Lakhimpur में हिंसा के बाद 8 लोगों की मौत, तनावपूर्ण हालात के बाद बंद की गई इंटरनेट सेवा

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों और बीजेपी कार्यकर्ताओं की बीच हुई हिंसक झड़प में कई लोगों के मारे जाने की खबर सामने आ रही है। इस बीच सीएम योगी ने घटना के बाद गोरखपुर का दौरा बीच में छोड़ दिया है।

Lakhimpur Kheri incident CM Yogi cuts short Gorakhpur visit, Ajay Mishra says 2 of our workers and a driver died
Lakhimpur में हिंसा के बाद 8 लोगों की मौत, इंटरनेट सेवा बंद  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • लखीमपुर खीरी की घटना के संदर्भ ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लिया संज्ञान
  • लखीमपुर में हुई हिंसा में मारे गए हैं कई लोग, कई घायल भी
  • विपक्ष ने इस घटना के बाद सरकार पर साधा निशाना

लखीमपुर: लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। एडिशनल एसपी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि लखीमपुर की घटना में 8 लोगों की मौत हो गई है। इस घटना के बाद लखीमपुर खीरी में इंटरनेट बंद कर दिया गया है। कई लोग घायल भी बताए जा रहे हैं। जिसमें कुछ किसान तथा कुछ बीजेपी कार्यकर्ता भी शामिल बताए जा रहे हैं। इस घटना के बाद गोरखपुर दौरे पर गए सीएम योगी आदित्यनाथ अपना दौरा छोड़कर वापस लखनऊ पहुंच रहे हैं। इस बीच यूपी पुलिस के आला अफसर भी लखीमपुर खीरी पहुंचने वाले हैं। 

किसानों का दावा

किसानों का दावा है कि बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे ने किसानों को अपनी कार से रौंद दिया जिसमें उनके पांच किसान मारे गए हैं। इसे लेकर विपक्ष भी सरकार पर लगातार हमले कर रहा है। वहीं केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ने इसे घटना पर दुख जताते हुए कहा, 'मेरे बेटे का कोई इसमें involment नही हैं , मेरा बेटा गाड़ी नहीं चला रहा था , हमारे तीन कार्यकर्ता और एक ड्राइवर की मौत हुई हैं। हम इस पूरे मामले में करवाई की माँग करेंगे , किसानो के नाम पर कुछ अराजक तत्व वहाँ पर मौजूद थे , जो किसान थे ही नही हैं।'

केंद्रीय मंत्री की सफाई

टाइम्स नाउ नवभारत से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ने कहा, 'हमारे तीन कार्यकर्ता मारे गए हैं और हमारे ड्राइवर की हत्या कर दी उन्होंने। गाड़ियों को फूंक दिया। दो गाड़ियों पर तलवार और डंडों से हमला कर कितने लोगों को घायल कर दिया। अगर हमारा बेटा होता तो क्या.... और जहां कार्यक्रम हो रहा था वो ओपन में हो रहा था जहां हजारों लोग होते हैं। उसमें पुलिस और प्रशासन भी होता है 11 से पांच बजे तक चला था कार्यक्रम उसके फोटो और वीडियो भी होते हैं। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई है। किसानों के बीच में कुछ अराजक तत्वों ने साजिश के तहत हिंसा को अंजाम दिया है। दूसरे जिले के रहने वाले लोग भी मरे हैं।'

घटना के बाद क्षेत्र में तनाव अभी भी बना हुआ है, जबकि विपक्षी नेता लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत वहां जा रहे हैं और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सोमवार सुबह वहां पहुंचेंगी। किसी भी तरह की स्थिति उत्पन्न न हो, इसके लिए इलाके में अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है। एडीजी-कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार को स्थिति का जायजा लेने के लिए लखीमपुर खीरी भेजा गया है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर