पुतिन का दौरा छोटा, लेकिन बहुत अच्छा रहा, 28 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए: MEA

Vladimir Putin India visit: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के भारत दौरे पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि पुतिन का दौरा छोटा रहा, लेकिन बहुत अच्छा रहा। दोनों देशों के बीच 28 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए।

modi putin
मोदी और पुतिन की मुलाकात 
मुख्य बातें
  • राष्ट्रपति पुतिन की यात्रा छोटी लेकिन अत्यधिक सफल और महत्वपूर्ण है: विदेश मंत्रालय
  • इस यात्रा के दौरान 28 करारों/समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए
  • वार्ता में द्विपक्षीय व्यापार और निवेश को बढ़ाने पर प्रमुखता से विचार किया गया: MEA

Modi-Putin Meet: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन  भारत दौरे पर आए और उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इसके बाद विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि भारत और रूस के बीच 28 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। राष्ट्रपति पुतिन का भारत दौरा बहुत सफल रहा। राष्ट्रपति पुतिन की यात्रा छोटी लेकिन अत्यधिक उत्पादक और महत्वपूर्ण है। दोनों नेताओं के बीच बेहतरीन बातचीत हुई। भारत-रूस सैन्य सहयोग 2031 तक बढ़ाने का फैसला किया गया। आवश्यक वस्तुओं को लेकर भी समझौता हुआ। कोविड के बाद पुतिन का ये विदेशी दौरा है। दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी मजबूत करने पर सहमति बनी।

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि तथ्य यह है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हमारे वार्षिक शिखर सम्मेलन के लिए भारत का दौरा करने का फैसला किया है, यह इस बात का संकेत है कि वह द्विपक्षीय संबंधों और पीएम नरेंद्र मोदी के साथ उनके व्यक्तिगत संबंधों को कितना महत्व देते हैं। दोनों नेताओं के बीच तमाम मुद्दों पर चर्चा हुई। व्यापार और आर्थिक सहयोग बढ़ाने पर चर्चा हुई। इस साल हमने पिछले साल की तुलना में हमारे व्यापार में वृद्धि की एक उत्साहजनक प्रवृत्ति देखी है। दोनों पक्ष व्यापार और निवेश में निरंतर वृद्धि की आशा कर रहे हैं। हमने तेल और गैस क्षेत्र के साथ-साथ पेट्रोरसायन के क्षेत्र में और निवेश में रुचि व्यक्त की है। 

उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं के बीच क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई। अफगानिस्तान की स्थिति पर भी बात हुई। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई पर बात हुई। अफगानिस्तान की धरती का उपयोग आतंकवाद के लिए न हो। आईएसआईएस, लश्कर और अलकायदा के खतरों पर बात हुई।  

पीएम मोदी ने रूस में भारतीय समुदाय के कल्याण के लिए (खासकर कोविड महामारी के दौरान) राष्ट्रपति पुतिन को धन्यवाद दिया। दोनों नेताओं ने हमारे नागरिकों द्वारा एक दूसरे के देशों में आसान यात्रा को सक्षम करने के लिए वैक्सीन सर्टिफिकेशन की पारस्परिक मान्यता की आवश्यकता पर चर्चा की। हम रूस के साथ अपनी बौद्ध चीजों को गहन करने पर विचार कर रहे हैं। रूस में स्पष्ट रूप से 15 मिलियन बौद्ध हैं। यह समुदाय तीर्थयात्रा और रुचि के अन्य क्षेत्रों के लिए भारत को देखने का इच्छुक है। इसलिए सांस्कृतिक सहयोग भी दोनों देशों के लिए महत्वपूर्ण है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर