)
चारो धाम राजमार्ग से जुड़ेंगे-पीएम 

आजादी के अमृत महोत्सव में हमें अपनी हजारों सालों की परंपरा को अनुभूति करने का समय है। गुलामी के कालखंड में हमारी महान चेतना ने हमें बांधकर रखा। एक नागरिक के तौर पर हमें पवित्र स्थानों का दर्शन करने के लिए जाना चाहिए। हमें स्थानों की महिमा जाननी चाहिए। चार धाम सड़क परियोजना पर तेजी से काम रहा है। चारो धाम राजमार्ग से जुड़ रहे हैं। केदारनाथ में आने वाले समय में श्रद्धालु कार से भी आ सकेंगे। हेमकुंड साहिब में रोपवे बनाने की तैयारी चल रही है। ऋषिकेश और कर्ण प्रयाग को रेल से जोड़ने पर काम चल रहा है। इससे उत्तराखंड के पर्यटन को बहुत लाभ होने वाला है। 21वीं सदी का तीसरा दशक उत्तराखंड का होने वाला है।   

Nov 05, 2021  |  10:44 AM (IST)
आदि शंकराचार्य ने भारत की चेतना में फिर से प्राण फूंके-PM
विद्वानों ने कहा है 'शंकरो शंकर: साक्षात'। अर्थात आदि शंकराचार्य भगवान शंकर का साक्षात रूप थे। बाल उम्र से ही शास्त्रों, ज्ञान, विज्ञान का निरंतर चिंतन उन्होंने किया। ये शंकर के भीतर साक्षात शंकरत्व का जागरण था। यहां संस्कृति एवं वेदों के बड़े-बड़े पंडित यहां बैठे हैं। शंकर का संस्कृत में अर्थ जो कल्याण करे वही शंकर है। इस कल्याण को भी आचार्य शंकर ने प्रत्यक्ष रूप से प्रमाणित कर दिया। उनका पूरा जीवन जितना असाधारण था उतना ही वह जनकल्याण के लिए समर्पित थे। भारत और विश्व के कल्याण के लिए वह अपनी चेतना समर्पित करते रहते थे। भारत जब अपनी एकजुटता को खो रहा था तब शंकराचार्य जी ने कहा था कि राग-द्वेष, लोभ-मोह, ईर्ष्या-अहम ये सब हमारा स्वभाव नहीं है। जब भारत की जाति पंथ की सीमाओं से बाहर देखने की शंकाओं-आशंकाओं से ऊपर उठने की मानव जाति को जरूरत थी तब समाज में उन्होंने चेतना फूंकी। उन्होंने तब कहा कि नाश-विनाश की शंकाएं, जाति-पाति के भेद से हमारी परंपरा का कोई लेना-देना नहीं है। आदि शंकर ने कहा कि आनंद स्वरूप शिव हमीं हैं। जीवत्व से ही शिवत्व है। अद्वैत का सिद्धांत जहां द्वैत नहीं वहीं तो अद्वैत है। शंकराचार्य ने भारत की चेतना में फिर से प्राण फूंके। हमें आर्थिक, परमार्थिक उन्नति का मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि दुख, कष्ट और कठिनाइयों से मुक्ति का एक ही मार्ग है, वह ज्ञान है। आदि शंकराचार्य ने भारतीय ज्ञान-मीमांसा में फिर से चेतना भर दी।
Nov 05, 2021  |  10:34 AM (IST)
 'विकास कार्यों की हकदार ईश्वर की कृपा है'

पीएम ने कहा-वर्षों पहले मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था लेकिन मैं अपने आप को रोक नहीं पाया था। त्रासदी के समय मैं यहां दौड़ा चला आया। साल 2013 की उस तबाही को मैंने देखा, उस दर्द को मैंने देखा। मेरे भीतर की आवाज कह रही थी कि पहले से अधिक आन-बान और शान से केदारनाथ खड़ा होगा। मेरा यह विश्वास बाबा केदार के कारण, आदि शंकराचार्य की तपस्या के कारण था। मुझे कच्छ को खड़ा करने का अनुभव था। यह संकल्प साकार हुआ है। यह देखने का मुझे सौभाग्य मिला है। इस पवित्र धरती ने कभी मुझे पाला पोसा था उसकी सेवा करने का सौभाग्य मिलना इससे बड़ा जीवन का सौभाग्य क्या होगा। इस भूमि पर आधुनिकता का मले, विकास के ये कार्य भगवान शिव की कृपा का परिणाम है। ईश्वर कृपा ही इसकी हकदार है। मैं इन पुनीत प्रयासों के लिए उत्तराखंड सरकार का, सीएम धामी जी का, इन कार्यों की जिम्मेदारी उठाने वाले सभी लोगों का आज हृदय से आभार देता हूं। मुझे पता है कि यहां बर्फबारी के बीच भी किस तरह काम करना पड़ता है।  

Nov 05, 2021  |  10:28 AM (IST)
केदरानाथ में 130 करोड़ रुपए की विकास योजनाओं का उद्घाटन
पीएम ने केदरानाथ में 130 करोड़ रुपए की विकास योजनाओं का उद्घाटन किया।
Nov 05, 2021  |  10:25 AM (IST)
केदारनाथ में लोगों को संबोधित कर रहे पीएम मोदी

केदारनाथ धाम में लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश इतना विशाल है, इतनी महान ऋषि परंपरा है। एक से बढ़कर एक तपस्वी आज भी भारत के हर कोने में आध्यात्मिक चेतना को जगाते रहते हैं। ऐसे संत आज हमारे साथ जुड़े हुए हैं। मैं इन सभी संतों को आदर पूर्वक प्रणाम करता हूं। इनके आशीर्वाद हमें शक्ति देंगे, इसका मुझे भरोसा है। हमारी उपनिषदों में आदि शंकराचार्य जी की रचनाओं में 'नेति नेति' कहकर एक विश्व भाव का विस्तार किया गया है। रामचरित मानस में भी इस बात को अलग तरह से दोहराया गया है। 'अविगत अकथ अपार' अर्थात कुछ अनुभव ऐसे होते हैं जिन्हें शब्दों में नहीं बयां किया जा सकता हैं। मैं यहां जब भी आता हूं तो यहां के कण-कण से मैं जुड़ जाता हूं। इसे बताने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है। दीपावली के मौके पर मैं सीमा पर अपने सैनिकों के साथ था, आज मैं सैनिकों की भूमि पर हूं। त्योहारों की खुशियां मैंने जवानों के साथ बांटी हैं। देशवासियों के प्रति उनका प्रेम और श्रद्धा को  लेकर मैं उनके बीच गया। गुजरात के लोगों के लिए आज नया वर्ष है। आज केदारनाथ में मुझे बाबा का दर्शन करने का सौभाग्य मिला है। 

Nov 05, 2021  |  09:53 AM (IST)
थोड़ी देर में लोगों को संबोधित करेंगे पीएम

शंकराचार्य की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद प्रधानमंत्री ने मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए चल रहे विकास कार्यों का जायजा लिया। उन्होंने यहां इंजीनियरों से बात की। कुछ देर बाद पीएम लोगों को संबोधित करेंगे। उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। 

Nov 05, 2021  |  09:33 AM (IST)
शंकराचार्य ने चार धामों की स्थापना की

आदि गुरु शंकराचार्य ने सनातन धर्म को प्रतिष्ठित करने में बड़ी भूमिका निभाई। कहते हैं सात साल की उम्र में ही उन्हें चारों वेदों का ज्ञान हो गया था। हिंदू धर्म के उत्थान के लिए उन्होंने चार धारों की स्थापना की। केदारनाथ में वह लंबे समय तक रहे। बताया जाता है कि 32 साल की उम्र में शंकराचार्य ने अपनी देह का त्याग कर दिया। 

Nov 05, 2021  |  09:22 AM (IST)
आदि गुरु शंकराचार्य की प्रतिमा का अनावरण
आदि गुरु शंकराचार्य की समाधि स्थल पर हैं। शंकराचार्य की यह प्रतिमा 12 फीट ऊंची है। मैसूर के अरुण योगीराज ने काले पत्थर से आदि शंकराचार्य की प्रतिमा बनाई है। पीएम मोदी ने शंकराचार्य की इस प्रतिमा का अनावरण किया है। प्रतिमा का अनावरण करने के बाद पीएम मोदी वहां नीचे बैठकर शंकराचार्य को नमन किया। शंकराचार्य की समाधि स्थल बाबा केदार के मंदिर के ठीक पीछे है। आदि शंकराचार्य को साक्षात भगवान शिव का अवतार माना जाता है।
Nov 05, 2021  |  09:12 AM (IST)
पीएम मोदी ने मंदिर की परिक्रमा की

पांचवीं बार प्रधानमंत्री मोदी केदारनाथ पहंचे हैं। उन्होंने बाबा को शहद, घी और बेलपत्र से रुद्राभिषेक किया। रुद्राभिषेक के बाद प्रधानमंत्री ने बाबा केदार की आरती उतारी। साल 2013 की बाढ़ के बाद यहां सुविधाएं काफी बढ़ गई हैं। पर्यटकों के लिए यहां कैंटीन, स्वास्थ्य सुविधाएं बनाई गई हैं। केदारनाथ मंदिर देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। कहा जाता है कि मोक्ष का रास्ता यहीं से जाता है।   

Nov 05, 2021  |  08:52 AM (IST)
केदारनाथ मंदिर में महादेव का रुद्राभिषेक कर रहे PM मोदी
केदारनाथ धाम पहुंचने के बाद प्रधानमंत्री मोदी भगवान शिव की भक्ति में लीन हो गए हैं। केदारनाथ मंदिर की परिक्रमा करने के बाद प्रधानमंत्री मंदिर के गर्भ गृह में हैं और भगवान शिव की आराधना कर रहे हैं। पीएम ने भगवान शिव का रुद्राभिषेक किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां करीब दो घंटे तक रहेंगे। इसके बाद वह केदारनाथ में विकास की कई योजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास करेंगे।
Nov 05, 2021  |  08:44 AM (IST)
केदारनाथ का हुआ है काया कल्प

पिछले कुछ सालों से केदारनाथ में विकास के बहुत सारे कार्य हुए हैं। देश भर से श्रद्धालु यहां आसानी से पहुंच रहे हैं। पर्यटकों के लिए हेलिकॉप्टर सेवा, प्राथमिक उपचार केंद्र की शुरुआत हुई है। पीएम मोदी केदारनाथ की परियोजनाओं के बारे में काफी रुचि लेते हैं। वह समय समय पर विकास कार्यों का जायजा लेते रहे हैं।  

Nov 05, 2021  |  08:34 AM (IST)
केदारनाथ धाम में दो घंटे रहेंगे पीएम
केदारनाथ धाम में पीएम मोदी ने पूजन अर्चन कर लिया है। इसके बाद वह आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति का अनावरण करेंगे। केदारनाथ थाम में पीएम मोदी करीब दो घंटे तक रहने वाले हैं। इसके बाद वह कई करोड़ की योजनाओं का सौगात देंगे। पीएम मोदी की इस यात्रा को देखते हुए केदारनाथ में सुरक्षा की भारी व्यवस्था की गई है। इस जगह के पर्यटकों से पहले खाली करा लिया गया है। केदारनाथ धाम में पीएम मोदी का यह पांचवां दौरा है।
Nov 05, 2021  |  08:26 AM (IST)
बाढ़ से केदारनाथ को पहुंची थी भारी क्षति 

उत्तराखंड में 2013 में भीषण बाढ़ आई थी। इस बाढ़ में केदारनाथ को भारी क्षति पहुंची थी। केदारनाथ के पुनरोद्धार के लिए कई विकास योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिनमें से कई पूरी हो गई हैं। प्रधानमंत्री पूरी हो चुकीं विकास योजनाओं का उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा पीएम आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति का अनावरण एवं उनकी समाधि स्थल का लोकार्पण करेंगे।  

Nov 05, 2021  |  08:22 AM (IST)
केदारनाथ मंदिर पहुंचे पीएम मोदी
प्रधानमंत्री मोदी केदारनाथ पहुंच गए हैं। केदारनाथ मंदिर में वह पूजा अर्चन करेंगे। इसके थोड़ी देर बाद वह आदि शंकराचार्य समाधि स्थल का लोकार्पण करेंगे। पीएम यहां विकास की कई योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे।
Nov 05, 2021  |  08:19 AM (IST)
देहरादून पहुंचे पीएम मोदी
प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार सुबह देहरादून एयरपोर्ट पहुंचे, जहां उनका स्वागत एवं अगवानी उत्तराखंड के गवर्नर लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (रिटायर्ड) एवं मुख्यमंत्री पुष्कार सिंह धामी ने किया। यहां से पीएम मोदी केदारनाथ के लिए रवाना होंगे।
Nov 05, 2021  |  08:18 AM (IST)
केदारनाथ में पीएम का कार्यक्रम 

केदारनाथ में प्रधानमंत्री का कार्यक्रम कुछ इस प्रकार है-

7:45 बजे केदारनाथ धाम पहुंचेंगे पीएम मोदी
8 बजे केदारनाथ मंदिर पहुंचेंगे पीएम 
8 से 8:30 बजे तक केदारनाथ मंदिर में पूजा अर्चना करेंगे
8:35 बजे से समाधि स्थल पहुंचेंगे पीएम 
8:35 से 9:30 तक आदिगुरु शंकराचार्य की समाधि का अनावरण 
9:30 बजे संगम घाट पहुंचेंगे पीएम मोदी
9:40 से 10:30 केदारनाथ धाम में विभिन्न पुनर्निर्माण कार्यो का शिलान्यास व लोकार्पण करेंगे पीएम
11:15 बजे केदारनाथ धाम से  वापस जॉलीग्रांट एयरपोर्ट के लिए रवाना होंगे पीएम
 

Nov 05, 2021  |  08:18 AM (IST)
सीएम धामी ने कहा-पीएम का स्वागत करने के लिए तैयार

मुख्यमंत्री धामी ने गुरुवार को को कहा कि सभी प्रधानमंत्री का स्वागत करने के लिए तैयार हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह प्रधानमंत्री के आगमन से पहले तैयारियां देखने आए थे और सभी तैयारियां बेहतर हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की बाबा केदार के प्रति विशेष आस्था और श्रद्धा है और उनका उत्तराखंड को दुनिया की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक राजधानी के तौर पर विकसित करने का 'विजन' है जहां पूरी दुनिया के लोग आध्यात्मिक शांति के लिए आएंगे। धामी ने कहा, ''आधुनिक इतिहास में पहली बार इतने बड़े पैमाने पर केदारनाथ धाम का पुनर्निर्माण किया जा रहा है। सरस्वती घाट और आस्था पथ के निर्माण जैसे पहले चरण के काम हो चुके हैं जबकि दूसरे चरण के काम शुरू हो रहे हैं।''