कंगना रनौत ही नहीं कपिल शर्मा-शाहरुख खान भी रहे BMC के निशाने पर, गिराए गए कई सितारों के अवैध निर्माण

BMC penalised Celebrities: पहली बार नहीं है जब बीएमसी ने ऐसा कठोर निर्णय लिया है। कंगना रनौत के पहले भी बीएमसी के खिलाफ बोलने के लिए कई सेलिब्रिटीज के साथ ऐसा हो चुका है...

BMC penalised Kapil Sharma Shah Rukh Khan illegal construction Before Kangana Ranaut
कंगना रनौत, कपिल शर्मा और शाहरुख खान। 

मुख्य बातें

  • BMC ने कंगना रनौत के ऑफिस के एक हिस्से के अवैध निर्माण बताकर ध्वस्त कर दिया है।
  • इससे पहले भी बीएमसी के खिलाफ बोलने के लिए कई सेलिब्रिटीज के साथ ऐसा हो चुका है।
  • यह हमेशा एकतरफा रहा है- BMC के खिलाफ बोलने पर कई स्टार्स की बिल्डिंग्स तोड़ी गई हैं। 

कंगना रनौत बनाम शिवसेना वाक युद्ध काफी सुर्खियों में हैं। बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) के अधिकारियों ने अभिनेत्री के पाली हिल स्थित मुंबई ऑफिस के एक हिस्से के अवैध निर्माण बताकर ध्वस्त कर दिया है। यह कार्रवाई तब की गई जब कंगना रनौत हिमाचल प्रदेश से मुंबई आने के लिए रास्‍ते में थीं। कार्रवाई से आहत अदाकारा कंगना रनौत ने भी ट्विटर पर अपना गुस्‍सा जाहिर किया है। उन्‍होंने लिखा, 'मैं अपनी मुंबई में हूं, अपने घर में हूं। मुझपे वार भी हुआ तो पीठ पीछे जब मैं फ्लाइट में थी। सामने नोटिस देने की या वार करने की हिम्मत नहीं है मेरे दुश्मनों में ये जानकर अच्छा लगा। बहुत लोग मुझे पहुंचाई हुई हानि से दुखी और चिंतित हैं। मैं उनके आशीर्वाद और स्नेह की आभारी हूं।'

कंगना रनौत ने ट्वीट में साफ किया है कि शिवसेना की सरकार ने पीठ पीछे उन पर वार किया है जबकि सामने आने की हिम्‍मत उनमें नहीं है। इस कार्रवाई को बदले की भावना बताते हुए हर तरफ निंदा हो रही है। सोशल मीडिया पर उद्धव ठाकरे सरकार का खूब विरोध हो रहा है और कंगना के समर्थन में लोग जुट गए हैं। वैसे ये पहली बार नहीं है जब बीएमसी ने ऐसा कठोर निर्णय लिया है। इससे पहले भी बीएमसी के खिलाफ बोलने के लिए कई सेलिब्रिटीज के साथ ऐसा हो चुका है। यह हमेशा एकतरफा रहा है- BMC के खिलाफ बोलने पर कई स्टार्स की पहले भी बिल्डिंग्स तोड़ी गई हैं। 

4 साल पहले कपिल शर्मा के साथ हुई ऐसी ही घटना
सितंबर 2016 में, कपिल शर्मा ने बीएमसी अधिकारी को रिश्वत देने को लेकर बात की थी। कपिल शर्मा ट्वीट कर लिखा था, 'मैं पिछले 5 सालों हर साल 15 करोड़ रूपए का टैक्ट भुगतान करने वाला नागरिक हूं फिर भी मुझे अपना ऑफिस बनाने के लिए बीएमसी ऑफिस को 5 लाख रुपए रिश्वत देने की आवश्यकता क्यों है?'

कपिल शर्मा ने अपने वर्सोवा स्थित कार्यालय के निर्माण के लिए रिश्वत देने की बात कही थी। इस ट्वीट में कपिल ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को टैग किया था। महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने तुरंत इस पर ध्यान देते हुए सख्त कार्रवाई का वादा किया था। बाद में 4 अगस्त 2016 में वर्सोवा स्थित कपिल शर्मा के बंगले के बगल में हुए अवैध निर्माण को उखाड़ फेंका था। ये कार्रवाई जुलाई में भेजे गए नोटिस का जवाब ना मिलने पर की गई थी। गोरेगांव स्थित डीएलएच एन्क्लेव में बने कपिल के फ्लैट के एक हिस्से को भी अवैध बताया गया था। हालांकि मार्च 2017 में कपिल शर्मा के राहत मिली, जब बॉम्बे हाई कोर्ट ने उनके खिलाफ दायर एफआईआर पर रोक लगाई। 

शाहरुख खान के रैंप को जब गिराया गया
एक आरटीआई ने अचानक खुलासा किया गया कि शाहरुख खान ने मुंबई के बांद्रा में अपने बंगले मन्नत के बाहर एक अवैध रैंप के निर्माण के लिए दंड के रूप में बीएमसी को 2 लाख रुपये के करीब भुगतान किया। शाहरुख खान ने मन्नत के बाहर कंक्रीट रैंप का निर्माण कराया था जिसका उपयोग उनकी वैनिटी वैन की पार्किंग के लिए हो रहा था। साल 2015 में इसे लेकर हंगामा हुआ और यह आरोप लगाया गया था कि सार्वजनिक क्षेत्र पर अतिक्रमण कर उन्होंने रैंप बनवाया है। 6 फरवरी, 2015 में शाहरुख को एक नोटिस और इसकी अवधि समाप्त होने के बाद बीएमसी ने 15 फरवरी को रैंप तोड़ दिया। चीजें खत्म नहीं हुईं। SRK पर 1,93,784 रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था, जिसे उन्हें चुकाना पड़ा। 

मनीष मल्होत्रा भी BMC के निशाने पर
कंगना के ऑफिस पर बुल्डोजर चलाने के एक दिन बाद ही अब बॉलीवुड फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा की संपत्ति भी बीएमसी रडार में आ गई है। अवैध रूप से अपने रेसीडेंस प्रॉपर्टी को कमर्शियल में बदले जाने के लिए नगर निगम द्वारा फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा को नोटिस जारी किया है। नोटिस का जवाब देने के लिए उन्हें सात दिन का समय भी दिया गया है। मुंबई के बांद्रा में पाली हिल में स्थित मनीष के बंगले को लेकर बीएमसी ने बुधवार को आपत्ति जताई है। बीएमसी का कहना है कि उन्होंने अपने बंगले के फर्स्ट फ्लोर पर जो मैनेजमेंट ऑफिस बनाया है वो अन अथोराइज्ड एडिशन है। नोटिस में आरोप है कि अधिकारियों से अनुमति लिए बिना ये कंस्ट्रक्शन किया गया है। एमएमसी अधिनियम की धारा 342 और 345 के तहत उन्हें नोटिस भेजा गया है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर