Logtantra:अगले डेढ़ साल में 10 लाख जॉब देने की तैयारी में मोदी सरकार, विपक्ष ने कस दिया तंज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निर्देश दिया है कि इस काम को मिशन मोड में किया जाए, सरकारी सूत्रों ने यह बात कही और मंगलवार को अग्निपथ योजना की घोषणा, हर साल 46,000 युवाओं को सशस्त्र बलों में लाने के लिए, इसे एक दिन में दो निर्णय लें जिससे युवाओं और देश को फायदा होगा।

 jobs in India
अगले डेढ़ साल में 10  लाख जॉब देने की तैयारी में मोदी सरकार 

आज सबसे पहले आपसे जुड़ी बहुत एक बड़ी खबर बताने से पहले मैं ये कहना चाहूंगा कि मैं बहुत खुशनसीब हूं.. क्योंकि मेरे पास एक नौकरी है.. क्योंकि देश में बेरोजगारी दर 7.2 फीसदी है.. देश का युवा परेशान है.. लेकिन केंद्र सरकार ने आज बेरोजगार युवा को एक बिग गुड न्यूज दी.. अगले 18 महीने में 10 लाख युवाओं को रोजगार देने का ऐलान किया..वो ख़बर आपको विस्तार से दिखाऊंगा लेकिन उससे पहले आपको दो तस्वीरें दिखाते हैं

जिस वक्त केंद्र सरकार ने ये ऐलान किया.. उसी वक्त कुछ युवक नागपुर से दिल्ली के रास्ते पर चल रहे हैं.. वो भी पैदल.. भीषण गर्मी में ये युवा-युवतियां नौकरी के नाम दिल्ली कूच कर रहे हैं.. क्योंकि ये सिस्टम के मारे हैं.. मोदी सरकार अगले 1.5 साल में नौकरियां तो देंगी... लेकिन उससे पहले इन लोगों की बात सुनने की जरूरत है.. 

  • परीक्षा पास की.. फिर भी बेरोजगार
  • नौकरी के लिए 1000 किमी की दौड़ ! 
  • सिस्टम का मारा...बेरोजगार बेचारा 
  • 100 युवकों ने ठाना...दिल्ली है जाना 
  • पेड़ के नीचे डेरा..मंदिर में बसेरा ! 

ये दौड़ नौकरी की है.. ये जद्दोजेहद रोजगार की है, परिवार पालने का सवाल है.. इसीलिए 1000 किलोमीटर का सफर तय करना है.. मां बाप को कहकर निकले थे कि दो जून की रोटी का इंतजाम कर के आएंगे.. सरकारी नौकरी के बिना नहीं लौटेंगे..लेकिन सिस्टम ने ऐसा मारा की गश खाकर गिर गए.. लेकिन हौसला अभी भी नहीं टूटा है.. चार साथी टांगकर आगे बढ़ रहे हैं.. 

40 युवा सिस्टम से परेशान होकर दिल्ली के लिए कूच कर गए

महाराष्ट्र के नागपुर से 40 युवा सिस्टम से परेशान होकर दिल्ली के लिए कूच कर गए.. निकले तो चंद लोग थे लेकिन जहां से गुजरे.. सिस्टम के मारे लोग साथ आते गए और कारवां बनता गया.. करीब 100 युवक 150 किलोमीटर का सफर तय कर चुके हैं.. कहीं मंदिर में डेरा डाल लेते हैं.. तो कहीं पेड़ के नीचे.. लेकिन तय किया है कि दिल्ली जाना ही है.. सरकार तक अपनी बात पहुंचानी ही है।

देश का युवा सड़क पर अपने हक के लिए मार्च कर रहा है

सरकार की बेरुखी से तंग आकर मध्यप्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़ और देश के अलग अलग शहरों से युवा नागपुर के संविधान चौक पर जुटे.. और दिल्ली के लिए कूच कर दिया.. इस चिलचिलाती धूप में जब आप और हम अपने घरों में बैठे हैं.. देश का युवा सड़क पर अपने हक के लिए मार्च कर रहा है.. 

देश का युवा बेरोजगार न रहे.. दर-दर की ठोकरें न खाए.. इसीलिए केंद्र सरकार ने बड़ा ऐलान किया.. 18 महीने में 10 लाख नौकरियां देने का.. यानी 2023 तक 10 लाख बेरोजगार दो वक्त की रोटी कमाने लायक हो जाएगा.. अब इसके लिए मोदी सरकार क्या कर रही है.. क्या एक्शन प्लान है.. और किन विभागों में नौकरियां निकल सकती है

केंद्र सरकार के अलग अलग विभागों में 8.72 लाख पद खाली पड़े हैं- 

कार्मिक मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने सरकार की तरफ से संसद में ये इसी वर्ष 3 फरवरी को राज्यसभा में ये जानकारी दी थी
एक मार्च 2018 तक केंद्र सरकार के विभागों मंत्रालयों में कुल 6,83,823 पद खाली पड़े थे. 
एक मार्च 2019 तक सरकार के 9,19,153 पद खाली पड़े थे 
एक मार्च 2020 तक 8,72,243 सरकारी मंत्रालयों और विभागों में पद खाली पड़े थे
ताजा आंकड़ों के हिसाब से अलग अलग विभाग में बताएं तो 
रेलवे में खाली पद 2.3 लाख
डिफेंस- 2.5 लाख
होम अफेयर्स- 1.3 लाख
डाक विभाग- 90 हजार
रेवेन्यू डिपार्टमेंट- 74 हजार

देखना होगा कि प्रधानमंत्री का ये टारगेट पूरा हो पाएगा या नहीं?

रणदीप सुरजेवाला दावा कर रहे हैं कि देश में 28 लाख नौकरियां हैं.. रणदीज सुरजेवाला ने एक चार्ट ट्वीट किया जिसमें खाली पदों को लेकर डाटा था.. रणदीप सुरजेवाला ने जो आंकड़े ट्वीट किए हैं वो साल 2018 से लेकर 2020 तक के हैं.. जिनमें अब काफी बदलाव हो चुका है.. वैसे केंद्र सरकार का ये कदम युवाओं के लिए बड़ी खुशखबरी है.. लेकिन केंद्र सरकार के सामने चुनौती भी बड़ी है.. इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये काम मिशन मोड में करने को बोला है.. क्योंकि 18 महीने में 10 लाख नौकरियां का मतलब.. एक दिन में 2560 लोगों को बहाल करना... अब देखना होगा कि प्रधानमंत्री का ये टारगेट पूरा हो पाएगा या नहीं.. 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर