Noida Clusters: जानें नोएडा के वो 7 क्लस्टर्स जहां लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले

देश
लव रघुवंशी
Updated May 23, 2020 | 08:31 IST

Noida Clusters list: नोएडा में 7 क्लस्टर्स की पहचान की गई है, जहां कोरोना के कई मामले हैं। इन 7 क्लस्टर्स में कुल 72 मामले हैं। इन क्षेत्रों पर अब अलग से ध्यान दिया जाएगा।

Noida
नोएडा में कोरोना के 300 से ज्यादा केस 

मुख्य बातें

  • नोएडा के 7 क्लस्टर में कोरोना के 72 मामले सामने आए हैं
  • नोएडा में कुल मामले बढ़कर 307 हो गए हैं
  • अभी तक 214 मरीज कोरोना से ठीक हो गए हैं, 5 की मौत हुई है

नोएडा: गौतमबुद्धनगर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने नोएडा में उन 7 क्लस्टर की पहचान की है, जहां कोविड-19 के कई मामले रिपोर्ट किए गए हैं। इन  क्षेत्रों के लिए गहन निगरानी और सैनेटाइज अभियान की योजना बनाई गई है। इन स्थानों पर चिकित्सा शिविर लगाए गए हैं ताकि हर कोई वहां जाकर इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी (ILI) के लक्षणों की डॉक्टरों से जांच करा सके। 

'द टाइम्स ऑफ इंडिया' के अनुसार, अधिकारियों ने कहा कि सात क्षेत्रों के लिए एक अलग स्वास्थ्य रणनीति तैयार की गई है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि नोएडा में खोड़ा जैसी स्थिति से बचा जा सके। गाजियाबाद में खोड़ा अब तक कोविड-19 के 30 मामले सामने आ चुके हैं।

नोएडा में जो 7 क्लस्टर हैं, वो हैं- जेजे कॉलोनी (सेक्टर 5, 8, 9 और 10) सेक्टर 66 के पास ममुरा, सेक्टर 5 के पास हरोला और नोएडा के फेज 2 में नगला चरणदास। हालांकि इस सूची में सेक्टर 30 और सेक्टर 31 में निठारी को शामिल नहीं किया गया है, दोनों ही जगहों से कई मामले सामने आए हैं। इन दोनों स्थानों के अधिकांश मामलों में स्वास्थ्यकर्मी हैं।

जिला मजिस्ट्रेट सुहास एल.वाई ने कहा, 'इन सात क्षेत्रों में चुनौती यह है कि सोशल डिस्टेंसिंग बहुत मुश्किल है। यह भी कारण है कि मामले बढ़ रहे हैं। एकमात्र समाधान प्रारंभिक पहचान है। इसीलिए, हम स्वास्थ्य शिविर लगाएंगे ताकि डॉक्टर सभी की जांच कर सकें और हम अधिक से अधिक लोगों की पहचान कर सकें। शुरुआती पहचान बेहतर इलाज में मदद करती है और मृत्यु दर को कम करती है।'

उन्होंने कहा कि प्रशासन गैर-सरकारी संगठनों (NGOs) से भी बात कर रहा है जो इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविरों और जागरूकता अभियानों के लिए निजी अस्पतालों के डॉक्टरों के साथ भागीदारी कर सकते हैं। अधिकारियों ने कहा कि खाद्य वितरण से जुड़े कई गैर सरकारी संगठन प्रशासन के संपर्क में हैं और इन क्षेत्रों में अन्य काम से जुड़ना चाहते हैं। हम उन्हें कुछ हॉटस्पॉट और ग्रामीण समूहों में स्वास्थ्य शिविर लगाने में मदद करने के लिए कह रहे हैं।

नोएडा में 63 कंटेनमेंट जोन

इसके अलावा गौतमबुद्धनगर में कोरोना वायरस के मरीजों का आंकड़ा बढ़ने के साथ ही यहां कंटेनमेंट जोन की संख्या में भी लगातार वृद्धि हो रही है। वर्तमान में जिले में कुल 63 कंटेनमेंट जोन हैं। कंटेनमेंट जोन को जारी की गई सूची में दो श्रेणी प्रथम व द्वितीय में बांटा गया है। इसके अनुसार, प्रथम श्रेणी में 37 और द्वितीय श्रेणी में कुल 26 कंटेनमेंट जोन है। प्रथम श्रेणी का दायरा 250 मीटर, जबकि दूसरी श्रेणी वाले कंटेनमेंट जोन का दायरा 500 मीटर का होगा। 

जनपद में अब तक कोविड-19 से संक्रमित 307 मरीज पाए गए हैं, जिनमें 214 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं और 88 मरीजों का यहां के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से पांच लोगों की मौत हो चुकी है।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर