इतने क्यों बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दाम? मिल गया जवाब, पेट्रोलियम मंत्री ने गिना दिए कारण, जान लीजिए

देश
Updated Jun 13, 2021 | 16:36 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बताया है कि आखिर क्यों पेट्रोल और डीजल के दामों में इतनी ज्यादा बढ़ोतरी हो रही है। उन्होंने कई कारण गिनाए हैं। पेट्रोल-डीजल के दामों में बेहताशा वृद्धि हो रही है।

Dharmendra Pradhan
पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • पेट्रोल-डीजल के दामों में बेहताशा वृद्धि देखने को मिल रही है
  • 4 मई के बाद से लगातार बढ़ रहे हैं पेट्रोल-डीजल के दाम
  • केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कई कारण गिनाकर इस वृद्धि का बचाव किया है

नई दिल्ली: देश में पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। कई जगह पेट्रोल 100 रुपए से ऊपर प्रति लीटर मिल रहा है, वहीं कुछ जगह डीजल भी 100 रुपए के ऊपर पहुंच गया है। विपक्ष द्वारा सरकार पर लगातार हमला किया जा रहा है। 11 जून को कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन किया। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने केंद्र सरकार पर महामारी के समय पेट्रोल-डीजल पर कर बढ़ाकर जनता के साथ लूट का आरोप लगाया।

मंत्री जी ने गिनाए कारण- इसलिए बढ़ रहे दाम

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है, 'मैं स्वीकार करता हूं कि मौजूदा ईंधन की कीमतें लोगों को दिक्कतें दे रही हैं, लेकिन केंद्र हो या राज्य सरकार, एक साल में टीकों पर 35,000 करोड़ रुपए से अधिक खर्च किए जा रहे हैं। अभी-अभी 1 लाख करोड़ रुपए खर्च करके प्रधानमंत्री जी ने मुफ्त खाद्यान देने के लिए गरीब कल्याण योजना शुरू की है, पीएम किसान में हजारों करोड़ रुपया सीधे किसानों के बैंक खाते में जा रहा है। अभी-अभी किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए चावलों और गेंहू की एमएसपी की घोषणा की गई, ये सारे खर्च और देश में रोजगार सृजन के लिए, विकास के लिए निवेश की आवश्यकता हो रही है। ऐसे कठिन समय में हम कल्याणकारी योजनाओं पर खर्च करने के लिए पैसे बचा रहे हैं।' 

राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए प्रधान ने कहा कि राहुल गांधी को जवाब देना चाहिए कि पंजाब, राजस्थान और महाराष्ट्र जैसे कांग्रेस शासित राज्यों में ईंधन की कीमतें अधिक क्यों हैं। अगर उन्हें गरीबों की इतनी ही चिंता है तो उन्हें महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को कर कम करने का निर्देश देना चाहिए क्योंकि मुंबई में कीमतें बहुत अधिक हैं।

राजस्थान में वैट की दर सबसे ऊंची

पिछले महीने की चार तारीख के बाद पेट्रोलियम उत्पादों के दामों में 23 बार वृद्धि की गई है जिससे राजस्थान में डीजल 100 रुपए/लीटर और कर्नाटक में पेट्रोल का भाव भी 100 रुपए/लीटर पर पहुंच गया है। कर्नाटक ऐसा सातवां राज्य हो गया है जहां पेट्रोल का भाव 100 रुपए को छू गया है या उससे ऊपर पहुंच गया है। राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल देश में सबसे ऊंची दर पर बिक रहा है। वहां पेट्रोल का भाव 107.22 और डीजल 100.05 के भाव मिल रहा है। वहां प्रीमियम पेट्रोल की दर 110.50 और प्रीमियम डीजल की दर 103.72 रुपए प्रति लीटर है। राजस्थान में वैट की दर सबसे ऊंची है। 

मुंबई में पेट्रोल और डीजल के भाव 102.30 रुपए और 94.39 रुपये प्रति लीटर है। चार मई के बाद 23 बार की बढ़ोतरी में पेट्रोल 5.72 रुपए और डीजल 6.25 रुपए महंगा हो चुका है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर