महज  7500 रुपये में वेंटिलेटर, महिंद्रा एंड महिंद्रा ने किया ये बड़ा ऐलान,कोरोना से लड़ने में आएगा काम

कोरोना से निपटने की लड़ाई में महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप आगे आया है और बेहत सस्ते वेंटीलेटर बनाने की बात कह रहा है जिसती अभी कीमत 5 से 10 लाख के बीच है।

ambu bag
कोरोना वायरस के मौजूदा संकट में ये 'अंबु बैग' संक्रमित मरीजों की जान बचाने के लिए यह बेहद अहम होता है 

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में सरकार तो हर संभव मदद कर रही है वहीं कई प्राइवेट कंपनियां भी संकट की इस घड़ी में सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ रही हैं। बताया जा रहा है कि कोरोना के संक्रमण से जूझने के लिए महिंद्रा एंड महिंद्रा ने बड़ी घोषणा की है जिससे मरीजों को खासी राहत मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

कंपनी ने कहा है कि वह केवल 7,500 रुपये में वेंटिलेटर पेश कर सकती है गौरतलब है कि अभी वेंटिलेटर की कॉस्ट लगभग 5 लाख से 10 लाख रुपये तक होती है।

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर बताया, 'हम देशी आईसीयू वेटिंलेटर पर भी काम कर रहे हैं। इन मशीनों की कीमत 5 से 10 लाख रुपये तक है...

कंपनी ने कहा है कि वह ऑटोमेटेड वॉल्व मास्क वेंटिलेटर, जिसे आमतौर पर 'अंबु बैग' भी कहा जाता है, का प्रोटोटाइप को तीन दिन में अप्रूवल के लिए पेश कर सकती है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के मौजूदा संकट में ये 'अंबु बैग' संक्रमित मरीजों की जान बचाने के लिए यह बेहद अहम होता है। 

इससे पहले एमएंडएम के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका ने कहा कि कंपनी डिजाइन को सरल बनाने और क्षमता को बढ़ाने के लिए दो बड़े सार्वजनिक उपक्रमों के साथ उनकी मदद करने के लिए हाई स्पेक वेंटिलेटर के मौजूदा निर्माता के साथ भी काम कर रही है। 

ट्वीट्स की एक श्रृंखला में, उन्होंने आगे कहा कि हम इस पर काम कर रहे हैं वेंटिलेटर (आमतौर पर अम्बु बैग के रूप में जाना जाता है)  के प्रोटोटाइप की उम्मीद कर रहे हैं।

विशेषज्ञों के फीडबैक और  रिसर्च के आधार पर टीमें प्रोटोटाइप पर काम करेंगी, ये नए प्रोटोटाइप वज़न में हल्के और साइज़ में ज़्यादा कॉम्पैक्ट होंगे।


 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...