कंगना के दफ्तर पर BMC की कार्रवाई से गवर्नर कोश्यारी नाखुश, केंद्र को भेजेंगे रिपोर्ट!

Bhagat Singh Koshyari: महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्वारी अभिनेत्री कंगना रनौत के दफ्तर पर हुई बीएमसी की कार्रवाई से नाराज बताए जा रहे हैं। राज्यपाल इस बारे में केंद्र को अपनी रिपोर्ट भेज सकते हैं।

Maharashtra Governor summons top official citing displeasure over BMC action over Kangana office
कंगना के दफ्तर BMC की कार्रवाई से गवर्नर कोश्यारी नाखुश।  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • बीएमसी ने बुधवार को पाली हिल स्थित कंगना रनौत के दफ्तर पर चलाया बुलडोजर
  • बताया जा रहा है कि बीएमसी की इस कार्रवाई से राज्यपाल कोश्यारी नाराज है
  • राज्यपाल ने सरकार के शीर्ष अधिकारियों को तलब किया है, केंद्र को भेज सकते हैं रिपोर्ट

मुंबई : अभिनेत्री कंगना रनौत के मुंबई के पाली हिल स्थित दफ्तर पर बीएमसी की कार्रवाई पर राज्यपाल भगत सिंह कोश्वारी नाखुश है। बताया जा रहा है कि उद्धव सरकार के शीर्ष अधिकारियों का तलब किया है। चर्चा यह भी है कि राज्यपाल कोश्यारी इस बारे में अपनी रिपोर्ट में केंद्र सरकार को भेज सकते हैं। उद्धव ठाकरे के मुख्य सलाहकार अजय मेहता राज्यपाल से मिलेंगे और कंगना के दफ्तर पर बीएमसी द्वारा बुलडोजर चलाए जाने पर स्पष्टीकरण देंगे। बता दें कि कंगना के दफ्तर पर कार्रवाई को लेकर शिवसेना की चौतरफा आलोचना हो रही है।

कार्रवाई के समय पर उठ रहे सवाल
बीएमसी की इस कार्रवाई के समय पर सबसे ज्यादा सवाल उठ रहे हैं। लोगों ने इसे 'बदले की कार्रवाई' बताया है। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में कंगना ने मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। सरकार पर सवाल उठाए जाने के बाद कंगना शिवसेना के नेताओं के निशाने पर आ गईं। शिवसेना नेता संजय राउत ने अभिनेत्री को मुंबई आने पर देख लेने की धमकी दी। कंगना ने राउत की चुनौती स्वीकार करते हुए कहा कि वह नौ सितंबर को मुंबई पहुंच रही हैं। 

शिवसेना और कंगना के बीच जारी है विवाद
इस बीच, कंगना के मुंबई पहुंचने से पहले बीएमसी ने उनके बंगले पर तोड़फोड़ का नोटिस चस्पा कर दिया। इसके पहले कि कंगना नौ सितंबर को मुंबई पहुंचतीं कि इसके पहले बीएमसी ने उनके दफ्तर का कथित रूप से अवैध हिस्सा तोड़ दिया। मुंबई लौटने के बाद अभिनेत्री ने सीधे तौर पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर हमला बोला। अपने वीडियो संदेश में कंगना ने कहा, 'उद्धव आज मेरा घेरा टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा।'

शरद पवार भी बोले-कार्रवाई उचित नहीं
बीएमसी की इस कार्रवाई से सरकार के सहयोगी दल भी शिवसेना से दूरी बनाते दिखे हैं। बीएमसी की तोड़फोड़ की कार्रवाई को राकांपा नेता शरद पवार ने उचित नहीं ठहराया है। पवार ने कहा कि ऐसा लगता है कि बीएमसी में जल्दबाजी में कार्रवाई की। मुंबई में बहुत सारे ऐसे घर हैं जो नियमों के हिसाब से नहीं बने हैं। कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने भी बीएमसी की इस कार्रवाई पर सवाल उठाए। जबकि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि महाराष्ट्र में इस तरह की भावनाओं की कोई जगह नहीं है। 


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर