Rhea Chakraborty: रिया चक्रवर्ती का बैंक खाता हुआ डीफ्रीज, कोर्ट ने दिए गैजेट्स लौटाने के आदेश

Rhea Chakraborty: सुशांत सिंह राजपूत की मौत से संबंधित ड्रग मामले में रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी के लगभग एक साल बाद मुंबई में एक विशेष NDPS कोर्ट ने जांच के दौरान जब्त किए गए एक्ट्रेस के बैंक खातों और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को डी-फ्रीज करने की अनुमति दी।

Rhea Chakraborty
रिया चक्रवर्ती 
मुख्य बातें
  • रिया चक्रवर्ती को कोर्ट से राहत मिली है
  • रिया अब बैंक खाते का इस्तेमाल कर सकेंगी
  • NCB रिया का फोन, लैपटॉप भी वापस करेगी

Rhea Chakraborty Case: बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से संबंधित ड्रग मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) द्वारा गिरफ्तार किए जाने के एक साल बाद एक विशेष अदालत ने एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती को राहत दी है। विशेष एनडीपीएस अदालत ने रिया चक्रवर्ती के आवेदन पर उनके बैंक खाते को डीफ्रीज करने और पिछले साल जब्त किए गए गैजेट्स को वापस करने की अनुमति दी है। अदालत ने दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच के दौरान जब्त किए गए रिया के लैपटॉप, मोबाइल फोन और अन्य गैजेट्स को वापस करने का आदेश दिया है।

एनसीबी ने पिछले साल रिया के भाई और कथित ड्रग तस्करों सहित दो दर्जन से अधिक अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया था। बाद में रिया चक्रवर्ती और उनके  भाई जमानत पर रिहा हो गए थे। 

सुशांत सिंह राजपूत 14 जून, 2020 को मुंबई में अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) रिया चक्रवर्ती के खिलाफ आत्महत्या के आरोपों की अलग से जांच कर रही है। राजपूत के परिवार ने उन पर कथित तौर पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया था। राजपूत के पिता केके सिंह ने पिछले साल चक्रवर्ती, उनके माता-पिता और भाई शोभिक के खिलाफ पटना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अगस्त 2020 में जांच अपने हाथ में ली थी। दो अन्य एजेंसियां- प्रवर्तन निदेशालय और एनसीबी भी मामले के विभिन्न पहलुओं की जांच कर रही हैं।

रिया चक्रवर्ती ने अपने बैंक खातों को डीफ्रीज कराने के संबंध में अपने पहले आवेदन में कहा कि एनसीबी ने बिना किसी कारण के उनके खाते फ्रीज कर दिया और कहा कि कार्रवाई अन्यायपूर्ण थी और इससे उनके प्रति पूर्वाग्रह पैदा हुआ। उन्होंने कहा कि उसे अपने करों का भुगतान करने के लिए बैंक खातों की आवश्यकता है, इसके अलावा अपने छोटे भाई की देखभाल करने के लिए और  बाकी कामों के लिए भी पैसे की जरूरत है।

चक्रवर्ती के वकील ने तर्क दिया कि मामले को निपटाने में समय लगेगा और बैंक खातों को फ्रीज करना अनावश्यक है। एनसीबी का प्रतिनिधित्व करने वाले विशेष लोक अभियोजक अतुल सरपांडे ने कहा कि मामले में वित्तीय जांच चल रही है। उन्होंने कहा कि अगर खातों को फ्रीज नहीं किया जाता है, तो जांच में बाधा आ सकती है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर