Lakhimpur Hinsa: आज लखीमपुर में होगा विपक्षियों का जमावड़ा, देशभर में DM कार्यालयों के सामने प्रदर्शन करेंगे किसान

देश
किशोर जोशी
Updated Oct 04, 2021 | 00:19 IST

Lakhimpur Kheri Ki Taza News:उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में रविवार को हुए हिंसक प्रदर्शन में 8 लोगों की मौत हो गई है। इसे लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर है।

Lakhimpur Violence Many opposition leaders to visit Lakhimpur kheri Today, know what CM Yogi said
Lakhimpur Hinsa: आज लखीमपुर में होगा विपक्षियों का जमावड़ा  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • लखीमपुर में हुई हिंसक घटना ने पकड़ा तूल, योगी सरकार और केंद्र सरकार विपक्ष के निशाने पर
  • प्रियंका गांधी सहित कई विपक्षी दलों के नेताओं का लखीमपुर जाने का कार्यक्रम
  • सीएम योगी बोले- लखीमपुर खीरी में घटित हुई घटना अत्यंत दुःखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण

Lakhimpur Hinsa: आज लखीमपुर में होगा विपक्षियों का जमावड़ा, जानिए योगी और DM से लेकर क्या बोले तमाम नेताउत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में रविवार को उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे को लेकर किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में आठ लोगों की मौत हो गई है। इस घटना के बाद लखीमपुर खीरी में हालात तनावपूर्ण हो गए हैं और यहां इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। किसानों ने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे की गाड़ी ने किसानों को कुचला जबकि अजय मिश्रा और उनके बेटे ने सारे आरोपों से इनकार किया है। अजय मिश्रा के बेटे ने कहा है कि घटना के समय वो वहां पर थे ही नहीं, अगर होते तो क्या वह बच पाते?

योगी ने घटना पर जताया दुख

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखीमपुर की घटना पर दुख जताया है। योगी ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। योगी ने कहा, 'जनपद लखीमपुर खीरी में घटित हुई घटना अत्यंत दुःखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। यूपी सरकार इस घटना के कारणों की तह में जाएगी तथा घटना में शामिल तत्वों को बेनकाब करेगी व दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करेगी। मौके पर शासन द्वारा अपर मुख्य सचिव नियुक्ति, कार्मिक एवं कृषि, ए.डी.जी. कानून-व्यवस्था, आयुक्त लखनऊ तथा आई.जी. लखनऊ मौजूद हैं तथा स्थिति को नियंत्रण में रखते हुए घटना के कारणों की गहराई से जांच कर रहे हैं। घटना में लिप्त जो भी जिम्मेदार होगा, सरकार उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही करेगी। क्षेत्र के सभी लोगों से अपील है कि वे किसी के बहकावे में न आएं व मौके पर शान्ति-व्यवस्था कायम रखने में अपना योगदान दें। किसी प्रकार के निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले मौके पर हो रही जांच तथा कार्यवाही का इन्तजार करें।'

आज ये नेता करेंगे लखीमपुर का दौरा

लखीमपुर खीरी की घटना के बाद राजनीति भी तेज हो गई है। किसान नेता राकेश टिकैत सहित कई और किसान नेता भी रात में ही लखीमपुर पहुंच रहे हैं। वहीं कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी आज लखीमपुर पहुंच रही है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि उनकी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को लखीमपुर खीरी जाएगा। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी आज लखीमपुर जाने का ऐलान किया है। इसके अलावा पंजाब के उप मुख्यमंत्री का भी आज लखीमपुर पहुंचने का कार्यक्रम है। 

डीएम और डॉक्टर ने कही ये बात

लखीमपुर की घटना पर ज़िलाधिकारी​ अरविंद चौरसिया ने कहा, 'ये घटना दिन के 3-3:15 बजे की है, रोड के दोनों तरफ लोग खड़े थे। ​विपरीत दिशा से आती हुई तीन गाड़ियों की उनसे दुर्घटना हुई। हम प्राथमिकी दर्ज़ कराने की कार्रवाई कर रहे हैं।'  लखीमपुर खीरी की घटना पर ज़िला अस्पताल के डॉ ललित कुमार ने कहा, 'हमारे पास कुल 3 मरीज़ पहुंचे हैं। 2 मृतक थे और एक का इलाज चल रहा था। उनके सर में बहुत चोटें थीं उनको प्राथमिक चिकित्सा दे दी गई है, उन्हें इलाज के लिए दूसरे अस्पताल भेजा गया है। शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिए।'

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा की सफाई

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ने इस आरोप का खंडन किया कि उनके बेटे आशीष मिश्रा उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई घटना में शामिल थे, जिसमें किसानों की मौत हुई है। टाइम्स नाउ नवभारत के साथ बात करते हुए मिश्रा ने कहा कि किसानों में मौजूद कुछ अराजक तत्वों द्वारा पीट-पीट उनके बेटे के ड्राइवर के अलावा तीन भाजपा कार्यकर्ताओं को मार डाला गया।  उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने पहले भाजपा कार्यकर्ताओं के वाहनों पर पथराव किया, जिससे वाहन चालक ने वाहन पर अपना नियंत्रण खो दिया, जिसके चलते यह दुर्घटना हुई।

आज देश भर में जिलाधिकारियों के कार्यालय के सामने प्रदर्शन करेंगे किसान

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने  लखीमपुर खीरी में कुछ प्रदर्शनकारी किसानों के मारे जाने की घटना के खिलाफ सोमवार को देशभर में जिलाधिकारियों और आयुक्तों के कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करने का आह्वान किया है। इसके साथ ही उन्होंने इस घटना की जांच उत्तर प्रदेश प्रशासन के बजाय उच्चतम न्यायालय के एक सेवारत न्यायाधीश से कराने की मांग की है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर