Oxygen Issue: ऑक्सीजन में नंबर वन फिर भी संकट का करना पड़ा सामना, प्रियंका गांधी बोलीं- सवाल तो बनता है

देश
ललित राय
Updated May 29, 2021 | 15:55 IST

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि ऑक्सीजन के मामले में जब देश नंबर वन है फिर भी कमी हो गई। एक तरह से हालात बेकाबू हो गए। ऐसे में केंद्र सरकार को जवाब तो देना ही होगा।

Oxygen Issue: ऑक्सीजन में नंबर फिर भी संकट का करना पड़ा सामना, प्रियंका गांधी बोलीं- सवाल तो बनता है
ऑक्सीजन के मुद्दे पर प्रियंका गांधी ने एक बार फिर केंद्र सरकार को घेरा 

मुख्य बातें

  • ऑक्सीजन उत्पादन में नंबर एक का दावा फिर भी संकट का करना पड़ा सामना, प्रियंका गांधी ने साधा निशाना
  • प्रियंका गांधी बोलीं- सरकार को तो जवाब देना ही होगा
  • आखिर जिनके परिजन ऑक्सीजन की कमी से मर गए उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को देश में कोरोनोवायरस की दूसरी लहर के दौरान चिकित्सा ऑक्सीजन संकट के लिए सरकार की कथित अक्षमता और योजना की कमी को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से जिन लोगों ने अपनी जिंदगी जिन लोगों ने खो दी उनके परिजनों को तो जवाब देना चाहिए। 

जो जिम्मेदार है वो दे जवाब
प्रियंका गांधी ने कहा कि आखिर जिम्मेदार कौन है। वो इस विषय पर अभियान चला रही हैं और उसी क्रम में सरकार से लगातार सवाल पूछ रही हैं।  सत्तारूढ़ सरकार के लिए अपने कार्यों के लिए जवाब देने का समय है।उन्होंने आरोप लगाया कि भारत ने अपने ऑक्सीजन निर्यात में 2020 के दौरान 700 प्रतिशत की वृद्धि की और ऑक्सीजन आयात करने के लिए कोई प्रयास नहीं किया जब देश में दूसरी कोविड लहर के दौरान मांग आसमान छू गई।

ऑक्सीजन संकट के लिए मोदी सरकार ही जिम्मेदार
एक फेसबुक पोस्ट में कहा, "यह स्पष्ट है कि मोदी सरकार की योजना और अक्षमता की कमी ऑक्सीजन की कमी के लिए जिम्मेदार है जिसने दूसरी लहर में जीवन को तबाह कर दिया। अब, उनके लिए जनता को जवाब देने का समय आ गया है।उसने पूछा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए "कोई आकस्मिक योजना" क्यों नहीं थी।"अधिकार प्राप्त समूह-VI की सलाह को सरसरी तौर पर नज़रअंदाज़ क्यों किया गया? क्रायोजेनिक टैंकरों की संख्या बढ़ाने के लिए कोई प्रावधान क्यों नहीं किया गया, जब सभी खातों में एक दूसरी लहर आसन्न थी?" उसने पूछा।

राज्य अपनी परेशानी बताते रहे, केंद्र सरकार खामोश रही
जैसे ही देश भर में कोविड की दूसरी लहर फैल गई, लगभग हर राज्य ने ऑक्सीजन की कमी की सूचना देना शुरू कर दिया और कई लोग हवा के लिए हांफते हुए मर गए। "भारत भर के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के लिए कौन जिम्मेदार है?"उन्होंने पूछा, "स्वास्थ्य संबंधी संसदीय समिति की सिफारिशों को क्यों नजरअंदाज किया गया। और ऑक्सीजन सिलेंडरों की कीमत और उनकी रिफिलिंग पर कोई नियंत्रण नहीं था।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर